Accidental PM का प्रोमो रोकने के लिए कोर्ट में लगाई गई याचिका

0
21
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

अनुपम खेर की अपकमिंग फिल्म द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर लगातार विवादों में बनी हुई है. कांग्रेस की महाराष्ट्र इकाई द्वारा आपत्त‍ि जताए जाने के बाद इस फिल्म के प्रोमो को रोकने के लिए दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका लगाई गई है.

याचिका में कहा गया है के प्रधानमंत्री का पद संवैधानिक पद है. पूर्व प्रधानमंत्री की इमेज को खराब करने के लिए दिखाए जा रहे प्रोमो पर तुरंत रोक लगाई जाए, इससे पूर्व प्रधानमंत्री के साथ-साथ देश की छवि भी खराब होगी. याचिका में आगे लिखा गया है ट्रेलर में जो कुछ दिखाया जा रहा है वह भ्रमित करने वाला है. यह संजय बारू की किताब से अलग हटकर है. यह पूरी तरह से गलत और फर्जी है.

 

इसे भी पढ़ें :- पीएनबी घोटाला : ईडी ने चोकसी की थाईलैंड फैक्टरी को कुर्क किया, 1314 करोड़ रुपये है कीमत

याचिकाकर्ताओं का कहना है कि ट्रेलर में न सिर्फ सिनेमेटोग्राफी एक्ट के रूल 38 का उल्लंघन किया गया है, बल्कि सोनिया गांधी, राहुल गांधी, मनमोहन सिंह जो जीवित पात्र हैं, उनसे बिना इजाजत लिए यह फिल्म बनाई गई है. याचिका में यू-ट्यूब, गूगल, केंद्र सरकार और सीबीएफसी को पार्टी बनाया गया है. इस याचिका पर दिल्ली हाई कोर्ट में सोमवार को सुनवाई होगी.

 

इसे भी पढ़ें :- खनन घोटाले में चर्चित IAS अधिकारी बी.चंद्रकला के घर सीबीआई की छापेमारी

Accidental Prime Minister के ट्रेलर को मिले 5 करोड़ से ज्यादा व्यू

फिल्म पर हो रहे विवाद को लेकर अनुपम खेर ने कहा, “यह कहना हास्यास्पद है कि लोगों ने संजय बारू की किताब के कारण एक राजनीतिक दल को चुना और सरकार में बदलाव हुआ. इसी तरह यह कहना भी बड़ी बचकानी बात है कि यह फिल्म इस साल चुनाव के नतीजे बदल देगी.” बता दें कि फिल्म का निर्देशन विजय रत्नाकर गुट्टे ने किया है. इसमें अक्षय खन्ना संजय बारू के रोल में हैं. इसके अलावा फिल्म में आहाना कुमरा और अर्जुन माथुर दिखाई देंगे.

कोई जवाब दें