सुपारी लेकर हत्या का षडयंत्र रचने वाले 06 आरोपी वारदात करने से पूर्व ही क्राईम ब्रांच की कार्यवाही में धराये

0
285
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ, जिला इंदौर // मनोज मिश्रा  : 9907289069

  • पेट्रोल पंप पर भी डकैती डालने की तैयारी में थे आरोपी।
  • आरोपीगणों से एक देशी पिस्टल, 01 कारतूस, देशी कट्टा, लोहे का फालिया, धारदार तलवार, बड़ा छुरा, लठ्ठ आदि हथियार बरामद।
  • गोली से मारने पर 10 लाख अथवा एक्सीडेण्ट हत्या करने पर 05 लाख रूपय में तय हुई थी सुपारी।
  • प्रापर्टी कारोबारी अपनी भाई की हत्या का बदला लेने की नियत से, हत्यारे को मरवाना चाहता था।
  • हत्या कर फरार होने पर रूपयों की आवश्यकता के मद्देनजर पेट्रोल पंप लूटने की फिराक में थी गिरोह।
  • रैकी कर, 02 बार एक्सीडेण्ट से मारने का विफल प्रयास कर चुके थे आरोपीगण।
  • थाना चंदननगर के नामचीन बदमाशो हबला तथा मुख्तैयार गिरोह को दी गई थी सुपारी।
  • आरोपीगण हैं सूचीबद्ध बदमाश, दर्जनां अपराध है पूर्व से ही पंजीबद्ध।
  • पकड़े गये आरोपियों में तीन आरोपी पूर्व मे भी कर चुके हैं हत्याएं।
  • सुपारी के लिये दी गई एडवांस राशि में से आरोपियों के कब्जे से 29800/- रुपये बरामद।

इंदौर. क्राईम ब्रांच इंदौर की टीम द्वारा आदतन, अपराध कारित करने वाले अपराधियों पर गोपनीय तरीके से सूक्ष्मता से निगरानी रखी जा रही है जिसमें टीम को मुखबिर तंत्र के माध्यम से सूचना मिली कि कुछ कुख्यात अपराधी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे हैं तथा वर्तमान में उनकी गतिविधियां संदिग्ध हैं जिसमें करीबन आधा दर्जन लोग, कम्पेल रोड पर गोपाल किसान सेवा केन्द्र पेट्रोल पंप के पीछे, हथियारों से लैस होकर बैठ कर वारदात करने की योजना बना रहे हैं।

क्राईम ब्रांच की टीम द्वारा उक्त प्राप्त सूचना पर थाना खुड़ैल पुलिस के साथ संयुक्त रूप से त्वरित कार्यवाही करते हुये मौके पर पहुंचकर घेराबंदी की गई जिसमें वहां मौजूद लोग पुलिस को देखकर भागने का प्रयास करने लगे जिन्हें पीछा कर पुलिस टीम ने धरबदोचा। पकड़े गये लोगों से नाम पता पूछने पर उन्होंनें अपने नाम (1) अबला उर्फ अब्दुल हुसेन पिता मो.सफी  उम्र 45 साल निवासी, 552 ई सेक्टर चंदन नगर इंदौर (2) असलम पिता अलीयार खान उम्र 40 साल निवासी 71 ई-सेक्टर नाले पार चंदन नगर इंदौर (3) रऊफ पिता बाबू खाँ उम्र 41 साल निवासी, बरगादी मस्जिद के पास डाक्टर कालोनी खजराना इंदौर (4) मुख्तियार उर्फ फटी पिता मो0 यूसुफ उम्र 42 साल निवासी – ई सेक्टर नाले पार चंदन नगर इंदौर (5) जितेन्द्र यादव पिता जयनारायण यादव उम्र 40 साल निवासी ग्राम बिहाड़िया देवगुराड़िया इंदौर एवं (6) अमजद पिता अनवर खान उम्र 35 साल निवासी 275 चन्दन नगर इन्दौर का होना बताये।

आरोपीगणों की मौके पर संदेह के आधार पर तलाशी ली गई जिसमें आरोपियों के कब्जे से  एक पिस्टल मय जिंदा कारतूस, एक देशी कट्टा मिला, एक लोहे का फालिया, एक तलवार,  धारधार छुरा तथा एक लठ्ठ बरामद हुआ।

आरोपीगणों से मौके पर की गई प्रांरभिक पूछताछ में ज्ञात हुआ कि उन्होंने पेट्रोल पंप लूटने की योजना बनाई थी उसी वारदात को अंजाम देने के लिये वे सभी संगनमत होकर पेट्रोल पंप पर डकैती डालने के लिये एकत्रित होकर मौके का इंतजार कर रहे थे। डकैती डालने की योजना के संदंर्भ में आरोपियों को पकड़कर पुलिस द्वारा अभिरक्षा में लिया जाकर उनके पास से बरामद अस्त्र-शस्त्र जप्त किये गये तथा आरेापियों के विरूद्ध थाना खुड़ैल में अपराध क्रमाँक 302/19 धारा 399, 402, 115, 118 भादवि 25, 27 आर्म्स  एक्ट का कायम किया गया था।

आरोपियों से की गई पूछताछ में यह विदित हुआ कि आरोपी हबला उर्फ अब्दुल हुसैन निवासी चंदननगर से आरोपी अमजद ने संपर्क किया था जिसने हबला को जितेन्द्र यादव निवासी ग्राम बिहड़िया थाना खुडैल से मिलवाया था। आरोपी जितेन्द्र ने हबला तथा अमजद को बताया कि उसके भाई दीपक यादव की दिनांक 13/05/2017 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जिसका बदला वह हत्यारों को मारकर लेना चाहता है।

हत्यारे आरेापी जेल मे निरूद्ध होने के कारण आरोपी जितेन्द्र अपने भाई की हत्या का बदला उससे नहीं ले पा रहा था इसलिये बदले की नियत से हत्यारों को मारने के लिये आरोपी जितेन्द्र पटेल के कहने पर आरोपी हबला तथा अमजद ने हामी भर दी थी जिसमें बतौर सुपारी 10 लाख रुपये का सौदा तय हुआ था। आरोपी जितेन्द्र ने आरोपी हबला को एक पिस्टल कारतूस सहित एक देशी कट्टा भी उपलब्ध कराया था।

पूछताछ में यह भी खुलासा हुआ कि बदले में हत्या गोली मारके यदि नहीं कर पाये तो वाहन से एक्सीडेंट करके मारा जायेगा जिसमें सुपारी राशि 10 लाख से घटकर 05 लाख रूपये होगी। हत्या की सुपारी के दौरान यह भी तय हुआ था कि पुलिस द्वारायदि आरोपीगण पकड़े जाते हैं तो भी कोर्ट से जमानत कराने तथा विचारण के दौरान का सारा खर्चा आरेापी जितेन्द्र ही वहन करेगा।

आरोपी जितेन्द्र ने आरेापी हबला तथा अमजद को 1.5 लाख रुपये एडवासं दे दिये थे जिसके बाद लगातार आरोपियों द्वारा रैकी की जाने लगी थी। आरोपी हबला ने पुलिस पूछताछ में खुलासा किया कि उसने अपना गिरोह बनाया जिसमें उसने अपने पूर्व परिचित थाना चंदननगर के रिकार्डशुदा बदमाशों असलम, मुख्तैयार उर्फ फटी तथा रउफ को शामिल किया।

आरोपी हबला, की गिरोह का सदस्य रउफ ड्रायवरी करता था जोकि गिरोह के ही सदस्य असलम का रिश्ते में साला भी है। आरोपी असलम ने आरेपी रउफ को 10 हजार रुपये देकर एक्सीडेंट करके हत्या करने के उद्देश्य से एक वाहन मंगवाया था।

आरोपी हबला ने आरोपी जितेन्द्र से प्राप्त किये गये 1.5 लाख रुपये गिरोह के सभी साथीदारानों को बांट दिये थे तथा खुड़ैंल क्षेत्र में पेट्रोल पंप पर मोटी रकम होने की सूचना होने पर वे लोग रात को पेट्रोल पंप पर डकैती डालने के बाद जितेन्द्र के भाई दीपक की हत्या बदले उसके कहने पर किसी की हत्या करने वाले थे। योजना इस प्रकार थी कि, डकैती में लूटी जाने वाली रकम लेकर वे लोग हत्या करने के बाद फरार होगें। इससे पहले पुलिस टीम को सूचना प्राप्त होने पर सभी आरेापियों को गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी हबला इस गिरोह का सरगना है जिस पर पूर्व में हत्या, हत्या का प्रयास, मारपीट , चाकूबाजी, रासुका, जिला बदर,  सहित करीबन 30 अपराध पंजीबध्द हैं।

आरोपी जितेन्द्र यादव निवासी ग्राम बिहाड़िया खुडैल ने पूछताछ में बताया कि वह खेती बाडी का काम करता है तथा वर्तमान मे सांई धाम नाम से ग्राम बिहाडिया मे रहवासी कॉलोनी का निर्माण कर रहा है।  उसके भाई दीपक यादव की हत्या दिनाँक 13.5.2017 को कपिल पटेल, ने विवाद में अपने साथियों के साथ मिलकर गोली मारकर कर दी थी, जिसके परिपेक्ष्य में थाना खुडैल मे अपराध क्रमाँक 143/2017 धारा 302, 34 भादवि का कायम हुआ था। अपने भाई की हत्या का बदला लेने की नियत से उसके आरोपियों को मरवाना चाहता था जिसके लिये उसने आरेापी अमजद व आरोपी हबला को 10 लाख रुपये मे हत्या करने की सुपारी दी थी तथा एडवांस राशि 1.5 लाख रुपये भी हबला को प्रदाय कर दी थी।

आरोपी असलम ने पूछताछ में बताया कि उसके उपर थाना चंदननगर मे हत्या, हत्या का प्रयास, चोरी, डकैती की योजना, चाकूबाजी जैसे दर्जन भर से अधिक अपराध पंजीबध्द हैं। आरोपी असलम ने बताया कि एडवांस राशि में से आरोपी हबला ने उसे 30 हजार रुपये भी दिये थे। आरोपी असलम ने आरोपी अमजद व मुख्तैयार के साथ तूफान पटेल की रैकी की थी जिसने वाहन से एक्सीडेण्ट कर मारने का भी प्रयास किया था। असलम का साला रउफ पेशे से ड्रायवर है उसके पास गाडियाँ भी रहती है इसलिये उसे भी योजना मे असलम ने शामिल कर लिया था।

आरोपी अमजद ने पूछताछ पर बताया कि वह भी पेशे से ड्रायवर है, सबसे पहले जितेन्द्र यादव ने ही उसे सुपारी लेकर मारने के लिये कहा था जिस पर आरेापी अमजद ने आरोपी हबला को आरोपी जितेन्द्र यादव से मिलवाया था तथा सुपारी तय करायी थी। आरोपी ने बताया कि उसे एडवांस राशि में से 50 हजार रुपये मिलेे थे।

आरोपी मुख्तैयार उर्फ फटी ने पूछताछ पर बताया की उसके उपर थाना चंदननगर मे दो दर्जन से अधिक अपराध, हत्या, हत्या का प्रयास, चोरी, डकैती, चाकूबाजी, लूट, मारपीट, आर्म्स आदि के पंजीबध्द है। आरोपी ने बताया कि उसने हबला के साथ मिलकर उसने कई अपराध कारित किये हैं इसलिये हबला द्वारा ली गई सुपारी में वह शामिल हो गया था। आरोपी मुख्तैयार ने 10 हजार रुपये भी लिये थे।

डकैती की योजना बना रहे गिरोह के संबंध में सूचना मिलने पर क्राईम ब्रांच की टीम ने थाना खुड़ैल पुलिस के साथ संयुक्त कार्यवाही करते हुये कुल उपर उल्लेखित 06 आरोपियों को मय असलहा गिरफ्तार किया जिनसे पुलिस टीम द्वारा की गई पूछताछ में यह खुलासा हुआ कि वे लोग गले दिन किसी व्यक्ति की हत्या करने वाले थे जिसकी हत्या की सुपारी वे लोग 10 लाख रू में तय कर चुके थे हत्या करने के बाद फरारी के दौरान रूपयों की आवश्यकता होने पर वे लोग पेट्रोल पंप पर डकैती डालने के लिये एकत्रित हुये थे।

क्राईम ब्राँच की टीम द्वारा अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक इंदौर झोन श्री वरूण कपूर महोदय तथा वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन एवं दिशा निर्देशानुसार अपने आसूचना संकलन के माध्यम से डकैती की योजना बनाते हुये 06 आरोपियों को रंगेहाथो हथियार सहित गिरफ्तार करने मे सफलता हासिल हुई है जिससे बड़ी वारदात को कारित होने से रोका गया साथ ही सुपारी लेकर हत्या करने के षणयंत्र को भी पुलिस द्वारा विफल किया गया। पुलिस टीम व्दारा जाने से मारने के लिये तय की गई सुपारी की एडवांस राशि में से आरोपीगणों के कब्जे से 29,800 रुपये भी बरामद किये गये हैं।

कोई जवाब दें