वीडियो में क़ैद देखेँ : प्रशासन के नाक के नीचे करोड़ों रुपये का काला जहर, कोल ट्रांसपोटर्स कर रहे मिलावट खोरी का गंदा खेल, रात के अंधेरे में बॉडी गाड़ियों से आता है मलवा (कार्बन)

0
925
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 

  • मिलावट को हो रहा कारोबार, रात के अंधेरे में बॉडी गाड़ियों से आता है कोल चूर्ण मलवा (कार्बन)
  • जबर जस्त प्रदूषण से जन-जीवन अस्त व्यस्त
  • खुले में फ़ैल रहा हैं जहर, जहरीले गैस का चेंबर बनता जा रहा पूरा गावँ
सिंगरौली बरगवां स्थित रेलवे में बना प्राइवेट कोलयार्ड में कोल ट्रांसपोर्टर्स के मनमानी एवं प्रदूषण फैलाने का खुला खेल का सिलसिला थमा ही नहीं था कि करोड़ों जिंदगीओं से खेलते हुई जला हुआ कोयले का राख यानि दूषित कार्वन डस्ट को कोयले में मिलाने के खेल खेला जाकर मिलावट के जहर से करोड़ों का कायदा कमाने का गेम शुरू हो गया हैं | 

जिससे कोलयार्ड के आस पास हवा में जहरीले हवा से रहवासी परेशान हो गए | दिलचस्प बात यह हैं कि पुरे मामले में मैदानी नुमाइंदे को हालात के बारे में पूरी जानकारी होने के वावजूद पुरे जिला प्रशासन को गुमराह किया जा रहा हैं |

कोयले में मिलावट का खेल जारी

बरगवां स्थित कोलयार्ड में जिले में स्थित भारत की मिनी रत्न कंपनी नार्दन कोलफील्ड्स( कोल इंडिया) के कई खदानें हैं जिनके परिवहन के लिए सुलभ रेल परिवहन हेतु कॉलयार्ड में कोयला लाकर किया जाता है परंतु अब आये दिन रात के अंधेरे में अन्य राज्यों से कंपनियों से निकले अधजले कोयले जिसे सामान्य भाषा में छाई भी कहा जाता हैं बड़ी गाड़ियों से लाया जाता है उसे कई बड़ी मशीनों के जरिए कोयले में मिलाने का खेल खेला जा रहा है

कैसे पहुंच रही है अधजले कोयले की खेप

अब सवाल उठता है कि जब जिले में ही अपार कोयला का भंडार है और कोल इंडिया द्वारा कोयले की खनन कर अन्य राज्यों की कई कंपनियों में सप्लाई कर रही है तो फिर कोयले में अन्य राज्यों से कंपनियों के अधजले कोयले की मिलावट का खेल कैसे और किसके कहने पर किया जा रहा हैं और इतना ज्यादा भारी मात्रा में अधजले कोयला कोलयार्ड में आता ही कैसे हैं जो मिलावट हो रही है यह क्यों |

प्रशासन के नाक के नीचे हो रहा मिलावट का खेल

कोलयार्ड में कोयले में अधजले कोयला के मिलावट का खेल कोल ट्रांसपोर्टरों के इशारों पर अक्सर रात के अंधेरे में आये कई बड़ी बाड़ी गाड़ियों के जरिए की जा रही है यह गंभीर मसला है जो प्रशासन के नाक के नीचे हो रहा है अब सवाल उठता है कि कोयले की सप्लाई में मिलावट के खेल के बारे में क्या कोयला लेने वाली कम्पनीओं या फिर सप्लाई करने वाली कोल इंडिया को है या फिर माजरा कोल ट्रांसपोर्टरों के मनमानी का स्वरुप मात्र हैं

इसे भी पढ़ें :- माशूका के साथ पत्नी ने पकड़ा पति को, पति और माशूका की पत्नी और साली ने की जमकर धुनाई, वीडियो हो रहा वायरल

हवा हुई खतरनाक, सांस लेना हुआ कठिन

पहले ही खुले स्थल पर खुला कोलयार्ड की स्थापना कराकर कोलयार्ड से आम जनता मुसीबत में थी किंतु अब मिलावट के लिए बाहर राज्यों से लाई जा रही अधजले कोयले से निकलने वाली जहरीली गैस से हवा बेहद खतरनाक हो रही है कोलयार्ड के आस पास के क्षेत्र में साँस लेना दुश्वार हो गया है जो मिलावटी खेल से यहा की हवा पूरे गांव के बाद कस्बे में फैल सकती है

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड नींद से जागे

बरगवां कस्बे में लगातार कोलयार्ड के बढ़ते प्रदूषण का दायरा और भी भयावह को रही है जो अब आम जन के लिए जानलेवा साबित हो सकता है और हवा में जहरीले गैस से पशु पक्षियों के जीवन संकट में है समय रहते प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारी जागे और मौजूदा हालत पर निरीक्षण कर कार्यवाही करे अन्यथा स्थित सम्हालने में काफी देर हो जायेगी

इसे भी पढ़ें :- मवेसियो को खुला छोड़ने वाले मालिको के उपर जुर्माने कार्यवाही करे प्रारंभ : आयुक्त नगर निगम

सरचढ़ कर बोल रहा जंगलराज कोलयार्ड

बरगवां में कोयला में मिलावट का गंदा खेल सरचढ़ कर बोल रहा है बताते चलें कि प्राइवेट कोल ट्रांसपोर्टर केवल परियोजना से आनेवाने कोयले को रेल गाड़ियों में लादने का काम दिया गया है इसके बाद रेल्वे अपके जरिये कोयले को कंपनियों तक पहुंचाया जाता है पर आए दिन भारी भरकम बड़ी बॉडी गाड़ियों से आने वाले अधजले कोयले की मिलावट बड़ी कहानी के साथ रहस्यमय कारोबार की ओर इंगत करता हैं जो करोड़ों का अवैध कोयले में मिलावट का खेल खेल कर किया जा रहा हैं

तो फिर कोयले की हो रही तस्करी

बरगवां कोलयार्ड में कोल इंडिया द्वारा इतना ही कोयला भेजा जाता है जितना कंपनियों को सप्लाई देने की तय मात्रा होती है तो फिर कोलयार्ड में आए दिन रात के अंधेरों में दर्जनों बड़ी बाड़ी गाड़ियों से अधजले कोयले मिलावट के लिए आते हैं वह कहां और किस माध्यम से खपाया या बढ़त भेजा जाता है क्या ऊपर ही ऊपर कोयला गायब करने का खेल करके पूर्ति करने के लिए मिलावट का अवैध खेल खेला जा रहा है जो अवैध कारोबार की ओर इंगत करता है

इसे भी पढ़ें :- मप्र लोकायुक्त का छापा, रिश्वतखोर जिला खाद्य विभाग का बाबू रंगेहाथों धरा गया

कहां से आ रहा है कोयले की मिलावट का सामान

बरगवां कॉलयार्ड में कोयले में मिलावट के लिए बकायदा यू0पी0, छत्तीसगढ़ की सीमाओं से होते हुए बकायदा मोरवा एवं कोतवाली पुलिस की चेक पोस्ट होकर वाहन आते हैं | जिसमें उपरोक्त मिलावट की सामग्री का रॉयल्टी एवं अन्य जरूरी दस्तावेज नहीं होता, तो सवाल उठता है अन्य राज्यों से आने वाले एक साथ कई वाहनों के जरिए बरगवां कोलयार्ड का मलवा पहुच रहा हैं तो बरगवां पुलिस की भूमिका भी दिखती हैं

कॉल यार्ड में हो रहा करोड़ों की खपलेवाजी – संजय नामदेव

इस पूरे घटनाक्रम की जानकारी जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक, खनिज अधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के क्षेत्रीय अधिकारी को जारी पत्र में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के राज्य परिषद के नेता कॉ. संजय नामदेव देते हुए बताया कि कुछ दिनों से कोलयार्ड से कोयला चोरी का कारनामा हो रहा है तथा इस चोरी के कोयला की भरपायी कंपनियों के अधजले कोयले, पत्थर के चूर्ण एवं प्रदूषित कार्बन मिलाये जा रहे हैं | जिससे आस-पास के आम लोग गंभीर बीमारी की जकड़ में होते जा रहे हैं | कोलयार्ड में ट्रांसपोर्टर अवैध कमाई के चक्कर में आम जन-मानस की जान खतरे में डाल रहे हैं, जो गंभीर है | इस पूरे मामले पर जांच कर कड़ी कार्रवाई की मांग भी की |

आपका कहना हैं

मैं अभी नया आया हूँ मिलावट के मामले पर मैं कुछ नहीं कर सकता, यदि प्रदूषण फैलाया जा रहा हैं तो जाँच कराकर कार्यवाही की जायेगी – एस0पी0 झा क्षेत्रीय अधिकारी, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड सिंगरौली

कोई जवाब दें