संचार क्रांति के दौर में गृहिणी महिलाएं भी सीख रही कम्प्यूटर चलाना

0
277
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम ई-साक्षरता का हो रहा सफलता पूर्वक संचालन
पदमा, सुमन, वीणा, प्रमिला अब सीख गयी है फोल्डर फाईल और ईमेल आईडी बनाना

रायगढ़, रायगढ़ जिले में मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम ई साक्षरता से जुड़कर महिलाएं कम्प्यूटर चलाना सीख रही हैं। संचार क्रान्ति के इस दौर में छत्तीसगढ़ और अधिक डिजिटल साक्षर बने और महिलाएं अपनी कार्य क्षमता बेहतर कर सके इसी उद्देश्य को लेकर निरन्तर महिलाओं को ई साक्षर बनाया जा रहा है। इसका सार्थक लाभ यह हो रहा है कि महिलाएं कम्प्यूटर चलाना सीख रही हैं।

कलेक्टर श्री यशवंत कुमार के मार्गदर्शन में जिला लोक शिक्षा समिति रायगढ़ द्वारा गृहिणी महिलाएं एवं युवतियां को 30 दिनों का कम्प्यूटर की बैसिक जानकारी दी जा रही है। रायगढ़ बंगाली कालोनी निवासी श्रीमती वीणा साहू कम्प्यूटर चलाना सीख रही हैं। उन्हें ईमेल आईडी बनाना फाईल बनना और फोल्डर बनाना सीख गई । अब उनके चेहरे पर खुशी साफ झलक रही है। छत्तीसगढ़ शासन और जिला प्रशासन को धन्यवाद भी दे रही है।

इसे भी पढ़ें :- मां-बेटी मिलकर चला रही थीं सेक्स रैकेट, वाट्सएप पर लड़कियों की फोटो भेज तय करती थीं ग्राहक, पर्दाफाश

विनोबा नगर निवासी सुमन पटेल ने प्रसन्नता जाहिर करते हुए इसे शासन की सार्थक पहल बताया। बोईदादर निवासी श्रीमती पदमा वस्त्रकार ने कहा कि पहले कम्प्यूटर का माउस चलाना नहीं आता था। लेकिन ई-साक्षरता से जुड़कर कम्प्यूटर के पार्ट और जरुरी जानकारी हो गई है और काफी अच्छा लग रहा है। प्रमिला पांडेय ने बताया कि आधुनिक तकनीकी की जानकारी होने से मोबाइल से बहुत जानकारी मिल जाती है। उन्होंने मुख्यमंत्री शहरी कार्यात्मक साक्षरता कार्यक्रम की सराहना की।

इसे भी पढ़ें :- हनीट्रैप में MP के BJP नेता का वायरल वीडियो मचा रहा तांडव, श्वेता स्वपनिल जैन के साथ पूर्व मंत्री लक्ष्मीकांत शर्मा मना रहे थे रंगरेलियां

उल्लेखनीय है कि जिला परियोजना अधिकारी श्री डी के वर्मा और सहायक परियोजना अधिकारी श्री एस के प्रधान के दिशा-निर्देश में ई एजुकेटर श्रीमती सरस्वती सोनी, भोला यादव के द्वारा कम्प्यूटर प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 9 मार्च 2019 से अब तक चार बेच का संचालन किया गया है। 125 पंजीकृत में मूल्यांकन में 95 महिलाओं ने सफलता हासिल कर लिए हैं। साथ ही महिलाओं को अनेक गतिविधियों में शामिल करके उनका कौशल विकास किया जा रहा है। इनमें व्यक्ति विकास, जीवन मूल्य, नागरिक कर्तव्य, आत्म रक्षा, विधिक साक्षरता आदि गतिविधियां शामिल हैं। साथ ही कम्प्यूटर परिचय, मोबाइल परिचय, डिजिटल डिवाइस चलाना, फाईल फोल्डर बनाना, इंटरनेट चलाना सिखाया जा रहा है।

इसे भी पढ़ें :- राजीव कुमार जैन अधीक्षण अभियंता भोपाल विकास प्राधिकरण के काले कारनामे

वर्तमान में प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले महिलाओंं में मीनू यादव, नीलिमा प्रधान, सविता यादव, वीणा साहू, देवमति यादव, सीमा मिश्रा, कुन्ती मालाकार, कुसुमलता चतुर्वेदी, उर्वशी मालाकार, संस्कृति तिवारी, शालिनी चौहान, सुषमा यादव, काजल डनसेना, प्रतिमा, परिधि वस्त्रकार, पदमा वस्त्रकार, पदमिनी यादव, रजनी यादव, उत्तरा देवी यादव, प्रमिला पाण्डेय, स्वीकृति तिवारी,खेल कुमारी और रूकमणी मालाकार शामिल है।

कोई जवाब दें