माल्या ने तोड़ी चुप्पी, जारी की 2 साल पहले PM मोदी को लिखी चिट्ठी

0
730
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

बिजनेस डेस्कः  भगोड़ा शराब कारोबारी विजय माल्या ने कहा है कि वो बैंकों का पैसा चुकाने के लिए तैयार है। बैंकों के साथ मामला सुलझाने के लिए उसने हर संभव कोशिश की है और इसे जारी रखेगा लेकिन उसे बैंक के साथ फ्रॉड करने वाले ‘पोस्टर बॉय’ के तौर पर पेश किया जा रहा है।

वित्त मंत्री और PM को लिखा था पत्र
यूके में एक बयान जारी कर माल्या ने कहा, ‘मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री दोनों को 15 अप्रैल 2016 को पत्र लिखा था और अब मैं चीजों को सही संदर्भ में पेश करने के लिए इन पत्रों को सार्वजनिक कर रहा हूं।’ माल्या ने कहा कि पीएम या वित्त मंत्री दोनों में से किसी ने भी इसका जवाब नहीं दिया।

विजय माल्या पर 17 बैंकों का 8,191 करोड़ रुपए बकाया है। विजय माल्या ने लिखा है कि वो बैंकों का पैसा चुकाने के लिए हर प्रयास कर रहा है। उसके मुताबिक बैंकों का अधिकतर दावा ब्याज की रकम को लेकर है। उसके मुताबिक लोन की रिकवरी सिविल मैटर है लेकिन उसके खिलाफ आपराधिक मामला बनाया गया है।

SBI को लिखा लेटर
ये लेटर 5 पेज का है जिसे SBI को लिखा है। उसने कहा कि वो इस सबसे थक चुका है। विजय माल्या के मुताबिक CBI और ED उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई कर रहे हैं। दोनों ही आपराधिक चार्ज लगा रहे हैं। उसके मुताबिक लोन का ब्याज बढ़ रहा है। माल्या ने आरोप लगाया कि उसके खिलाफ एजेंडा है। उसके मुताबिक अगर राजनैतिक व्यवधान होगा तो वो कुछ नहीं कर पाएगा।ईडी ने विजय माल्या के खिलाफ नए आर्थिक भगोड़ा कानून के तहत अर्जी दी है। इस कानून के तहत विजय माल्या की 12,500 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी जब्त करने की मंजूरी मांगी है। नए कानून के तहत विजय माल्या पहला शख्स होगा जिसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उसने कहा है कि कोर्ट को कानूनी निगरानी में उसकी प्रॉपर्टी की बिक्री होनी चाहिए।

माल्या ने कहा, ‘मैं सम्मानपूर्वक कहता हूं कि मैंने सरकारी बैंकों के साथ अपने बकाए को देने के पूरे प्रयास किए हैं। अगर राजनीति से प्रेरित कोई फैक्टर इसमें शामिल होता है मैं कुछ भी नहीं कह सकता हूं।’

कोई जवाब दें