बेटी ने खोला भय्यूजी की मौत का राज, बोली-सौतेली मां के कारण पिता ने दे दी जान

0
208
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज की मौत का रहस्य हर कोई जानना चाहता है। उनकी मौत पर रहस्य के बादल छंट नहीं रह रहे हैं। इस बीच उनकी बेटी ने अपने पिता की खुदकुशी का रहस्य खोलने की कोशिश की है। उनकी बेटी कुहू ने अपनी सौतेली मां आयुषी पर आरोप लगाया है कि उनकी ही वजह से पिता ने जान दे दी।

सौतेली मां को जेल में भेजने की मांग

उनकी बेटी ने तो यहां तक कहा कि सौतेली मां को जेल में डाला जाना चाहिए। दूसरी ओर भय्यूजी महाराज की दूसरी पत्नी डॉ.आयुषी का कहना है कि कुहू उन्हें पसंद नहीं करती थी। यही कारण है कि वह इस तरह की बातें कर रही है। उनका कहना है कि वे तो गुरुजी के साथ अच्छे से रह रही थीं। वैसे अब यह पता चला है कि कुहू व डा.आयुषी के बीच पटरी नहीं बैठ रही थी। दोनों एक-दूसरे को पसंद नहीं करते थे। डा.आयुषी का कहना है कि इसी कारण उनकी घेरेबंदी की जा रही है।

भय्यूजी की मौत सौतेली मां के लिए इमेज परिणाम

पहली पत्नी की बेटी है कूहू

कुह और डा.आयुषी के बीच खींचतान के बीच यह जानना जरूरी है कि आखिर कुहू कौन है। दरअसल कुहू भय्यूजी महाराज की पहली पत्नी की बेटी हैं, जो इंदौर में उनके साथ नहीं रहती थी। वह पुणे में रहकर पढ़ाई कर रहीं हैं। भय्यूजी महाराज ने 30 अप्रैल 2017 को एमपी के शिवपुरी की डॉ. आयुषी के साथ शादी की थी। बताया जाता है कि कुहू भय्यूजी महाराज की दूसरी शादी में पहुंची भी नहीं थी।

अंतिम दर्शन के लिए रखा गया शव

आध्यात्मिक गुरु भय्यूजी महाराज का पार्थिव शरीर सुबह 9 से दोपहर 12.30 बजे तक इंदौर में उनके आश्रम पर अंतिम दर्शन के लिए रखा गया। इसके बाद विजयनगर स्थित सयाजी मुक्ति धाम पर उनका अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार काफी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया। इंदौर पुलिस ने भय्यूजी महाराज के आश्रम के आसपास सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी है।

कांग्रेस की सीबीआई जांच की मांग

भय्यूजी महाराज ने सुसाइड नोट में आत्महत्या का कारण तनाव बताया है। पुलिस ने सुसाइड नोट बरामद करने के साथ उनकी पिस्टल जब्त कर ली है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित कई नेताओं ने भय्यूजी महाराज के निधन पर शोक जताया है। वहीं, कांग्रेस ने आत्महत्या मामले की सीबीआई से जांच की मांग की है। कांग्रेस का कहना है कि भाजपा सरकार की ओर से पडऩे वाले दबाव के कारण भय्यूजी खुदकुशी के लिए मजबूर हुए।

पिस्टल की हो रही है जांच

भय्यू महाराज के परिजनों ने बरामद पिस्टल को लाइसेंसी बताया है। वैसे अभी पुलिस यह जांच कर रही है कि यह पिस्टल लाइसेंसी है भी अथवा नहीं और यदि यह लाइसेंसी है तो इसका लाइसेंस किसके नाम पर है।

कोई जवाब दें