शब्बीर शाह से ‘भारत माता की जय’ बुलवाने पर नाराज हुए जज, कहा यह टीवी स्टूडियो नहीं है

0
68
Spread the love

TOC NEWS // TIMES OF CRIME

मनी लॉन्ड्रिंग केस में गुरुवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में सुनवाई के दौरान एक हैरान करने वाला मामला सामने आया है। गुरुवार को मनी लॉन्ड्रिंग केस में अलगाववादी नेता शब्बीर शाह की दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी हुई। पेशी के बाद कोर्ट ने उनकी 6 दिन की रिमांड को और बढ़ा दिया। पहले भी कोर्ट द्वारा उसकी रिमांड को एक दिन के लिए बढ़ाया गया है।

इसे भी पढ़ें :- सामुदायिक स्वास्थ्य प्रमाण-पत्र कोर्स Certificate in Community Health (CCH)

इसे भी पढ़ें :- अभी-अभी : हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट में पकड़ा गया रेलवे का अधिकारी, 6 युवती सहित 14 गिरफ्तार

एनआईए द्वारा कोर्ट में लाए गए अलगाववादी नेता शब्बीर शाह पर कोर्ट में सुनवाई के दौरान जज का कहना है कि भारत का संविधान हर नागरिक पर लागू होता है, इस बात पर ईडी वकील का कहना है कि अगर भारत का संविधान हर नागरिक पर लागू होता है तो शब्बीर को भारत माता की जय बोलना होगा। लेकिन ईडी के वकील द्वारा बोली गई इस बात के कारण जज नाराज हो गए।

इसे भी पढ़ें :- फंस गए नीतीश के डिप्टी CM, सुमो ने फर्जी डिग्री से पत्नी को बनवाया प्रोफेसर!

इसे भी पढ़ें :- गैर मर्द के साथ गलत काम कर रही थी पत्नी, पति ने लिया देख और फिर…

ईडी के वकील द्वारा बोली गई बात से नाराज हुए जज ने उन्हें आगे बोलने से मना कर दिया और वकील से कहा कि यह कोई टीवी स्टूडियों नहीं है। आपको बता दें 25 जुलाई को श्रीनगर से शब्बीर को गिरफ्तार किया था। पहले कई बार शब्बीर को पेश होने के लिए तलब किया गया था लेकिन वह पेश नहीं हुआ था ऐसे में उसके खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया गया था।

इसे भी पढ़ें :- फर्जी पैन कार्ड केस में फंसे आजम के बेटे अब्दुल्ला, आरोप साबित होने पर जा सकती है विधायकी

इसे भी पढ़ें :- वीनस एमआरआई सेंटर में एमआरआई मशीन में महिला जली, हंगामा

जिसके बाद उसे दिल्ली लाया गया था। कोर्ट ने शब्बीर शाह को सात दिन की रिमांड पर भेज दिया था। जानकारी के लिए बता दें कि साल 2005 में पुलिस ने हवाला कारोबार से जुड़े एक शख्स को गिरफ्तार किया था। उस शख्स का नाम असलम वानी था। असलम वानी पर आरोप था कि उसने अलग अलग वक्त पर 2.25 करोड़ रुपए शब्बीर शाह को दिए थे।

इसे भी पढ़ें :- शरद की नई पार्टी बनाने की अटकलों के बीच जदयू का आया बड़ा बयान….

इसे भी पढ़ें :- 8 वीं कक्षा तक छात्रों को फेल ना करने की नीति खत्म करने को कैबिनेट की मंजूरी

कोई जवाब दें