सिवनी : आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की मनमानी चरम में नियमों को ताक में रखकर आंगनवाड़ी केन्द्र का हो रहा संचालन

0
118
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ सिवनी // देवराज डहेरिया94256 51310

सिवनी। एकीकृत महिला एवं बाल विकास विभाग केवलारी के अंतर्गत संचालित आंगनवाड़ी केन्द्र खैरा-ं क्रमांक – 01 में इन दिनो आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कौशल्या तिवारी द्वारा अपने पदीय कर्तव्यों के विरूद्ध घोर लापरवाही मनमानी इत्यादि की जा रही है। जिसके चलते शासन की जनहित में चलाई जा रही महात्वकांक्षी योजनाओं का लाभ लेने से ग्रामीण वंचित हो रहे हैं। 

ज्ञात होवे कि आंगनवाड़ी कार्यकर्ता कौशल्या तिवारी द्वारा शासन के नियमों को बलाय ताक में रखकर मनमाने तरीके से आंगनवाड़ी केन्द्र का संचालन किया जा रहा है। इस संबंध में ग्रामीणों द्वारा आये दिन संबंधित विभाग को सूचना एवं शिकायत की जा रही है। परंतु संबंधित विभाग द्वारा उक्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के विरूद्ध कोई वैधानिक कार्यवाही न करना संदेहास्पद है। उल्लेखनीय है कि म.प्र. शासन महिला एवं बाल विकास विभाग निरंतर लोक कल्याणकारी योजनायें संचालित कर रहा है जिसका लाभ हितग्राही तक पहंुच भी रहा है किन्तु आज भी कुछ आंगनवाडी केन्द्र ऐसे हैं जो शासन की मंशा से नहीं अपितु आंगनवाडी कार्यकर्ता की मनमर्जी से चलते हैं ऐसा ही उक्त मामला प्रकाश में आया है। कि एकीकृत महिला एवं बाल विकास विभाग केवलारी के अंतर्गत आंगनवाडी केन्द्र ग्राम खैरा-ं क्रमांक – 01 इसी श्रेणी में आता है।

आज दिनांक तक उक्त आंगनवाडी केन्द्र की कार्यकर्ता कौशल्या तिवारी कभी भी निर्धारित समय पर कर्तव्य पर उपस्थित नहीं हुई है। प्रतिदिन आंगनवाडी कार्यकर्ता प्रातः 10ः00 बजे के बाद ही केन्द्र में उपस्थित होती हैं। ज्ञात होवे कि अनेकों बार ग्राम के नागरिकों एवं ग्राम पंचायत खैरा के सरपंच द्वारा उक्त आशय की जानकारी परियोजना कार्यालय एवं  जिला कार्यालय में भी लिखित सूचना, पंचनामा एवं शिकायत दी गई, यही नही बल्कि सी.एम. हेल्पलाईन में भी शिकायत की गई साथ ही मौके की जांच पर्यवेक्षक एवं परियोजना अधिकारी द्वारा की गई किन्तु आज दिनांक तक उक्त लापरवाह आंगनवाडी कार्यकर्ता के विरूद्ध कोई भी वैधानिक कार्यवाही नहीं की गई, जिससे स्पष्ट होता है कि विभाग इनके विरूद्ध कार्यवाही ही नहीं करना चाहता है,

ज्ञात हो कि जब नागरिकों एवं सरपंच द्वारा दी गई लिखित शिकायत के संबंध में हमारे प्रतिनिधि द्वारा संबंधित परियोजना अधिकारी से चर्चा की गई कि लापरवाह आंगनवाडी कार्यकर्ता के विरूद्ध क्या अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई है? तब अधिकारी द्वारा बताया गया कि हमारे द्वारा संबंधित आंगनवाडी कार्यकर्ता को कारण बताओ सूचना पत्र दिया गया है। लेकिन जनचर्चा का विषय है कि क्या उक्त कारण बताआ नोटिस से उक्त समस्या का समाधान हो सकता है? जबकि विगत 3-ंउचय4 वर्षों से कितने कारण बताओ नोटिस आंगनवाडी कार्यकर्ता को जारी किये गये हैं, तो फिर इनकी कार्यप्रणाली पर सुधार क्यों नहीं हो रहा है।

यदि नहीं हो रहा है तो विभाग इनके विरूद्ध सेवा समाप्ति की कार्यवाही क्यों नहीं कर रहा है?

जबकि इनके द्वारा कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही के पर्याप्त प्रमाण परियोजना कार्यालय को मय पंचनामा सहित जनसमुदाय एवं ग्राम पंचायत सरपंच द्वारा दिये गये हैं। वाबजूद इसके उक्त आंगनवाडी कार्यकर्ता के विरूद्ध विभाग द्वारा कोई उचित कार्यवाही ना करना संदेहास्पद है। यदि परियोजना अधिकारी से लेकर जिले के अधिकारी द्वारा आंगनवाडी केन्द्र खुलने के निर्धारित समय प्रातः 9ः00 बजे से उपस्थित होकर आंगनवाडी केन्द्र का निरीक्षण करेंगे तो केन्द्र बंद पाया मिलेगा। ज्ञात होवे कि ऐसी स्थिति में अब जनसुदाय एवं नागरिकों के समक्ष एक ही विकल्प है कि जब न तो परियोजना अधिकारी और न ही जिला कार्यक्रम अधिकारी उक्त समस्या पर ध्यान नही दे रहे हैं तो इस हालात में जिले के मुखिया कलेक्टर महोदय से ही उम्मीद है, कि उक्त लापरवाह आंगनवाडी कार्यकर्ता कौशल्या तिवारी को सेवा से प्रथक करने का निर्देश विभाग से प्रेषित करें।

साथ ही ग्रामीणों ने अपेक्षा जताई है कि आंगनवाड़ी केन्द्र खैरा-ं क्रमांक – 01 हेतु पुनः आंगनवाड़ी कार्यकर्ता की नवनियुक्ति करने की गुहार लगाई है यदि ग्राम वासियों की मांग तत्काल पूरी नहीं की जाती है तो ग्राम में विवाद होकर शांति भंग होने की आशंका है, जिसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व जिला प्रशासन सहित स्थानीय प्रशासन का होगा।

इनका कहना है  

शिकायत प्राप्त होने के पश्चात इनको कारण बताओ सूचना पत्र एवं अंतिम चेतावनी पत्र भी जारी किया गया है, इसके बाद भी यदि इनकी कार्यप्रणाली में सुधार नही होता है तो संबंधित को सेवा से पृथक करने की कार्यवाही सुनिश्चित की जावेगी।

निर्मलसिंह ठाकुर परियोजना अधिकारी एकीकृत महिला एवं बाल विकास विभाग केवलारी 

इनका कहना है  

ग्रामीणों द्वारा निरंतर की जा रही शिकायत के बाद भी संबंधित विभाग द्वारा उक्त आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के विरूद्ध कोई कार्यवाही न करना संदेहास्पद है।

रणजीतसिंह ठाकुर सरपंच ग्राम पंचायत खैरा

——————————————————————————————————-

नोट : उक्त खबर को पुनः प्रकाशित कॉपी पेस्ट करने के पहले Copyright © 2018 ANI NEWS INDIA की लिखित अनुमति जरुरी है अगर बिना अनुमति के इस खबर को प्रकाशित किया जाता है तो ऐसा करने वाले के खिलाफ सस्थान कार्यवाही करेगा।

 

कोई जवाब दें