Spread the love

रायपुर : छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता विकास तिवारी ने पशुपालन विभाग में पशुओं की दवा खरीदी में हो रहे भ्रष्टाचार और करोड़ो रूपयो के घोटाले पर प्रदेश के मुख्यमंत्री रमन सिंह और पशुपालन विभाग के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल के चुप्पी पर निशाना साधते हुये कहा कि जहां एक ओर पशुपालन विभाग में पशुओ के वैक्सीन खरीदी में बड़ा गड़बड़ झाला चल रहा है।

रोज नये भ्रष्टाचार और कमीशनखोरी के नीत्त नये खुलासे हो रहे है, वहीं दूसरी ओर विभाग के मंत्री बृजमोहन अग्रवाल नगर निगम के अधिकारियों को गंदे पानी के लिये हडकाते दिख रहे है, वो भी तब जबकि चुनाव सर पर आ चुका है मंत्री जी सुर्खिया बटोरने के लिये गंदे-मटमैले पानी का मुद्दा तब उठा रहे है, जबकि उन्हीं के रायपुर में एक गर्भवती महिला ने पीलिया बीमारी के चलते दम तोड़ दिया। उसका बच्चा उसकी कोख में ही जन्म लेने से पहले ही मर गया। 

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि पशुपालन विभाग ने छत्तीसगढ़ दवा निगम के माध्यम से पशुओं की वैक्सीन के लिये जिन कंपनियों से अनुबंध किया था। टेंडर के माध्यम से दवा खरीद कर भुगतान अन्य कंपनी को कर दिया, अधिकारियों ने कमीशनखोरी के लिये आवश्यकता से ज्यादा दवा खरीदी भी किया और भुगतान भी मनमाने ढंग से किया। यह खेल विगत कई सालो से अनवरत चल रहा है। बावजूद खुलासे के विभाग कर सचिव अनूप कुमार श्रीवास्तव कहते है कि कोई भी गड़बड़ी सामने आयी तो कार्यवाही की जायेगी। जबकि पूरे तथ्यातम के सबूत समाचार पत्रों में आ चुके है।   

प्रवक्ता विकास तिवारी ने कहा कि प्रदेश के मुखिया और पशुपालन,मत्सय पालन विभाग के कद्दावर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल की मौन धारण करना प्रदेश की जनता के समझ से परे है, जबकि उनके आदेश के बिना विभाग में पत्ता तक नहीं हिलता तो सालों से इतना बड़ा कमीशन का खेल अनवरत कैसे चल रहा है और कद्दावर मंत्री बृजमोहन अग्रवाल अपने विभाग में चल रहे मोटे कमीशन के खेल पर क्यों खुली छुट दे रखी है यह प्रदेश की ढ़ाई करोड़ जनता जानना चाह रही है।

कोई जवाब दें