जब फिल्म के बदले निर्माता ने की साथ सोने की मांग, एक्ट्रेस बोली- आपके साथ सो तो जाऊं..

0
629
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

बॉलीवुड फिल्मों ‛वेडिंग एनिवर्सरी’ और ‛बुधिया सिंह: बोर्न टू रन’ जैसी फिल्मों में नजर आ चुकी मराठी एक्ट्रेस श्रुति मराठे इन दिनों काफी सुर्खियों में है। हाल ही में उन्होंने कास्टिंग काउच को लेकर इंस्टाग्राम पर एक लंबा-चौड़ा पोस्ट लिखा था, जो एक बार फिर वायरल हो रहा है और लोग उनकी तारीफ करते नहीं थकते।

गौरतलब है कि बीते दिनों बॉलीवुड इंडस्ट्री में ‛मीटू मूवमेंट’ ने भूचाल ला दिया था। इस दौरान कास्टिंग काउच और हरैसमेंट के अनगिनत मामले सामने आए। अब एक बार फिर श्रुति ने अपने साथ बीती एक ऐसी ही घटना का खुलासा करके सबको सकते में डाल दिया।

Third party image reference

दरअसल, हाल ही में श्रुति ने ‘ह्यूमन ऑफ बॉम्बे’ नाम के एक ऑफीशियल इंस्टा पेज पर ऑडिशन के दौरान प्रोड्यूसर द्वारा की गई हरकत का कच्चा चिट्ठा खोलकर रख दिया। हालांकि उन्होंने न तो उन्होंने उस फिल्म का नाम बताया, जिसके लिए वह ऑडिशन देने गई और न ही उस व्यक्ति के नाम का उल्लेख किया, जो श्रुति का ऑडिशन ले रहा था।

Third party image reference

श्रुति ने लिखा कि उनके ऑडिशन की शुरुआत एकदम साधारण बातों से शुरू हुई। लेकिन जल्द ही उनसे कुछ अलग तरह के सवाल पूछे जाने लगे। इस दौरान उन्हें ‛समझौता’ और ‛वन नाइट स्टैंड’ जैसे शब्दों के जरिए दबाया जा रहा था।

Third party image reference

लेकिन श्रुति ने बताया कि उसे यह सब कुछ समझते देर नहीं लगी। तो उन्होंने तुरंत प्रोड्यूसर को करारा जवाब देते हुए कहा, ‘अगर आप चाहते हैं, मैं आपके साथ सो जाऊं? तो जिसे आप हीरो बना रहे हैं, उसके साथ किसे सुलाने वाले हैं।’ श्रुति ने लिखा कि यह सब कुछ सुनते ही प्रोड्यूसर के चेहरे से हवाइयां उड़ने लगी।

Third party image reference

श्रुति ने दूसरी एक्ट्रेसस को सलाह देते हुए कहा कि ऐसे प्रोजेक्ट्स को तुरंत छोड़ दें क्योंकि हम चुप रहकर अपना ही नुकसान करते हैं। वैसे, मेरे विचार से यदि किसी भी महिला के साथ कहीं भी कुछ गलत होता है या फिर गलत किए जाने की कोशिश होती है तो उसी वक़्त उस महिला को इसका करारा जवाब देना चाहिए ताकि ऐसा व्यक्ति किसी दूसरी लड़की से भी ऐसी हरकत करने की कोशिश न कर सके।

Third party image reference

क्योंकि यदि वह ऐसा नहीं करती है तो उस व्यक्ति की हिम्मत बढ़ जाती है, जिस कारण वह औरों को भी अपना शिकार बना सकता है। इसलिए मेरा तो यही कहना है कि कास्टिंग काउच या हरेशमेंट की शिकार किसी भी एक्ट्रेस को ‛मीटू’ जैसे अभियान का इंतजार नहीं करना चाहिए। तो दोस्तो, आपकी इस पर क्या सोच है? कमेंट करके अपने विचार जरूर भेजें।

कोई जवाब दें