नितिन गडकरी बनें उप प्रधानमंत्री, शिवराज बनें भाजपा अध्यक्ष

0
682
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

बीजेपी में उठी गडकरी को डिप्टी पीएम और योगी को हटाकर राजनाथ को सीएम बनाने की मांग

नई दिल्ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने जिस तरह से पिछले कुछ समय में अपनी ही पार्टी और सरकार को लेकर बयान दिया था, उसके बाद भाजपा के वरिष्ठ नेता ने गडकरी को लेकर बड़ा बयान दिया है। भाजपा नेता संघप्रिय गौतम ने कहा कि नितिन गडकरी को उप प्रधानमंत्री बनाया जाना चाहिए।

संघप्रिय गौतम ने कहा कि गृहमंत्री राजनाथ सिंह को उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री बनाया जाना चाहिए। वरिष्ठ भाजपा नेता यही नहीं रुके उन्होंने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को लेकर भी बड़ा बयान दिया है। आदित्यनाथ को हटाया जाए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को लेकर संघप्रिय गौतम ने कहा कि भाजपा अध्यक्ष अमित शाह को राज्यसभा में और मेहनत करनी चाहिए और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पार्टी की कमान सौंप देनी चाहिए।

इसे भी पढ़ें :- योगी सरकार के 3 मंत्रियों के निजी सचिवों की हुई गिरफ्तारी, स्टिंग में घूस मांगते आए थे नजर

इसे भी पढ़ें :- खनन घोटाले में CBI ने IAS बी चंद्रकला सहित 11 पर दर्ज किए हैं केस, जानें क्या है पूरा मामला

संघप्रिय गौतम का जो पत्र मीडिया में सामने आया है उसमे कहा गया है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को वापस धार्मिक कामकाज करने के लिए वापस भेज देना चाहिए। गौतम ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के अबतक के सबसे बड़े नेता हैं। हालांकि उन्होंने 2014 क तरह एक बार फिर से 2019 में मोदी लहर को दोहराए जाने पर शंका जाहिर की है। दोबारा नहीं चलेगी मोदी लहर संघप्रिय ने कहा कि मोदी मंत्र एक बार फिर से 2019 के लोकसभा चुनाव में दोहराया जा सकता है यह संभव नहीं लगता है।

इसे भी पढ़ें :- जिस महिला पत्रकार ने लिया मोदी का महा-इंटरव्यू, आखिर वो है कौन?

इसे भी पढ़ें :- सब इंजीनियरों को भारी पड़ी लापरवाही वेतन कटेंगे, एससीएन मिलेंगे, झाड़पा सचिव होंगे निलंबित

खुद ही पार्टी के कार्यकर्ता आपस में बात करते हैं और इस बात को शांति में स्वीकार करते हैं। मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना करते हुए संघप्रिय ने कहा कि स्थिति इतनी खराब है कि अगर मौजूदा समय में फिर से चुनाव हो जाए तो भाजपा जड़ से खत्म हो जाएगी और कुछ ही राज्यों में पार्टी को जीत मिल पाएगी। सरकार के हस्तक्षेप की आलोचना की योजना आयोग का नाम बदलने पर संघप्रिय ने मोदी सरकार पर निशाना साधा।

जिस तरह से आरबीआई और सीबीआई के कामकाज में हस्तक्षेप किया वह सही नहीं है। गोवा, मणिपुर में किसी भी कीमत पर सरकार बनाने की भाजपा की कोशिशों की भी संघप्रिय ने आलोचना की। उन्होंने कहा कि यह सही नहीं है। आपको बता दें कि संघप्रिय अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय मंत्री थे।

कोई जवाब दें