अंग्रेजी शराब ठेकेदार द्वारा एमआरपी से 10 रूपये अधिक पर बेची जा रही हैं शराब, आबकारी विभाग बना मुकदर्शक

0
557
Spread the love

TOC NEWS @ http://tocnews.org/

ब्यूरो चीफ बड़वाह, जिला खरगौन // लोकेश कोचले  : 77728 28778 

मामले का वीडियों प्रमाण में भेजा विभाग के आलाधिकारी को, नापतौल विभाग को भी की शिकायत

बड़वाह । नर्मदा रोड़ हाईवे क्रमांक २७ पर स्थित अंग्रेजी शराब दुकान पर आये दिन ग्राहकों से अधिक राशि लेने को लेकर हो रहे विवाद तथा इस शराब दुकान हाईवे पर होने से यहां आने वाले ग्राहकों के वाहन रोड़ पर ही पार्क किये जाने से जहां मार्ग अवरूद्ध हो जाता हैं  वहीं कई बार दुर्घटना भी हुई हैं ।

मिली जानकारी के मुताबिक अंग्रेजी शराब दुकान पर ग्राहक द्वारा किसी भी ब्रांड की शराब खरीदी जाती हैं तो ठेकेदार के निर्देशानुसार यहां कार्य कर रहे सेल्समेन के द्वारा शराब की बोतल पर अंकित एमआरपी से दस रूपये अधिक लिये जाते है जो कि उपभोक्ता के साथ खुली लुट के साथ ही गैर कानूनी है । इस संबंध में गत दिवस जब लगातार मिल रही शिकायत के पश्चात मामले की पुष्टि करके प्रेस क्लब के कुछ पत्रकार शराब दुकान पर पहुंचे और वहां से एक क्वार्टर अंग्रेजी शराब का रायल चैलेज का खरीदा जिस पर आबकारी विभाग के द्वारा मूल्य १६५ रूपये से १९० रूपये अंकित था ।

सेल्समेन के द्वारा इस क्वार्टर के २०० रूपये क्यों ले रहे है इस पर उस वक्त पदस्थ दुकान पर कार्यकर रहे सेल्समेन ने कहा हमारे सेठ का आदेश है । दो सौ रूपये ही लगेंगे आपको लेना है तो ले नही तो रहने दे तब पत्रकार ने कहा आप बिल दे दिजीए उसने कहा किसी भी शराब दुकान पर बिल नही दिया जाता है ।

उल्लेखनीय है कि इस सारे घटनाक्रम का एक वीडियो भी बनाया गया हैं तथा वीडियो रिकार्डिंग को आबकारी विभाग के जिले के वरिष्ठ अधिकारी श्री अग्रिहोत्री तथा नगर के उपनिरीक्षक मुकेश गौर को उनके वाट़्सअप पर भेजा गया हैं परंतु समाचार लिखे जाने तक शराब ठेकेदार के विरूद्ध किसी भी प्रकार की कोई कार्यवाही नही की गई है । उल्लेखनीय है कि उपभोक्ता के साथ की जा रही इस लुट की शिकायत नापतौल विभाग को भी की गई हैं ।

सूत्रों का यह कहना है कि उक्त शराब के ठेकेदार द्वारा ग्राहको से अधिक राशि तो ली ही जा रही है साथ ही नगर के होटलो और ग्रामीण क्षेत्र में भी मोटर साइकलो से धड़ल्ले से अवैध शराब भी सप्लाई की जा रही हैं । यदि आबकारी विभाग द्वारा उक्त मामले में ठोस कार्यवाही नही की गई तो वर्तमान मे चल रहे निर्वाचन कार्य में भी यह अवैध शराब जमकर वितरित की जाने की आशंका भी बनी हुई हैं ।

कोई जवाब दें