Shocking: कहानी दिल दहला देने वाली उस लड़की की, जो मात्र पांच साल में बन गई मां

0
121
Spread the love

 पिछले कुछ सालों में साइंस ने जो प्रगति की है, उसके बाद कहा जाने लगा कि अब कुछ भी असंभव नहीं है। लेकिन कुदरत के सामने साइंस भी कई बार बेबश नजर आता है…दरअसल कुछ चीजें ऐसी हैं, साइंस की पहुंच से बहुत दूर हैं। कुछ ऐसा ही है ये मामला। वैसे शायद आपने सुना हो या कहीं पढ़ा हो कि हाल ही ब्रिटेन में हाई स्कूल में पढऩे वाली एक लड़की 12 साल की उम्र में मां बनी। चूंकि यह एक ब्रिटेन का मामला है, जिसे ब्रिटेन की सबसे कम उम्र की मां का दर्जा मिला है, लेकिन बात जब विश्वस्तर की हो, तो यह खिताब पेरू की लीना मदीना को जाता है, जो मात्र पांच साल सात माह की उम्र में मां बन गई थी। हम आपको बता दें कि यह घटना चिकित्सा विज्ञान के लिए आज तक भी एक अबूझ पहेली बना हुआ है कि आखिर कैसे इतनी कम उम्र की बच्ची गर्भवती हुई और एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया। जी हां, यह केस चिकित्सा विज्ञान के लिए एक अबूझ पहेली बनकर रह गया, जो अपने तमाम तर्कों के बाबजूद भी यह नहीं बता पाए कि आखिर कैसे 5 साल की एक बच्ची मां बन गई।

इसे भी पढ़ें : – बुरहानपुर आइसना राष्ट्रीय पत्रकार संगठन की वर्ष 2017 कार्यकारिणी का गठन

इसे भी पढ़ें : – धोखाधड़ी के आरोप में साध्वी गिरफ्तार, 1.25 करोड़ों की नगदी और सोना व महंगी विदेशी शराब बरामद

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, लीना मदीना का जन्म पेरू के तिक्रापो में 27 सितम्बर 1933 को एक सुनार, टिबुरेलो मदीना और विक्टोरिया लोसिया के यहां हुआ था। लीना जब मात्र पांच साल की थी, तब उसके पेट का आकार बढऩे लगा, जिससे उसके माता-पिता चिंतित हो गए। चुकी तिक्रापो एक ग्रामीण इलाका था, इसलिए वो उसे उस समय पर स्थानीय मान्यताओं के अनुसार, एक स्थानीय ओझा के पास परामर्श लेने के लिए ले गए। ओझा ने कई झाड़-फूंक और अनुष्ठान किए, पर कोई फायदा नहीं हुआ। पेट का आकार निरंतर बढ़ता रहा।

इसके बाद बच्ची के लाचार माता-पिता उसे किसी चिकित्सक को दिखाने पास के पिस्को शहर के एक अस्पताल ले गए। शुरू में सभी ने यही सोचा कि उसके पेट में कोई ऐसी बीमारी है, जिसके चलते उसका पेज बढ़ रहा है, लेकिन डॉक्टर उसके परीक्षण के बाद इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि वो सात माह की गर्भवती थी। डॉ. जेरार्दो लोजादा लीना की प्रेग्रेंसी की पुष्टि के लिए उसे अन्य विशेषज्ञों को दिखाने ले गए, वहां पर भी उसके गर्भवती होने की पुष्टि हुई।

पत्रकारों की मृत्यु को जनसम्पर्क विभाग ने ताक में रखा संवेदनहीनता की हद तोड़ दी
धोखाधड़ी के आरोप में साध्वी गिरफ्तार, 1.25 करोड़ों की नगदी और सोना व महंगी विदेशी शराब बरामद

आखिरकार 14 मई 1939 को मदीना ने सीजेरियन(शल्यक्रिया) के द्वारा एक लड़के को जन्म दिया, क्योंकि सामान्य प्रसूति उसकी कोख (श्रोणि) के छोटे आकार के कारण संभव नहीं थी। शल्यक्रिया डॉ. लोजादा और डॉ. बुसालिऊ द्वारा की गई थी। खबरों की मानें, तो लीना के प्रेग्रेंट होने के पीछे उसके पिता पर उंगली उठाई गईं। उसके पिता को अरेस्ट भी कर लिया गया, लेकिन पर्याप्त सबूत न होने की वजह से लीना का पिता बरी हो गया। लीना ने कभी इस बात का खुलासा नहीं किया कि उसके बेटे का बाप कौन है। बताया जाता है कि लीना का बेटा 10 साल तक अपनी मां को बहन समझता था, लेकिन जब वह समझदार हुआ, तो उसे पता चला कि वह जिसे अपनी बहन समझता है, वही उसकी मां है। लीना का बेटा अब इस दुनिया में नहीं है। एक गंभीर बीमारी के चलते 40 साल की उम्र में उसकी मौत हो गई थी।

कोई जवाब दें