TOC NEWS

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह गुजरात में अागामी विधानसभा चुनावों को लेकर सतके में हैं। केवल अमित शाह ही नहीं पीएम मोदी गुजारत चुनाव जीतने के लिए कई रैलियां करके बड़ी-बड़ी बातें कर रहे हैं। वहीं भाजपा अध्यक्ष की माने तो उनके अनुसार बीजेपी इस बार 150 से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करेगी।

अब यह तो 18 दिसंबर को पता चलेगा की इन चुनावों में बीजेपी का पलड़ा भारी राह या फिर कांग्रेस ने बाजी मार ली है। ये सब बातें तो होती ही रहती है, लेकिन गौर करने वाली बात है कि अमित शाह को अपने एक इंटरव्यू के दौरान इतना गुस्सा अाया की वह चलते शो के बीच में ही वहां से उठकर चले गए।

इसे भी पढ़े :- प्रेमी संग तीन युवकों को गेस्‍ट हाऊस में देख पति ने खोया आपा, जानिए फिर क्या हुआ

इसे भी पढ़े :- इतिहास की 3 खूबसूरत स्त्रियां जिन्होंने इतिहास बदल दिया था

जनसत्ता नामक एक न्यूज चैनल के मुताबिक शनिवार को दोपहर से इंटरव्यू दे रहे अमित शाह को एक इंटरव्यू के दौरान इतना गुस्सा आ गया कि वे बीच में ही साक्षात्कार छोड़कर चले गए। अहमदाबाद बीजेपी के कार्यालय के बाहर ऐसी चर्चाएं हो रही थीं कि अमित शाह बहुत ही बेकार मूड में थे। काफी समय से बीजेपी प्रवक्ता अमित शाह द्वारा बताए गए गुजरात चुनाव में पार्टी को मिलने वाली जीत के आंकड़ों को दोहराते रहे हैं लेकिन वे यह भी स्वीकार करते हैं कि इस बार का चुनाव पार्टी के सामने बहुत ही चुनौतीपूर्ण है।

इसे भी पढ़े :- इस कातिल हसीना ने पति, तीन बच्चों और एक भतीजे की हत्या

इसे भी पढ़े :- भूमाफिया ठेकेदार का गुर्गा गरीब आदिबासी की जमीन पर कर रहा दबंगाई से सड़क निर्माण की कोशिश

इन सभी बातों से तो यही लगता होता है कि कहीं न कहीं अमित शाह के दिल में भी कांग्रेस की गुजरात में बढ़ती लोकप्रिया को लेकर डर है। अकेले अमित शाह ही एेसे नहीं हैं जिन्हें चलते इंटरव्यू के दौरान गुस्सा अाया और वह शो छोड़कर चले गए। बीजेपी में एेसे बहुत से बड़े नेता है, जिनके साथ भी कुछ इसी तरह की घटना हुई। बात तब कि है जब नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री नहीं बने थे।

इसे भी पढ़े :- खुलेआम होता है देह व्यापार, रोकने के लिए क्यों नहीं उठाए कदम, HC में याचिका दायर

इसे भी पढ़े :- आरटीआई एक्टविस्ट *कुणाल शुक्ला* ने किया बड़ा खुलासा. *स्काई वॉक* के निर्माण पर की जा रही फ़िज़ूलख़र्ची

एक टीवी चैनल में चल रहे एक इंटरव्यू के दौरान जब उनसे गोदरा दंगों की जिम्मेदारी को लेकर सवाल किया गया तो वह सही से उत्तर नहीं दे पाए। उनसे पुछा गया थे कि क्या उन्हें गुजरात दंगों के लिए पछतावा नहीं है, उनके हाथ में सत्ता थी वह इन दंगों को रोक सकते थे। इसपर मोदी ने कहा कि उन्हें ब्रेक चाहिए। मोदी ने कहा कि यहां बुलाने के लिए धन्यवाद, दोस्ती बनी रहे तो बेहतर है और उन्होंने अागे इस बातचीत को जारी रखने को मना कर दिया।

इसी कड़ी में बीजेपी के प्रवक्ता संबित पात्रा भी शामिल हैं। NDTV में चल रही एक डिबेट में संबित ने चैनेल पर बीजेपी के खिलाफ होने के अारोप लगाए। जिसके बाद NDTV की पत्रकार ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखाया और डिबेट छोड़कर जाने के लिए कहा।

कोई जवाब दें