भैय्यु जी महाराज ने गोली मारकर की आत्महत्या, सरकार ने दिया था मंत्री का दर्जा

0
971
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

इंदौर -राष्ट्र संत का दर्जा प्राप्त भैय्यु जी महाराज ने खुद को गोली मार ली है, उनकी मौत हो गई है | भय्यू महाराज ने खुद को गोली क्यों मारी, इस बात का खुलासा नहीं हो सका है, घटना की जानकारी मिलते ही बड़ी संख्या में उनके समर्थक अस्पताल के बाहर जमा हो गए हैं. जानकारी के अनुसार, भय्यू महाराज ने मंगलवार दोपहर को सिल्वर स्प्रिंग स्थित अपने बंगले की दूसरी मंजिल पर खुद को गोली मारी, बताया जा रहा है कि पिछले तीन दिनों से पारिवारिक विवाद की वजह से वह काफी परेशान थे इस वजह से डिप्रेशन के चलते उन्होंने खुद को गोली मार ली.

संत भय्यूजी महाराज के लिए इमेज परिणाम

गौरतलब है कि भय्यूजी महाराज ने करीब दो वर्ष पूर्व सार्वजनिक जीवन से सन्यास लेने की घोषणा की थी, करीब एक वर्ष पहले पत्नी माधवी की मौत के बाद से भय्यूजी महाराज खुद को अकेला महसूस कर रहे थे, भय्यूजी महाराज की एक बेटी कुहू है, जो पुणे में रहकर पढ़ाई कर रही है, संभवत: इसी कारण उन्होंने ये फैसला लिया है, भय्यूजी महाराज ने कहा कि समाजसेवा की वजह से मैं परिवार को समय नहीं दे पा रहा था, बीमार मां और 15 वर्षीय बेटी की देखभाल के लिए वे दोबारा शादी कर रहे हैं

संत भय्यूजी महाराज के लिए इमेज परिणाम

आपको भय्यूजी महाराज जी के जीवन से जुडी बातें बता दें कि भय्यू महाराज का वास्तविक नाम उदयसिंह देखमुख है. उनका जन्म शुजालपुर के एक किसान परिवार में हुआ था.उनका मुख्य आश्रम इंदौर स्थित बापट चौराहे पर है. सदगुरु दत्त धार्मिक ट्रस्ट उनके सानिध्य में संचालित होता है. प्रभावशाली व्यक्तित्व के धनी भय्यूजी महाराज के आश्रम में पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, पीएम नरेंद्र मोदी, महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री विलासराव देखमुख, शरद पवार, लता मंगेशकर, उद्धव ठाकरे और मनसे के राज ठाकरे, आशा भोंसले, अनुराधा पौडवाल, फिल्म एक्टर मिलिंद गुणाजी भी आ चुके हैं

कोई जवाब दें