पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने ली समस्त राजपत्रित अधिकारियो की बैठक, दिये आवश्यक दिशा निर्देश

0
65
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.com

आगामी विधान सभा चुनाव 2018 को दृष्टिगत रखते हुये आज पुलिस अधीक्षक जबलपुर ने  ली समस्त राजपत्रित अधिकारियो की बैठक, दिये आवश्यक दिशा निर्देश

आगामी विधानसभा चुनाव को दृष्टिगत रखते हुये आज दिनॉक 8-8-18 को  पुलिस अधीक्षक कार्यालय में पुलिस अधीक्षक जबलपुर श्री अमित सिंह (भा.पु.से) द्वारा जिले के समस्त राजपत्रित अधिकारियों की बैठक ली गयी। जिस बैठक मे आगामी चुनाव को ध्यान मे रखते हुये आवश्यक तैयारी व दिशा निर्देश दिये गये।

समस्त राजपत्रित अधिकारियों, थाना प्रभारियां को निर्देशित किया कि संबंधित कार्यपालिक मजिस्ट्रेट से सामंजस्य स्थापित कर अपने-अपने थाना क्षेत्र मे पडने वाले सभी संवेदनशील व अति संवेदनशील बूथें को चिन्हित कर लिये जाये एंव उनकी  संवेदन शीलता के कारणों के विषय मे विस्तृत जानकारी एकत्रित कर ली जाये।  लगातार भ्रमण करते हुये अधिक से अधिक लोगो से संवाद स्थापित किया जाये, व एैसे सभी व्यक्ति व कारण जो चुनाव पर विपरीत प्रभाव डाल सकते है उनकी जानकारी एकत्रित कर वरिष्ठ अधिकारिये को अवगत कराया जाये। चुनाव के दौरान व्हीआईपी/व्व्हीव्हीआईपी का लगातार आगमन होगा आम सभाये करायी जायेगी, इस विषय मे समस्त जानकारी जैसे कि उनके क्षेत्रों में पूर्व मे यदि कहीं हैलीपैंड रहे हों, आम सभा के स्थल, इत्यादि चिन्हित कर लिये जायें और वहॉ पर आवश्यक व्यवस्था हेतु  तैयारी कर ली जाये ।

विधान सभा चुनाव को ध्यान मे रखते हुये पुलिस को आवश्यकता पडने वाले संसधानों जैसे कि वाहनों, बल, रॉईट ड्रिल, बाहर से आने वाले पैरामिलेट्री फोर्स हेतु रूकने की व्यवस्था, उनके लिये संसाधनो की व्यवस्था, करने हेतु बजट की तैयारी कर ली जाये,  व इसका विस्तृत प्रांकलन तैयार कर कार्यालय को अवगत कराया जाये।

चुनाव की तैयारियों को ध्यान मे रखते हुये ऐसे सभी व्यक्ति जो चुनाव पर विपरीत प्रभाव डाल सकते है व अपराधिक प्रवृत्ति के है उनके लंबित स्थाई गिरफ्तारी वांरट की तामीली हेतु विशेष प्रयास किये जाये, व अधिक से अधिक संख्या मे स्थाई/गिरिफ्तारी वारंट तामील किये जाये, इस हेतु स्थाई वारंटो को तामील करने पर, 1 हजार से 5 हजार रूपये तक ईनाम की भी बात पुलिस अधीक्षक जबलपुर द्वारा  रखी गयी है।

स्थाई/गिरफ्तारी वांरटो को अधिक से अधिक संख्या मे तामील करने के लिये क्राईम ब्रांच को भी पुलिस अधीक्षक द्वारा निर्देशित किया गया है।  स्थाई वारंटियों को तामील करने के लिये यह भी निर्देशित किया गया है, कि आवेदक पक्ष से भी संपर्क स्थापित कर इनके विषय मे जानकारी एकत्रित की जावे।  इसके अलावा चुनाव पर प्रतिकूल प्रभाव डालने वाले व्यक्तियों पर नियंत्रण रखने के लिये 107/116 जाफो, के तहत की गयी कार्यवाही को अंतिम बाउंड ओवर तक पहुंचाया जाये , ताकि उनके द्वारा शर्ता का उल्लंघन करने पर अंग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा सके।

इसके अलावा पिछले चुनाव के रिकार्डो का अवलोकन करने पर ऐैसे व्यक्ति जो इस चुनाव मे विपरीत प्रभाव डाल सकते है या चुनावी प्रक्रिया को बाधित कर सकते है, उनको रेड, येलो, व ग्रीन कार्ड दिये जाने की बात कही गयी है, एैसे सभी व्यक्तियो की सूची तैयार करने हेतु सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है व साथ ही एैसे सभी असामाजिक तत्वों के विरूद्ध  आवश्यकतानुसार जिला बदर, एनएसए, व अन्य सख्त दण्डात्मक कार्यवाही किये जाने हेतु भी निर्देशित किया गया है।

उपरोक्त  निर्देशो का मूल उद्देश्य समस्त विधानसभा चुनावी प्रक्रिया को बिना किसी प्रभाव के निश्पक्ष, साफ-सुथरे वातावरण में सम्पन्न कराना है।

 

कोई जवाब दें