साप्ताहिक बाजार में बड़ी मोबाइल एवं पर्स चोरी की घटनाएँ

0
361
Spread the love

TOC  NEWS @ www.tocnews.org

♦ गाडरवारा व्यूरो चीफ // अरूण श्रीवास्तव 

ANI NEWS INDIA

गाडरवारा। के साप्ताहिक बाजारों में इन दिनों मोबाइल पर्स चोरी करने वाला बड़ा गिरोह सक्रिय है। मौका मिलते ही गिरोह के सदस्य बाजार करने आए लोगों का मोबाइल, पर्स पार कर दे रहे हैं। स्टेशन साप्ताहिक हाट बाजार में 05 मिनट के अंदर चार से अधिक लोगों के मोबाइल एवं पर्स गिरोह ने पार कर दिए। इसकी शिकायत एक व्यक्ति ने की शिकायत दर्ज और लोगों ने शिकायत दर्ज नहीं कराई।

व्यापारी एवं व्यक्तियों से जब जानकारी ली गई तो उन्होंने बताया कि हर सप्ताह बाजार में इस तरह की घटनाएं आम हो गई है इस बाजार में सबसे ज्यादा संख्या महिलाओं की होती है जो कि सब्जियां खरीद करती हैं इस तरह की घटनाओं को देखकर महिलाएं एवं आम लोग दहशत में हैं। सोमवार की शाम राशिद कुरैशी पिता मकबूल अहमद कुरैशी निवासी कामथ वार्ड गाडरवारा सब्जी ले रहे थे। तभी उनका एक महंगा मोबाइल एंड्रॉयड उनके सामने की जेब से पार कर दिया गया। जिसकी शिकायत स्थानीय थाने में की गई है घटना को दो दिन बीत गए हैं। लेकिन गिरोह का एक भी सदस्य पुलिस के हाथ नहीं लगा।

गिरोह में युवा एवं वच्चे भी शामिल

युवा एवं बच्चे गिरोह में शामिल गिरोह में बीस से पच्चीस युवा बच्चे समेत तक शामिल हैं। गिरोह के सदस्य हाट बाजार में शिकार की तलाश करते रहते हैं। जैसे ही बाजार में भीड़-भाड़ बढ़ती है वे जेब खाली करने में सक्रिय हो जाते हैं। जब तक फरियादी को मोबाइल-पर्स चोरी होने का पता चलता है, गिरोह के सदस्य अडड्डा बदलकर दूसरे शिकार में जुटे होते हैं। ऐसे में वह पकड़ में नहीं आते। ग्राहक बनकर करीब मंडराते गिरोह के सदस्यों को बाकायदा जेब खाली करने की ट्रेनिंग दी जाती है। वह बाजार में सामान्य ग्राहक की तरह दुकानों के पास सौदा करते रहते हैं। जैसे ही कोई व्यक्ति खरीदारी करने आता है, वह झुंड बनाकर उसके आसपास चिपक जाते हैं।
इसी बीच गिरोह का कोई सदस्य जेब खाली कर देता है। इसके बाद झुंड अलग-अलग हो जाता है। 05 फीसदी ही बरामद होते हैं मोबाइल नगर से गुम-चोरी हुए मोबाइल की आमतौर पर रिपोर्ट ही दर्ज नहीं की जाती। थाना पुलिस मोबाइल चोरी की शिकायत दर्ज कराने आए पीडितों को सीधा यह कहा जाता है कि आप उसका विल लाइए पीड़ित को इतनी सारी फॉर्मेलिटी मांग लेते हैं। की पीड़ित दोबारा थाने की तरफ आता ही नहीं है। वैसे भी क्षेत्र में अपराध का ग्राफ दिन व दिन बढ़ता ही जा रहा है।
आए दिन चोरी गुंडागर्दी चाकूबाजी से लेकर जुआ सट्टा अवैध उत्खनन क्राइम के मामले में हमारा क्षेत्र सुर्खियां बटोर रहा है। कभी शांत कहलानेे वाला यह क्षेत्र असांत भेहे में तब्दील होता जा रहा है। क्षेत्र का नागरिक अपने आपको असुरक्षित महसूस कर रहेे हैं। अफसोस यह सब देख कर जवाबदार लोग मौन है।

कोई जवाब दें