शरारती तत्वों ने OLX पर पीएम मोदी का कार्यालय बेचने का विज्ञापन देने के आरोप में 4 गिरफ्तार, पुलिस के उड़े होश

0
333
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

 

वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सबसे पहले ओएलएक्स से विज्ञापन को हटवाया.

Untitled-design-7-6~1

बंटी-बबली फिल्म में आपने ताजमहल-लालकिला को बिकते देखे होगा. नटवरलाल की धोखाधड़ियों में कई भवनों को बेचने की बात सुनी होगी, संसद की बोली, राष्ट्रपति भवन को बेचने के नाम पर फ्रॉड का पता होगा. ऐसा ही एक और मामला सामने आया है, यह PM Modi से जुड़ा हुआ है. दरअसल ठीक ऐसी ही धोखाधड़ी की हरकत की कोशिश PM Modi के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से सामने आई है.
वाराणसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में बना नया संसदीय कार्यालय एक बार फिर चर्चा में है. इस बार वाराणसी की गुरुधाम कॉलोनी में स्थित पीएम मोदी के कार्यालय को किसी शरारती तत्त्व ने बिक्री के लिए ऑनलाइन खरीदो बेचो साइट ओएलएक्स पर बिक्री के लिए डाल दिया. इस मामले में पुलिस ने अबतक चार लोगों को गिरफ्तार किया है. वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक के मुताबिक, सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है.

बता दें शरारती तत्वों ने गुरुधाम कॉलोनी स्थित पीएमओ कार्यालय को वाणिज्य वेबसाइट ओएलएक्स पर बिक्री के लिए डाल दिया था. जिसके बाद हड़कंप मच गया. इस पर पुलिस ने फौरी तौर पर एक्शन लेते हुए सबसे पहले ओ एलएक्स से इस विज्ञापन को हटवाया उसके बाद ओएलएक्स को पत्र लिखकर विज्ञापन डालने वालों की सूचना मांगी. सूचना के आधार पर पुलिस ने गुरुवार देर रात दबिश देकर चार लोगों को गिरफ्तार किया है. ओएलएक्स पर संसदीय जनसंपर्क कार्यालय की कीमत करीब 7:30 करोड़ रुपए लगाई गई थी.

ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ओएलएक्स के मुताबिक किसी लक्ष्मीकांत ओझा नाम के व्यक्ति ने यह विज्ञापन पोस्ट किया था. लेकिन यह पूरा मामला फर्जी नाम से किसी शरारत का सामने आया. इस पोस्ट में कार्यालय का पता कृष्ण देव नगर बताया गया था. जबकि संसदीय कार्यालय वाराणसी के गुरुधाम कॉलोनी में है. विज्ञापन में संसदीय कार्यालय के करीब 4:00 तस्वीरें भी पोस्ट की गई थी. भवन का जो इस्पेस एरिया करीब 65 फीट बताया गया.

आरोपियों से पूछताछ जारी- एसएसपी

पीएम के जनसंपर्क कार्यालय के प्रभारी शिवचरण पाठक ने इसकी सूचना पुलिस को देते हुए कार्यवाही की मांग की थी. इसके बाद वाराणसी के एसएसपी अमित पाठक ने मामले को गंभीरता से लेते हुए सबसे पहले ओएलएक्स से विज्ञापन को हटवाया उसके बाद कई टीमें गठित कर उन शरारती तत्वों की गिरफ्तारी के लिए दबिश देने का निर्देश दिया. फिलहाल 4 लोगों को हिरासत में लिया गया है. पुलिस के मुताबिक इनमें से एक व्यक्ति है और इन सभी से पूछताछ की जा रही है.

 

कोई जवाब दें