व्यापारी के बच्चे का सरेराह अपहरण, शहर में मचा हड़कंप, अपहरणकर्ताओं का कोई सुराग नहीं

0
343
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

देर शाम करबला स्थित भाजपा कार्यालय के सामने के सामने वाली गली से एक मासूम बच्चे का अपहरण कर लिया गया सिटी कोतवाली पुलिस के अनुसार करबला स्थित भाजपा कार्यालय के सामने ही रहने वाले विवेक सराफ बर्तन  व्यावसायि है उनकी शिव टॉकीज चौक पर महेश मेटल नाम की दुकान है उनके दो बच्चे हैं ऐश्वर्या सराफ बड़ी लड़की और छोटा लड़का विराट उम्र 6वर्ष  है।

विराट ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल में कक्षा पहली का छात्र है रोज की तरह शनिवार की शाम करीब 7:30 बजे वह अपने घर के सामने गली में छोटे-छोटे बच्चों के साथ कबड्डी खेल रहा था तभी बिना नंबर के वैगनआर कार से दो अज्ञात युवक पहुंचे गाड़ी  आगे खड़ी करके बाहर निकले और बच्चे के पास जाकर उसका नाम पिता और उसके बड़े  पिता का नाम पूछने पर विराट ने जैसे ही  जानकारी दी और तो अज्ञात युवक ने विराट को  गाड़ी में बैठा लिया और फरार हो गये ।

छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर में एक मासूम बच्चे के अपहरण को 20 घंटों से ज्यादा हो गया है. लेकिन अब तक पुलिस के हाथ खाली हैं. सीसीटीवी के फुटेज और आस-पड़ोस के लोगों से घंटो पूछताछ करने के बाद भी अपहरणकर्ताओं का कोई सुराग नहीं मिला है.

शनिवार की देर शाम बीजेपी कार्यालय के सामने बर्तन व्यापारी विवेक सराफ का एकलौता बेटा विराट सराफ (6) जो ब्रिलियंट पब्लिक स्कूल में कक्षा पहली का छात्र है. शाम करीब 7 बजे वह मोहल्ले में रहने वाले बच्चों के साथ रोज की तरह कबड्डी खेलने गया था. रात करीब 8 बजे कबड्डी खेलते समय चेहरे में गमछा लपेटा युवक उसके पास पहुंचा और नाम-पता पूछने के बाद उसे कार में बिठा कर ले गया. घटना के बाद विराट के साथ कबड्डी खेल रहे बच्चों ने इसकी जानकारी विराट के परिजनों को दी.

बच्चे के अपहरण की खबर से क्षेत्र में हड़कंप मच गया. राज को ही परिजनों और मोहल्लेवासियों ने घटना की सूचना पुलिस को दी. कोतवाली थाना प्रभारी अंजू चेलक ने बताया कि अपहरण की सूचना मिलते ही शहर के सभी प्रमुख चौक-चौराहों और सड़कों पर नाकेबंदी कर दी गई थी, देर रात तक चेकिंग अभियान चलती रही, लेकिन बच्चे का अब तक कुछ भी पता नहीं चला.

रविवार की सुबह पुलिस की टीम घटनास्थल पर पहुंची और परिवार के सदस्यों से अलग-अलग पूछताछ की गई. इस दौरान आस पड़ोस के लोगों से भी पूछताछ की गई और विशेष रूप से उन बच्चों से जो 7 वर्षीय विराट सराफ के साथ खेल रहे थे, उनसे भी पूछताछ की गई. इस पूरे मामले में चौंकाने वाला तथ्य यह है कि अपहरणकर्ताओं ने विराट के बड़े भाई का नाम लेकर बच्चे से पूछताछ की थी. पुलिस ने बताया कि अपहरणकर्ता ने अब तक फिरौती के लिए फोन नहीं किया है. जाहिर सी बात है कि अपहरणकर्ता फिरौती नहीं मांगना चाहते हैं.

ऐसे में संदेह है कि किसी पुरानी रंजिश के कारण बच्चे का अपहरण किया गया होगा. हालांकि पुलिस सभी बिंदुओं पर अलग-अलग जांच कर रही है. फिलहाल पुलिस के पास जो तथ्य मौजूद है उससे पता चलता है कि एक सफेद वैगनआर कार में बच्चे का अपहरण हुआ है. कार के भीतर दो लोग मौजूद थे जिन्होंने अपने चेहरे को कपड़े से ढका हुआ था. विराट सराफ के साथ खेल रहे बच्चों ने बताया कि उनमें से एक आदमी के हाथ में पंजाबी कड़ा था. फिलहाल पुलिस ने परिवार के सभी मोबाइल फोन को सर्विलांस में लेकर रखा हुआ है. इस पूरे मामले में पुलिस पूरी गंभीरता दिखा रही है.

कोई जवाब दें