जनजातीय कार्य और अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की योजनाएँ होंगी कम्प्यूटरीकृत

0
259
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

भोपाल : सोमवार, मई 14, 2018. जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की सभी योजनाओं और प्रक्रियाओं को कम्प्यूटरीकृत कर ऑनलाइन एक प्लेटफार्म पर लाया जा रहा है। इसका शुभारंभ जनजातीय कार्य और अनुसूचित जाति कल्याण राज्य मंत्री श्री लालसिंह आर्य 15 मई को मंत्रालय में अपने कक्ष से करेंगे। इससे कम समय में लोगों को योजनाओं का लाभ मिलेगा। योजनाओं की मॉनिटरिंग हो सकेगी और योजनाओं के संचालन में पारदर्शिता के साथ गुणवत्ता पूर्ण काम किया जा सकेगा। परियोजना के लिये 18 करोड़ से ज्यादा की राशि स्वीकृत है।

निकट भविष्य में निर्माणाधीन नये साफ्टवेयर के माध्यम से विभाग की योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिये सभी हितग्राहियों को स्वयं का प्रोफाइल पंजीयन करवाना होगा। यह पंजीयन हितग्राही द्वारा स्वयं, इन्टरनेट कियोस्क जैसे एम.पी.ऑनलाइन, लोकसेवा केन्द्र, नागरिक सुविधा केन्द्र अथवा विभागीय अधिकारियों के माध्यम से किया जा सकेगा। वर्तमान में योजनाओं का लाभ प्राप्त कर रहे हितग्राहियों का एक बार पंजीयन निश्चित समय-सीमा में करवाया जाना है।

जनजातीय कार्य एवं अनुसूचित जाति कल्याण विभाग के लिए इमेज परिणाम
जनजातीय कार्य और अनुसूचित जाति कल्याण विभाग की योजनाएँ होंगी कम्प्यूटरीकृत

प्रोफाईल पंजीयन करने के लिये ‘पॉयलट लाँच’ के रूप में बालाघाट जिले को चुना गया है। ‘पॉयलट लाँच’ बालाघाट जिले में 10 मई से हो चुका है।

क्रियान्वयन का माध्यम एवं प्रक्रिया

परियोजना का क्रियान्वयन विभिन्न घटक में किया जा रहा है। सभी विभागीय योजनाओं, संबंधित मॉड्यूल एवं प्रक्रियाओं के कम्प्युटरीकरण के लिये To-Be, FRS एवं SRS दस्तावेज पीएमयू टीम द्वारा तैयार किया जाता है। To-Be, FRS एवं SRS दस्तावेजों के आधार पर सभी योजनाओं, संबंधित मॉड्यूल और प्रक्रियाओं के ऑनलाइन एप्लीकेशन का निर्माण पीआईयू द्वारा किया जा रहा है। योजनाओं, संबंधित मॉड्यूल और प्रक्रियाओं की सरलता के लिये प्रदेश में प्रचलित अन्य विभागों के सफल एवं उपयोगी एप्लीकेशन जैसे ई-डिस्ट्रिक्ट, समग्र, SRDH, NPCI, माध्यमिक शिक्षा मंडल, IFMIS, HRMIS, CCTNS इत्यादि के साथ भी इंटीग्रेशन किया जा रहा है। एप्लीकेशन के निर्माण के बाद सिक्यूरिटी ऑडिट भी करवाया जायेगा। एप्लीकेशन के उपयोग के लिये स्टेट डॉटा सेन्टर में हार्डवेयर स्थापित किये जाएंगे। विभाग के सभी कार्यालयों, स्कूल और छात्रावासों में एप्लीकेशन के उपयोग के लिये उपयोगी हार्डवेयर भी उपलब्ध करवाये जाएंगे।

परियोजना की प्रगति

वर्तमान में परियोजना की गतिविधियों का कार्य प्रचलन में है। विभाग की नई वेबसाइट www.tribal.mp.gov.in का निर्माण कर उपयोग किया जा रहा है। ऑनलाइन एप्लीकेशन के निर्माण के लिये 32 योजनाओं/ मॉड्यूल के To-Be, FRS एवं SRS दस्तावेज तैयार किये जा चुके हैं। प्रमुख मॉड्यूल प्रोफाइल पंजीयन का निर्माण किया जा चुका है। प्रतिभा योजना, यूपीएससी कोचिंग योजना की ऑनलाइन एप्लीकेशन का निर्माण अंतिम स्तर पर है। परियोजना में प्रमुख योजना/ मॉड्यूल जैसे पोस्ट-मेट्रिक छात्रवृत्ति, हॉस्टल प्रबंधन प्रणाली, छात्रों को प्रोत्साहन, जीआईएस, स्कूल प्रबंधन प्रणाली, आहार अनुदान योजना, मेधावी विदेशन अध्ययन योजना, विज्ञान एवं सामयिक विषयों में प्रवेश पर प्रोत्साहन, गणवेश प्रदाय इत्यादि के ऑनलाइन एप्लीकेशन निर्माणाधीन है।

कोई जवाब दें