Spread the love

पटना । माध्यमिक शिक्षा के अंतर्गत जिला परिषद एवं विभिन्न नगर निकायों में अवस्थित उच्च माध्यमिक विद्यालयों में 15 जून तक अतिथि शिक्षक योगदान कर लेंगे। 22 मई से आवेदन स्‍वीकार किये जायेंगे। माध्यमिक शिक्षा के निदेशक राजीव प्रसाद सिंह ‘रंजन’ ने गुरुवार को शिड्यूल जारी कर दिया है।

शिक्षकों का बीएड होना आवश्यक

अतिथि शिक्षक छात्रों को कुल छह विषयों की शिक्षा देंगे। इनमें अंग्रेजी, गणित, भौतिकी, रसायनशास्त्र, प्राणिशास्त्र और वनस्पतिशास्त्र हैं। मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से 50 फीसद अंकों के साथ स्नातकोत्तर और बीएड अथवा माध्यमिक शिक्षक पात्रता परीक्षा (पेपर-2) में उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को प्राथमिकता दी जाएगी। गणित भौतिकी एवं रसायनशास्त्र विषयों के लिए योग्य अभ्यर्थी के लिए अर्हता न्यूनत 55 फीसद अंकों के साथ बीटेक अथवा एमटेक रखी गई है।

आरक्षण के नियमों का होगा पालन

विद्यालयों में रिक्त पदों के आधार पर आरक्षण रोस्टर बनाकर संबंधित जिलों के शिक्षा पदाधिकारियों से अनुमोदन प्राप्त किया जा सकेगा। इसके लिए जिला शिक्षा पदाधिकारी विज्ञापन जारी करेंगे। शिक्षा पदाधिकारी के अनुमोदन पर स्कूल के प्रिंसिपल अतिथि शिक्षक की सेवा ले सकेंगे।

एक दिन के लिए मिलेंगे एक हजार रुपये

अतिथि शिक्षकों को पारिश्रमिक के रूप में प्रतिदिन एक हजार रुपये दिए जाएंगे। परंतु यह राशि महीने में 25 हजार रुपये से अधिक नहीं होगी। भुगतान के लिए राशि स्कूलों को दी जाएगी और स्कूल के माध्यम से ही शिक्षकों को पारिश्रमिक का भुगतान किया जा सकेगा।

शिड्यूल

05 मई : संबंधित विषयों के लिए विद्यालय जारी करेंगे कुल रिक्ति

12 मई : रिक्ति के आधार पर सामूहिक रोस्टर होगा तैयार

21 मई : रिक्ति का जिलावार विज्ञापन का प्रकाशन

22 मई : अतिथि शिक्षक के लिए आवेदन किए जाएंगे स्वीकार

04 जून : आवेदन स्वीकार करने की अंतिम तिथि

09 जून : मेधा सूची का प्रकाशन

10 से 13 जून : चयनित अभ्यर्थी जमा करेंगे विकल्प

15 जून : अतिथि शिक्षकों को स्कूलों में करना होगा योगदान

कोई जवाब दें