छिन्दवाडा : नेशनल लोक अदालत में विद्युत उपभोक्ताओं से प्रकरणों में छूट का प्रावधान

0
218
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ, जिला छिंदवाडा // राज कुमार सक्ससेना : 92850 74034 

छिन्दवाडा. जिला न्यायालय परिसर छिन्दवाडा और तहसील मुख्यालयों के सिविल न्यायालयों में विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 135, 138 एवं 126 के अंतर्गत बिजली चोरी, अनाधिकृत विद्युत का उपयोग एवं भार वृद्धि के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये आगामी 8 दिसंबर को नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया है।

इस नेशनल लोक अदालत में सभी घरेलू और कृषि, 5 किलोवाट भार तक के गैर घरेलू और 10 अश्व शक्ति भार तक के औद्योगिक श्रेणी के उपयोगकर्ता/उपभोक्ताओं के लिये छूट के प्रावधान किये गये है । म.प्र.पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी लिमि. के कार्यपालन अभियंता ने बताया कि विशेष न्यायालय में दर्ज प्रकरणों में आकलित सिविल दायित्व की राशि में 25 प्रतिशत और ब्याज की राशि में शत-प्रतिशत तथा प्री-लिटिगेशन में आकलित सिविल दायित्व की राशि में 40 प्रतिशत और ब्याज की राशि में शत-प्रतिशत छूट प्रदान की जायेगी ।

आवेदक को निर्धारित छूट के बाद शेष देय आकलित सिविल दायित्व की राशि का एकमुश्त भुगतान करने के साथ ही अन्य शर्तो का पालन करना होगा । यह छूट मात्र नेशनल लोक अदालत की तिथि 8 दिसंबर तक समझौता करने के लिये लागू रहेगी तथा 8 दिसंबर के बाद कंपनी द्वारा छूट प्रदान नहीं की जायेगी और संबंधित उपभोक्ता/उपयोगकर्ता को 16 प्रतिशत चक्रवृध्दि ब्याज की दर से भुगतान करना होगा ।

उन्होंने उपभोक्ताओं/उपयोगकर्ताओं से अपील की है कि कंपनी और विशेष न्यायालय द्वारा की जाने वाली कार्यवाही से बचने के लिये कंपनी द्वारा दिये गये अंतिम अवसर का लाभ लेते हुये 8 दिसंबर के पूर्व वितरण केन्द्र कार्यालय में एकमुश्त राशि का भुगतान कर इस लोक अदालत में प्रकरण का निराकरण कराये और सहयोग प्रदान करें ।

कोई जवाब दें