डिजिटल मीडिया के लिए कानून बनाने का यही सही समय है : स्मृति ईरानी

0
67
Spread the love

केंद्र सरकार डिजिटल मीडिया के लिए कानून बना सकती है. सूचना व प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा है कि डिजिटल मीडिया के लिए कानून, नीति और नियम बनाने की जरूरत है ताकि इस इंडस्ट्री पर किसी एक संस्थान या कंपनी का वर्चस्व न हो सके.  दिल्ली में मीडिया को लेकर तीन दिवसीय समिट का आयोजन किया जा रहा है। इस कार्यक्रम की लॉन्चिंग के दौरान केंद्रीय सूचना-प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने भारतीय मीडिया का दुनिया का सबसे तेजी से बढ़ता मीडिया बताया। 

उन्होंने कहा है कि 2021 तक भारत में डिजिटल मीडिया के 96 करोड़ 90 लाख यूजर्स हो जाएंगे। साथ ही उन्होंने एक बार फिर डिजिटल मीडिया के लिए कानून बनाने की वकालत की। उन्होंने कहा कि यही समय है कि इंडस्ट्री में संतुलन बनाए रखने के लिए कानून और नियम लाए जाएं ताकि इस इंडस्ट्री पर किसी एक संस्थान या कंपनी का वर्चस्व न हो सके।’

गुरुवार को 15वें एशियाई मीडिया शिखर सम्मेलन के दौरान उन्होंने कहा कि डिजिटल मीडिया में बढ़ रही तकनीक को एक चुनौती की तरह नहीं, बल्कि एक मौके की तरह देखा जाना चाहिए।

तीन दिवसीय समिट का आयोजन सूचना व दूरसंचार मंत्रालय, इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मास कम्युनिकेशन (आइआइएमसी) व ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसलटेंट इंडिया लि. (बीइसीआइएल) कर रहा है। इस समिट की थीम ‘स्टोरीटेलिंग इन मीडिया : टेलिंग आवर स्टोरी -एशिया ऐंड मोर’ है। इस मौके पर ईरानी का कहना था कि तेजी से विकसित हो रही तकनीक के प्रति संशय का रुख रखना ठीक नहीं होगा। उनका कहना था कि 2018 तक भारत का विज्ञापन बाजार 10.59 अरब डॉलर और मोबाइल खर्च 1.55 अरब डॉलर हो जाएगा।

कार्यक्रम के दौरान उन्होंने यह भी बताया कि सरकार सौ सामुदायिक रेडियो स्टेशन देशभर में खोलने जा रही है।

कोई जवाब दें