भारत में इस जगह पर मिलती हैं एक साल के लिए बीवियां, बस इस तरह से किया जाता है सौदा

0
120
Spread the love

आजादी के पहले भारत में प्रथा और परंपराओं के नाम पर न जानें कितनी ही कुरितियों को बढ़ावा दिया जाता था परंतु आजादी के बाद लोगो के विचारो में थोड़ा परिवर्तन आया| लोगो के अंदर सही गलत में फर्क करना आया|

जिसका नतीजा यह हुआ की धीरे-धीरे देश में कुप्रथाओ के बादल छटने लगे| लेकिन आज भी कुछ ऐसी प्रथाओ को देखकर लगता हैं की हम आज भी वही खड़ें जहा 70 साल पहले थे| इस समय इतनी जागरूकता होने के बावजूद देश के कई जगहों पर कई कुरीतिया देखने को मिल जाती हैं| जहां देश मे ‘बेटी पड़ाओ बेटी बचाओ’ का नारा दिया जा रहा हैं, वही पर कई जगह आज भी बेटियो को बेचा जा रहा हैं|

जी हाँ आज हम बात कर रहें मध्य प्रदेश के शिवपुरी इलाके में सालों से चली आ रही‘धड़ीचा प्रथा’की। इस प्रथा में पुरुष अपने मन-पसंद लड़की को 1 साल के लिए अपने घर ले जाते हैं| एक तरह से देखा जाए तो लोग अपने बेटी को एक साल के लिए बेच देते हैं| आपको यह जानकार हैरानी होगी लड़की के घर वाले अपने बेटी को देने के बदले, सामने वाले से अच्छा खासा रकम तक वसूलते हैं|

यहाँ के लोग हर साल अपनी बेटियो का सौदा करते हैं, दिलचस्प बात ये भी हैं की इसको बाकायदे रजिस्टर मे नोट किया जाता हैं| लड़के को लड़की पसंद आ गयी तो वह ज्यादा कीमत देकर लड़की को एक साल से अधिक समय तक रख सकता हैं| बशर्ते लड़की को उस एक साल या उससे ज्यादे समय तक उस आदमी की पत्नी बनकर रहना पड़ता है| यदि वे समय रहते ही शादी करने का फैसला कर लेते हैं तो समय रहते ही उनकी शादी तय कर दी जाती हैं |

सोचने वाली बात यह हैं की इस कुप्रथा के खिलाफ आज तक किसी ने भी आवाज नहीं उठाई| ना ही किसी शख्स ने और ना ही किसी परिवार ने किसी के खिलाफ कोई रिपोर्ट दर्ज करवाई हैं| इस घटना से लगता हैं की आज भी हमारा भारत कितना पीछे हैं| हमे इस बात पर गौर करना चाहिए की लडकीया भी इंसान हैं उनकी भी कुछ इच्छाए होती हैं| ऐसे ही नहीं किसी के हाथो उन्हे बेच देना चाहिए| इस ‘धड़ीचा प्रथा’ के खिलाफ लोगो को आवाज उठानी चाहिए तथा इसका विरोध करना चाहिए|

कोई जवाब दें