Spread the love

लंदन : विश्‍व के महान भौतिकी और ब्रह्मांड विज्ञानी स्‍टीफन हॉकिंग का निधन बुधवार सुबह 76 साल की उम्र में हुआ.

इससे वैज्ञानिक बिरादरी में शोक की लहर छाई हुई है. महान वैज्ञानिक अल्‍बर्ट आइंसटीन के बाद स्‍टीफन हॉकिंग को सबसे लोकप्रिय वैज्ञानिक माना जाता था. यह संयोग ही है कि हॉकिंग का निधन भी अल्‍बर्ट आइंसटीन की जन्‍म तिथि (14 मार्च) को ही हुआ. हॉकिंग का निधन भी आइंसटीन की तरह 76 साल की उम्र में हुआ. वहीं दूसरी ओर एक संयोग यह भी है कि जिस दिन महान वैज्ञानिक गैलीलियो की मौत हुई थी, 300 साल बाद उसी दिन स्‍टीफन हॉकिंग का जन्‍म हुआ था.

आइंसटीन की मौत भी 76 साल की उम्र में हुई थी
अल्‍बर्ट आइंसटीन का जन्‍म 14 मार्च, 1879 को जर्मनी में हुआ था. उन्‍होंने अपने जीवन में कई बहम सिद्धांत दिए. उन्‍होंने जनरल रिलेटिविटी, स्‍पेशल रिलेटिविटी, फोटो इलेक्ट्रिक इफेक्‍ट, कॉस्‍मोलॉजिकल कॉन्‍सटेंट पर काम किया. 1915 में आइंसटीन ने जनरल रिलेटिविटी एक थ्‍योरी प्रकाशित की. इसमें उन्‍होंने बताया कि गुरुत्‍वाकर्षण क्षेत्र स्‍पेस और टाइम में विकृति उत्‍पन्‍न करते हैं. उनकी यह थ्‍योरी भौतिकी के सिद्धांतों के विपरीत थी. मई 1919 में हुए सूर्य ग्रहण में उनकी इस थ्‍योरी को परखा गया और बिलकुल सटीक पाया गया. वह रातोंरात लोकप्रिय हो गए थे. उन्‍हें 1921 में भौतिकी का नोबेल भी दिया गया. आइंसटीन की मौत 18 अप्रैल, 1955 को हुई.

गैलीलियो से भी है हॉकिंग का खास ‘नाता’
स्‍टीफन हॉकिंग का खास नाता महान ब्रह्मांड विज्ञानी गैलीलियो गैलिली से भी है. गैलीलियो का जन्‍म 15 फरवरी, 1564 को हुआ था. उनकी मौत 8 जनवरी 1642 को हुई थी. स्‍टीफन हॉकिंग और गैलीलियो के बीच खास नाता यह है कि जिस दिन महान वैज्ञानिक गैलीलियो की मौत हुई थी, 300 साल बाद उसी दिन स्‍टीफन हॉकिंग का जन्‍म हुआ था. यही नहीं गैलीलियो का निधन 77 साल की उम्र में हुआ था. स्‍टीफन हॉकिंग की मौत 76 साल की उम्र में हुई. गैलीलियो ने आकाशगंगा, सुपर नोवा पर खास काम किया. 1610 में उन्‍होंने बृहस्‍पति ग्रह के चार चंद्रमाओं को खोजा.

स्‍टीफन हॉकिंग का जीवन
स्‍टीफन हॉकिंग का जन्‍म आठ जनवरी, 1942 को इंग्‍लैंड के ऑक्‍सफोर्ड में हुआ था. वह भौतिक विज्ञानी, ब्रह्मांड विज्ञानी और लेखक थे. वह यूनिवर्सिटी ऑफ कैम्ब्रिज के सेंटर फॉर थियोरेटिकल कॉस्‍मोलॉजी के रिसर्च विभाग के डायरेक्‍टर भी थे. उन्‍होंने हॉकिंग रेडिएशन, पेनरोज-हॉकिंग थियोरम्‍स, बेकेस्‍टीन-हॉकिंग फॉर्मूला, हॉकिंग एनर्जी समेत कई अहम सिद्धांत दुनिया को दिए. उनके कार्य कई रिसर्च का बेस बने. स्टीफन हॉकिंग ने ब्लैक होल और बिग बैंग सिद्धांत को समझने में अहम योगदान दिया है.

कोई जवाब दें