कर्नाटक में हो गया तय, ये लेंगे 17 मई को सीएम पद की शपथ

0
160
Spread the love

भाजपा के बाद कांग्रेस व जेडीएस गठबंधन ने अपने विधायक दल का नेता चुना, एचडी कुमारस्वामी विधायक दल के नेता चुने गए, राज्यपाल के समक्ष पेश करेंगे सरकार बनाने का दावा, दूसरी तरफ एकजुट कांग्रेस व जेडीएस में दिखने लगी है टूट, कांग्रेस के करीब 12 विधायक नहीं पहुंचे विधायक दल की बैठक में, जेडीएस के दो विधायकों के बैठक का बहिस्कार करने की सूचना.

कर्नाटक में हो गया तय, ये लेंगे 17 मई को सीएम पद की शपथ

सीएम की रेस में कुमारस्वामी से आगे निकले येदियुरप्पा. (फोटो : गूगल)

कर्नाटक में सत्ता में वापसी की कवायद में जुटी कांग्रेस को जोरदार झटका लगा है। हालांकि, सत्ता के लिए भाजपा और जेडीएस-कांग्रेस ने कोशिशें तेज कर दी हैं। इसे लेकर तीनों पार्टियों ने विधायक दल की बैठक की। जेडीएस की बैठक से दो और कांग्रेस की बैठक से 12 विधायक नदारद रहे। हालांकि, अभी तक इनके नहीं पहुंचने की आधिकारिक वजह सामने नहीं आई है। उधर, कांग्रेस-जेडीएस ने आरोप लगाया है कि भाजपा उनके विधायकों से संपर्क करने की कोशिश कर रही है। दोनों पार्टियों ने दावा किया है कि उनके सभी चुने गए विधायक एक साथ हैं।

राजभवन पहुंच कर अपने विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद येदियुरप्पा ने किया सरकार बनाने का दावा. (फोटो : गूगल)

कांग्रेस विधायक अमरेगौड़ा लिंगानागौड़ा पाटिल बाय्यापुर ने कहा कि बीजेपी नेताओं ने उन्हें मंत्री पद का ऑफर दिया था। इससे पहले कहा गया कि बीएस येद्दियुरप्पा ने सरकार बनाने के लिए फिर ‘ऑपरेशन लोटस’ छेड़ा है। वे कांग्रेस के चार और जेडीएस के छह विधायकों के संपर्क में हैं। सबको मंत्री पद का ऑफर दिया है। बता दें कि जेडीएस-कांग्रेस और भाजपा ने सरकार बनने का दावा पेश कर चुके हैं। इस चुनाव में भाजपा को 104, कांग्रेस को 78 और जेडीएस गठबंधन को 38 सीटें मिली हैं। कांग्रेस व जेडीएस विधायक दल की बैठक में कुमारस्वामी को विधायक दल की बैठक में नेता चुना गया।

कांग्रेस व जेडीएस विधायक दल की बैठक में कुमारस्वामी को चुना गया नेता. (फोटो : गूगल)

इससे पहले ही बीएस येदियुरप्पा ने राजभवन जाकर सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया। बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि पार्टी ने विधायक दल का नेता मुझे चुना है। मैंने राज्यपाल को पत्र सौंपा है। उन्होंने मुझसे कहा कि वह उचित फैसला करेंगे। मुझे उम्मीद है कि वह मुझे बुलाएंगे। येदियुरप्पा का दावा इस कारण भी मजबूत दिख रहा है कि जेडीएस व कांग्रेस के विधायक दल की बैठक में 78 में से 66 एमएलए पार्टी के विधायक दल की बैठक में पहुंचे। 12 विधायक मीटिंग से नदारद रहे। कांग्रेस के एमबी पाटिल ने कहा कि भाजपा के 6 विधायक उनके संपर्क में हैं।

राज्य में सबसे अधिक सीटें जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी है भाजपा. (फोटो : गूगल)

दूसरी तरफ, जेडीएस विधायक दल की बैठक में राजा वेंकटप्पा नायक और वेकंट राव नडगौड़ा नहीं पहुंचे। नायक मानवी से और नडगौड़ा सिंधानुर विधानसभा क्षेत्र से चुने गए हैं। केंद्रीय मंत्री सदानंद गौड़ा ने कहा कि हमारे सबसे ज्यादा विधायक हैं। कांग्रेस और जेडीएस कैसे सरकार बनाने की सोच सकते हैं। वहीं, प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि लोग बीजेपी को चाहते हैं और हम सरकार बनाएंगे। विधायक दल की बैठक के बाद हम जरूरी कदम उठाएंगे। येदियुरप्पा ने तो सरकार बनाने के लिए शुभ मुहुर्त भी देखवा लिया है। गुरुवार को वे सीएम पद की शपथ ले सकते हैं।

कोई जवाब दें