कलेक्टर ने सिहोरा सिविल अस्पताल का आकस्मिक निरीक्षण किया व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश

0
223
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जबलपुर, 12 जुलाई, 2018. कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने आज सिहोरा के सिविल अस्पताल का आकस्मिकनिरीक्षण कर यहां भी व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने के निर्देश अधिकारियों को दिये हैं ।  श्रीमती भारद्वाजने निरीक्षण के दौरान अस्पताल के विभिन्न वार्डों का भ्रमण किया तथा आपरेशन थियेटर, पैथालॉजी लैब, एक्स-रे रूम सहित अस्पताल की ओ.पी.डी. का भी मुआयना किया ।  वे भर्ती मरीजों से भी मिली तथाउनसे अस्पताल में मिल रहे उपचार और दवाइयों के बारे में जानकारी ली । 

कलेक्टर ने सिविल अस्पताल के निरीक्षण के दौरान अस्पताल परिसर तथा वार्डों की साफ-सफाई व्यवस्था पर असंतोष व्यक्त करते हुए अधिकारियों को इस ओर अधिक ध्यान देने की हिदायत दी। श्रीमती भारद्वाज ने अस्पताल से चिकित्सकों के अनुपस्थित रहने की शिकायतों को भी गंभीरता सेलिया । उन्होंने अस्पताल के प्रभारी डॉक्टर प्रवीण चौबे की अनुपस्थिति पर गहरी नाराजी व्यक्त करते हुएहाजिरी रजिस्टर से चिकित्सकों एवं स्टॉफ की उपस्थिति का मिलान किया तथा विस्तृत जांच के लिएहाजिरी रजिस्टर को जप्त करने के निर्देश दिये ।

श्रीमती भारद्वाज ने इस मौके पर अस्पताल के नर्सिंग स्टॉफ एवं मरीजों के परिजनों से भीचर्चा की ।  कलेक्टर को बताया गया कि अस्पताल के प्रभारी डॉ. प्रवीण चौबे अक्सर ड¬ूटी सेअनुपस्थित रहते हैं ।  वे जबलपुर से आना-जाना करते हैं और जबलपुर में प्राइवेट प्रेक्टिस भी करते हैं । डॉक्टर चौबे एवं अस्पताल के शिशु रोग विशेषज्ञ डॉ. जी.डी. पहारिया ने आपस में एक-एक दिन की ड¬ूटीबांध ली है । एक दिन डॉ. चौबे अस्पताल आते हैं तो दूसरे दिन डॉ. पहारिया दोनों कुल मिलाकर माह मेंपन्द्रह दिन ही ड¬ूटी पर रहते हैं ।

कलेक्टर को अस्पताल के नर्सिंग स्टॉफ ने बताया कि रात्रि कालीनड¬ूटी पर किसी भी चिकित्सक के नहीं रहने पर उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है तथाइमर्जेंसी वाले प्रकरणों को जबलपुर रेफर करना पड़ता है ।  कलेक्टर ने अस्पताल के भ्रमण के दौरान प्रसूति वार्ड में साफ सफाई के अभाव पर भी गहरीनाराजी व्यक्त की ।उन्होंने प्रसूति वार्ड में पलंग पर बिछे गंदे चादरों को देखकर चिकित्सकों से ही प्रश्नकिया कि क्या वे इन पर बैठना पसंद करेंगे । श्रीमती भारद्वाज ने कहा कि ऐसी ही स्थिति बनी रही तोप्रसूता और नवजात शिशु को संक्रमरण होने का खतरा बना रहेगा ।

 कलेक्टर को इस दौरान बताया गया कि सफाई ठेकेदार द्वारा भुगतान नहीं किये जाने के कारणपिछले कई दिनों से अस्पताल में सफाई कर्मी नहीं आ रहे हैं । श्रीमती भारद्वाज ने अस्पताल की साफ-सफाई के लिए रोगी कल्याण समिति से आवश्यकतानुसार सफाई कर्मचारी तैनात करने के निर्देशअधिकारियों को दिये । कलेक्टर के निरीक्षण के दौरान एक्स-रे फिल्म की कमी की जानकारी दी गई ।  उन्हें बताया गया कि एंटी रेबीज इंजेक्शन भी अस्पताल को समय पर उपलब्ध नहीं हो पाते हैं ।

मझौली सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का भी किया निरीक्षण:

कलेक्टर ने सिहोरा के सिविल अस्पताल के बाद मझौली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कानिरीक्षण भी किया ।  उन्होंने यहां पदस्थ चिकित्सकों से ओ.पी.डी. में प्रतिदिन आने वाले मरीजों कीसंख्या की तथा स्वास्थ्य केन्द्र में दवाइयों की उपलब्धता की जानकारी ली । श्रीमती भारद्वाज नेस्वास्थ्य केन्द्र में स्थित पोषण पुनर्वास केन्द्र का अवलोकन भी किया और यहां भर्ती अति कम वजन केबच्चों को दिये जा रहे पौष्टिक आहार के बारे में पूछताछ की । इस मौके पर उन्होंने बच्चों की माताओं सेबातचीत की और उन्हें केन्द्र में दी जा रही सलाह के मुताबिक बच्चों की देखभाल करने की सलाह दी।

इन्द्राना स्वास्थ्य केन्द्र से गायब मिला स्टॉफ:

कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज ने इन्द्राना स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का भीआकस्मिक निरीक्षण किया ।  इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ फार्मासिस्ट सोनल गुप्ता औरनीरज कौरव तथा लैब टेक्नीशियन नूरजहाँ अली और विक्रम सिंह के बिना किसी सूचना या आवेदन केड¬ूटी से अनुपस्थित मिलने पर अप्रसन्नता व्यक्त की । कलेक्टर ने हाजिरी रजिस्टर बुलाकर इन्द्राना स्वास्थ्य केन्द्र में पदस्थ चिकित्सक एवं स्टॉफकी जानकारी ली । उन्होंने ड¬ूटी से अनुपस्थित मिले चिकित्सक डॉ. प्रियंका सिंह, आयुष अधिकारीनिकहत परवीन एवं नर्स दीपिका सिंगरोरे को भी कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये ।श्रीमती भारद्वाज निरीक्षण के दौरान स्वास्थ्य केन्द्र के प्रसूति वार्ड भी गई और प्रसूताओं से यहां मिल रहीसुविधाओं के बारे में पूछताछ की ।  उन्होंने सभी गर्भवती महिलाओं को मुख्यमंत्री जनकल्याण संबलयोजना के तहत दी जाने वाली प्रसूति सहायता का लाभ दिलाने के निर्देश अधिकारियों को दिये ।

इन्द्राना में प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राही से मिली:

कलेक्टर श्रीमती भारद्वाज सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र इन्द्राना के निरीक्षण के पहले यहांप्रधानमंत्री आवास योजना से मिली मदद से अपना घर बना रहे एक हितग्राही मनोज चौधरी से मिली ।कलेक्टर ने मनोज से पूछा कि उसे किश्तें मिलने में किसी तरह की कठिनाई तो नहीं आ रही है ।  उन्होंनेमनोज की पत्नी माया चौधरी से भी चर्चा की । माया ने बताया कि जहां पति को प्रधानमंत्री आवासयोजना के तहत पक्का घर बनाने में मदद मिल रही है वहीं उसे प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहतरसोई गैस कनेक्शन प्राप्त हुआ है ।  मनोज और माया ने दोनों योजनाओं का एक साथ लाभ मिलने परप्रसन्नता व्यक्त करते हुए कलेक्टर को बताया कि वे दोनों मजदूरी करके परिवार का भरण-पोषण कर रहेहैं । उन्होंने कलेक्टर को बताया कि उन्हें नियमित रूप से खाद्यान्न उपलब्ध हो रहा है तथा मुख्यमंत्रीजनकल्याण योजना में भी दोनों का रजिस्ट्रेशन हो चुका है ।

कोई जवाब दें