विभिन्न समस्याओं को लेकर मध्यान भोजन रसोईया संघर्ष समिति ने मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को सौंपी ज्ञापन

0
347
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ सिंगरौली  // नीरज गुप्ता  7771822877 

सिंगरौली। मानदेय बढ़ोतरी के साथ सुरक्षा सुविधा समेत विभिन्न समस्याओं को लेकर कामरेड उर्मिला के अगुवाई में मध्यान्ह भोजन एवं रसोईया संघर्ष समिति ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा महिलाओं ने मांग किया है. 

कि पिछले दस वर्षों से नियुक्त मध्यान भोजन बनाने वाली महिलाओं द्वारा दस से चार बजे तक कठोर परिश्रम करने के बाद उन्हें मात्र दो हजार मिलता है जिसे बढ़ाकर दस हजार करते हुए उन्हें चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का दर्जा दिया जाए, महिलाओं ने माग किया है कि सभी रसोईयाओ पाँच लख का बीमा कराते हुए सामाजिक सुरक्षा का प्रावधान लागू किया जाए, मध्यान भोजन हेतु दी जाने वाली नगद राशि प्रति छात्र माध्यमिक प्राथमिक विद्यालयों को दी जा रही राशि बहुत कम है

इसे भी पढ़ें :- मां करती थी संस्कारी रोल, बेटी ने फिल्मों मे आते ही किसिंग सीन देना शुरू कर दिया

माध्यमिक 20 रुपए प्राथमिक ₹15 प्रतिदिन प्रति छात्र किया जाए, विद्यालयों में रसोईया का कर्मचारी पंजी संधारित करते हुए उपस्थिति कार्य के प्रति कार्य कुशलता प्रमाण पत्र वितरित कराया जाए, महिला बाल विकास से संचालित साझा चूल्हा का रसोइया मानदेय समूह के खाते में जाना गलत है रसोईया के खाते में भुगतान कराया जाए, सभी रसोइयों को गैस व किचन ड्रेस नहीं मिला है

तत्काल उपलब्ध कराया जाए, रसोईया से विकासखंड समन्वयक चितरंगी द्वारा समूह संचालक के माध्यम से अवैध वसूली कराया जाना गलत है वसूली बंद कराया जाए, कुछ विद्यालयों में मध्यान्ह ना पकाने वाली महिलाओं के खाते में मानदेय भुगतान हो रहा है नियम अनुसार कार्य करने वाली रसोईया के खाते में भुगतान कराया जाए, ज्ञापन में लेख है

इसे भी पढ़ें :- शिवराज सिंह के खिलाफ एफआईआर के निर्देश

शासकीय प्राथमिक विद्यालय लोटान संकुल करैला में नियुक्त रसोईया राजकुमारी रजक से रामसागर बैस द्वारा ₹2000 अवैध मांगा गया था ना देने पर नाम काट दिया गया जबकि महिला आज भी मध्यान्ह बनाने का कार्य कर रही है रसोईया का नाम जुड़वा जून माह से आज दिनांक तक का मानदेय भुगतान कराते हुए दोषी के प्रति एफ आई आर करा उचित कार्यवाही की जाए,

इसे भी पढ़ें :- स्तनपान और स्वच्छता जागरूकता के लिए एनसीएल ने लगाया जागरूकता शिविर, 250 महिलाओं एवं बच्चों को स्वच्छता किट और कपड़े के थैले बांटे

साथ ही बसों में आरक्षित महिला सीट चिन्हित कराते हुए आदेशित किया जाए कि महिला के पहुंचने पर पुरुषों द्वारा चिन्हित सीट बिना मांगे छोड़ दिया जाए ज्ञापन देने में मुख्य रूप से आसा सरोज कुसुम कली सुशीला राजकुमारी फूलमती सबिता कलेश्वरी राजकुमारी रजवंती रामरती तिजउआ चंपा मनबसिया प्रमिला सीता कली अमरावती बिंदु सुनीता मीना रामकली सहित सैकड़ों महिला मौजूद रहीं।

कोई जवाब दें