वरिष्ठ पत्रकार राज नारायण मिश्रा को घर में घेरकर पटवारी योगेश्वर अवस्थी ने आठ गुंडों के साथ जान से मारने का किया प्रयास, समान थाना रीवा में की गई शिकायत

0
139
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.com

रीवा। शहर की लचर कानून व्यवस्था के चलते एक शासकीय कर्मचारी का इतना अधिक मनोबल तेज है कि  आपराधिक गतिविधियों को संचालित करने के साथ ही रीवा के चर्चित वरिष्ठ पत्रकार राज नारायण मिश्रा के घर को घेरकर जान से मारने की लगातार कोशिश की पर राज नारायण सुरक्षित बच गए,, उक्त घटना के बाद समान थाना में शिकायत पत्र दिया गया है 

पर पुलिस की नाकामी के चलते अपराधी भागने में सफल रहे,, घटना के संबंध में बताया गया है कि पटवारी योगेश्वर अवस्थी रीवा का सबसे घूसखोर पटवारी के रूप में चर्चित नाम है जो अबैध कमाई से राजनीतिक लोगों को खरीद कर बीस वर्ष से नगर निगम क्षेत्र में पदस्थ जहाँ बेशकीमती जमीनो की खरीद फरोख्त में मनमानी धन कमा रहा है,;

परंतु वरिष्ठ पत्रकार राज नारायण मिश्रा ने पटवारी व इसके ससुर  सूर्यकांत मिश्रा की संपत्ति पोल खोल कर  आर्थिक अपराध शाखा व लोकायुक्त में प्रकरण दर्ज कराते हुए योगेश्वर अवस्थी के घर का चार बार अंदर बाहर  नाप कराने के साथ ही खर्च राशि का मूल्यांकन कराया था,, इतना ही नहीं हर प्रॉपर्टी अबैध धन की जांच होने से इतना मदमस्त है कि पूरे मुहल्ले में शांति भंग कर आये दिन गाली गलौज करना व धमकी देता रहता है,,,

गत 5 अगस्त 2018 को दोपहर ढाई बजे के लगभग मौका ताक पटवारी योगेश्वर अवस्थी ने तलवार , कट्टा, , रिवाल्वर, बका,ङंङा, राङ लेकर घर में घुसकर गाली गलौज करते हुए जान से मारने की लगातार कोशिश किया है,, इस घटना में योगेश्वर अवस्थी पिता केशव प्रसाद अवस्थी, आयुष अवस्थी उर्फ बीरू पिता योगेश्वर अवस्थी, अशोक अवस्थी उर्फ गुङ्ङू पिता समलिया अवस्थी,,

पंकज मिश्रा पिता सूर्यकांत मिश्रा,, देवेन्द्र मिश्रा उर्फ़ तिब्बू व अन्य तीन चार लङके पटवारी के साथ शामिल रहे,,, ज्ञात हो पटवारी योगेश्वर अवस्थी वर्तमान समय में अनंत पुर हल्का रीवा में पदस्थ हैं,,, रीवा की पुलिस इतनी अकर्मण्यता से घिरी है की 48 घंटे बाद भी आरोपियों को गिरफ्तार नहीं करने की जरूरत समझी ,,

कोई जवाब दें