मुख्यमंत्री शिवराज से मिलने गई लड़कियों को जेल भेजा, जेल में कराया ‘प्रेग्नेंसी टेस्ट’, विपक्ष ने बताया शर्मनाक

0
266
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

भोपाल: मध्य प्रदेश में ऊंचाई कम होने के कारण पुलिस भर्ती से बाहर की गईं लड़कियां जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यक्रम में पहुंचकर अपनी बात कहने की कोशिश की, तो उन्हें गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

गुरुवार को रिहा की गईं नौ लड़कियों ने आरोप लगाया कि जेल प्रबंधन ने उनका प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया, जिससे वे बेहद आहत हैं. छात्राओं का नेतृत्व करने वाली प्रीति शर्मा ने बताया कि बुधवार की रात नौ लड़कियों को धारा 151 के तहत गिरफ्तार कर जेल भेजा गया. गुरुवार को रिहा होने के बाद इन लड़कियों ने रोष जाहिर करते हुए बताया कि जेल में उनका प्रेग्नेंसी टेस्ट कराया गया. यह कितनी अफसोस की बात है.

मध्यप्रदेश में पुलिस आरक्षक भर्ती में 3 सेंटीमीटर की छूट को लेकर प्रदर्शन करने वाली युवतियों को जेल भेजने के मामले सरकार घिर गई है| कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने सरकार पर तीखा हमला बोला हैI

कमलनाथ ने कहा है कि क्या ये है मामा का भाँजियो के लिये सम्मानl प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने हमला बोला है, उन्होंने लिखा है “मामा के राज में भाँजिया, मामा की पुलिस आरक्षक भर्ती परीक्षा में लंबाई में छूट की घोषणा को पूरी करने की माँग को लेकर पिछले 3 दिनो से भोपाल में धरना दे रही थी, आज जब वो लाल परेड मैदान में मामा से मिलने गयी तो मिलना तो दूर,उलटा जेल भिजवा दिया गयाI दरअसल, पुलिस आरक्षक भर्ती में 3 सेंटीमीटर की छूट को लेकर युवतियां धरना प्रदर्शन कर रही है|

उनका कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पुलिस में महिला उम्मीदवारों की भर्ती के लिए ऊंचाई में छूट देने की घोषणा की थी। उन्होंने कहा था कि इस भर्ती के लिए महिलाओं के लिए लंबाई में 3  से 4  सेमी की छूट दी जाएगी। लेकिन लिखित और शारिरिक परीक्षा पास करने के बावजूद ऊंचाई कम होने के कारण प्रदेश के सैकड़ों लड़कियों को भर्ती से बाहर कर दिया गया । इसके विरोध में उन्होंने सीएम हाउस का घेराव भी किया लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई|

लाल परेड मैदान पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज चौहान के भाषण के दौरान युवतियां यहां आ पहुंची और नारेबाजी करने लगीI जिससे पुलिस भी हरकत में आ गई| प्रशासनिक अधिकारीयों ने मीडियों को कवरेज करने से भी रोक दियाl इसके बाद सभी युवतियों को गिरफ्तार कर लिया गया हैl अब खबर है कि उन्हें गुपचुप तरीके से जेल भेजा गया है| सेंट्रल जेल में जेल दाखिल कराने की प्रक्रिया की जा रही हैI

कोई जवाब दें