TOC NEWS

मध्य प्रदेश में भिंडबीजेपी की जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमतीसंजू गजराज जाटव की जनपद पंचायत कार्यालय में अविश्वास प्रस्ताव के द्वारा हुए मतदान में करारी हार हुई. मतदान में जनपद अध्यक्ष सहित 25 सदस्यों ने मतदान किया

जिसमें 22 मत अविश्वास के पक्ष में और 3 मत अध्यक्ष को मिले. जनपद अध्यक्ष संजू जाटव बीएसपी से अध्यक्ष बनने के बाद बीजेपी में शामिल हुई थीं. और वह अपने पति गजराज जाटव के कार्यशैली से विवादित थी.

इसे भी पढ़े :- प्रेमी संग तीन युवकों को गेस्‍ट हाऊस में देख पति ने खोया आपा, जानिए फिर क्या हुआ

इसे भी पढ़े :- इतिहास की 3 खूबसूरत स्त्रियां जिन्होंने इतिहास बदल दिया था

दरअसल भिंड जनपद अध्यक्ष श्रीमती संजू के पति गजराज जाटव की कार्यशैली और व्यवहार से नाराज 25 जनपद सदस्यों में से 19 सदस्य शपथ पत्र लेकर 17 नवंबर को कलेक्टर से मिलने कलेक्ट्रेट कार्यलय पहुँचे थे और कलेक्टर इलैया राजा टी के समक्ष सभी जनपद सदस्यों ने अध्य्क्ष के खिलाफ अविश्वास रखा.

इसे भी पढ़े :- इस कातिल हसीना ने पति, तीन बच्चों और एक भतीजे की हत्या

इसे भी पढ़े :- भूमाफिया ठेकेदार का गुर्गा गरीब आदिबासी की जमीन पर कर रहा दबंगाई से सड़क निर्माण की कोशिश

कलेक्टर ने सभी सदस्यों के बयान एव दस्तावेज चेक करने के बाद अविश्वास के दस्तावेजों को परीक्षण के बाद चुनाव की तारीख आज की लगाई गई थी. उसी के तहत आज मतदान हुआ जिसमे बीजेपी अध्यक्ष बुरी तरह पराजित हुई.

इसे भी पढ़े :- खुलेआम होता है देह व्यापार, रोकने के लिए क्यों नहीं उठाए कदम, HC में याचिका दायर

इसे भी पढ़े :- आरटीआई एक्टविस्ट *कुणाल शुक्ला* ने किया बड़ा खुलासा. *स्काई वॉक* के निर्माण पर की जा रही फ़िज़ूलख़र्ची

अविश्वास के बाद संजू जाटव ने कहा इसके पीक्षे बड़े नेताओं का हाथ है लेकिन नेताओ का नाम नही बताया. में अविश्वास प्रस्ताव को रोकने के लिए सीएम तक मिली और सभी ने मदद का भरोसा दिलाया था

कोई जवाब दें