आपके दिल के लिए कुछ आदतें हो सकती है खतरनाक

0
444
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

यदि आप अपने दिल को हमेशा सेहतमंद रखना कहते है तो सबसे पहले आपको इसके दुश्मनों को पहचानना होगा. प्रत्येक वर्ष नए शोधों में हमें दिल की बीमारियों के कई नए कारण पता चलते हैं. हमारे दिल की धड़कनों पर सबसे ज्यादा असर हमारी लाइफस्टाइल का पड़ता है.

90 प्रतिशत दिल से सम्बंधित परेशानियों का कारण स्मोकिंग, शराब, जरूरत से ज्यादा खाना और एक्सरसाइज न करने जैसे फैक्टर्स होते हैं. यदि आप दिल को सेहतमंद बनाना चाहते है सबसे पहले आपको उसके दुश्मन को पहचनना होगा.

तनाव

हम सभी की जिंदगी में चिंता, तनाव या फिर अवसाद जरूर रहता है, इस तरह के इमोशन्स को जिंदगी से निकाल पाना आसान बात नही है, परन्तु हम इसके प्रति सचेत रहे तो इससे निजात पाना आसान है. योग, मेडिटेशन और एक्सरसाइज तनाव से निजात दिलाने में काफी मददगार साबित हो सकते हैं.

एल्कोहल

विशेषज्ञ की बातो पर विश्वास करे तो रेड वाइन का इस्तेमाल हार्ट की सेहत के लिए फायदेमंद हो सकता है, परन्तु इसके अतिरिक्त किसी भी प्रकार की अन्य शराब आपकी सेहत के लिए हानिकारक हो सकती है. एल्कोहल के अधिक सेवन से शरीर में कैलोरी की मात्रा में बढ़ जाती है. यही नहीं, स्लीपिंग डिस्‍ऑर्डर की समस्या भी हो सकती है, जो दिल संबंधी परेशानियों को दावत दे सकती है.

खर्राटे

खर्राटे जैसी समस्या केवल आपकी की ही नहीं बल्कि किसी अन्य व्यक्ति की परेशानी बन सकता है. खर्राटों को स्‍लीप ऐप्‍निआ का लक्षण माना जाता है. स्‍लीप ऐप्‍निआ, सोते वक्त सांस लेने से जुड़ी अनियमितता को माना जाता है. इससे ग्रसित लोगो को दिल से सम्बंधित बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है. अगर आपको भी खर्राटे आते हैं, तो इसे नजरअंदाज न करें और डॉक्‍टर की सलाह ले.

डाइट सोडा

गर्मी के मौसम में डाइट सोडा पीने से भले ही कुछ देर के लिए राहत मिलती है, लेकिन यह आपके हार्ट के लिए ठीक नहीं है. अगर आप लगातार डाइट सोडा पीते हैं, तो स्ट्रोक के अलावा दिल संबंधी दूसरी बीमारियों के शिकार हो सकते हैं. कई बार तो मरीज को हार्ट संबंधी बीमारियों की हिस्ट्री न होने पर भी वो इसकी चपेट में आ जाते हैं.

कम या ज्यादा सोना

अगर आप पांच घंटे से कम या फिर नौ घंटे से अधिक सोते हैं, तो इससे रक्तचाप और तनाव का स्तर बढ़ सकता है. इस वजह से धमनियों से जुड़ी समस्याएं खड़ी हो सकती हैं. बेहतर होगा अपनी नींद को संतुलित करें.

ज्यादा एक्सरसाइज

अधिक एक्सरसाइज भी आपके दिल की सदहत पर बुरा प्रभाव डालती है. जरूरत से ज्यादा एक्सरसाइज करने से हार्ट को ज्यादा काम करना पड़ता है. इसलिए बेहतर होगा कि अपनी क्षमता से ज्यादा एक्सरसाइज न करें.

ओवर ईटिंग

मोटापा दिल संबंधी बीमारियों का एक बड़ा कारण है. जरूरत से ज्यादा भोजन और एक्सरसाइज न करने से मोटापे की समस्या जन्म लेती है. सेहत को ठीक रखने के लिए अच्छा होगा की भूख से थोड़ा कम खाना खाएं और जहां तक संभव हो सके मीठे और हाई कैलोरी फूड से बचने की कोशिश करें.

स्मोकिंग

अगर दिन में आप एक सिगरेट भी पीते हैं, तो दिल संबंधी बीमारियों का खतरा दोगुना हो जाता है. यही नहीं, इसके कारण कैंसर समेत फेफड़ों से जुड़ी अन्य कई बीमारियां भी हो सकती हैं. इसलिए आप इस खतरे की जड़ को तुरंत ही काट दे.

ओरल हाइजीन

खराब ओरल हेल्‍थ से कार्डियोवस्कुलर समस्याएं भी जन्म ले सकती हैं. मसूढ़ों के बैक्टीरिया रक्त-वाहिकाओं में प्रवाहित होने लगते हैं, जिसके कारण रक्त-प्रवाह कम हो जाता है, जो हार्ट की स्थिति के लिए ठीक नहीं है.

बहुत ज्यादा टीवी

अमेरिकन कॉलेज ऑफ कार्डियोलॉजी जर्नल में प्रकाशित रिसर्च के मुताबिक बहुत ज्यादा टीवी देखना भी दिल की सेहत के लिए ठीक नहीं है. बेशक आप नियमित एक्सरसाइज करते हों, अगर दिन में 4 घंटे से अधिक टीवी देखते हैं, तो हार्ट स्ट्रोक का खतरा कई गुना बढ़ जाता है.

कोई जवाब दें