IAS ग़िरफ़्तार : वाह रे टॉपर, एक लाख में बेच दिया ज़मीर

0
1340
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

ओडिशा में सतर्कता विभाग ने विजय केतन उपाध्याय को एक लाख रुपए घूस लेते हुए ग़िरफ्तार कर लिया. 2009 बैच के ओडिशा कैडर के अधिकारी विजय केतन उपाध्याय को भुवनेश्वर से गिरफ्तार किया गया.

सतर्कता विभाग का कहना है कि उन्हे उस समय ग़िरफ़्तार किया गया जब वे एक फार्म हाउस के मालिक से घूस ले रहे थे. ख़बरों के अनुसार 2008 के सिविल सेवा परीक्षा में उपाध्याय ने पांचवीं रैंक हासिल की थी.

इसे भी पढ़ें :- कमलनाथ के युवा मंत्री जीतू पटवारी ने युवा कांग्रेस अध्यक्ष को लात जूते ठोक कर बाहर निकला, देखें वीडियो

इसे भी पढ़ें :- पशुधन बीमा योजना प्रदेश के प्रत्येक जिले में लागू पशुपालक अपने दुधारु पशुओं का बीमा करा सकेंगे, जाने पूरी योजना 

अधिकारियों ने बताया कि सूचना के आधार पर उपाध्याय के बालासोर और भुवनेश्वर स्थित आवास पर छापेमारी की गई थी. उपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद राज्य सरकार ने उन्हें निलंबित कर दिया है. उपाध्याय फ़िहलाल हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर हैं. उपाध्याय की गिरफ्तारी के बाद सतर्कता विभाग के अधिकारियों ने बताया, ‘पिछले कुछ सप्ताह से ऐसी सूचनाएं मिल रही थीं कि हॉर्टिकल्चर विभाग के डायरेक्टर घूस ले रहे हैं. इसी के बाद हमने उनपर नजर रखनी शुरू कर दी और इसी कड़ी में यह कार्रवाई की गई है.’

इसे भी पढ़ें :- शिवराज सरकार का घोटाला : भोपाल को- ऑपरेटिव बैंक के 111 करोड़ के घोटाले में एमडी विश्वकर्मा, मैनेजर अनिल भार्गव सुभाष शर्मा गिरफ्तार

इसे भी पढ़ें :- मप्र पुलिस भर्ती परीक्षा: आरक्षक 9000 पद, सब इंस्पेक्टर 200 पद

ओडिशा में पिछले 9 साल में सतर्कता विभाग ने 9 आईएएस अधिकारियों के खिलाफ 11 मामले दर्ज किए हैं. वहीं 227 केस ओएएस अधिकारियों के खिलाफ हैं. ओडिशा में विपक्ष सरकार पर आरोप लगा रहा है कि राज्य में पड़े अफ़सरों पर कार्रवाई नहीं की जाती है

इसे भी पढ़ें :- भू माफिया अशोक गोयल का श्यामला हिल्स क्षेत्र में अवैध रूप से बनाये गये आफिस पर चला बुलडोजर 

इसे भी पढ़ें :- यहां होता है देह व्यापार, अड्डों पर दबिश, 4 नाबालिग सहित 12 लड़किया हिरासत में

कोई जवाब दें