लिटिल चैम्प में हाई स्कूल का रिजल्ट शत्-प्रतिशत, सभी छात्र प्रथम श्रेणी

0
947
Spread the love

ANI NEWS INDIA @ http://aninewsindia.com

बैतूल संवाददाता // अशोक झरबड़े  : 9424554933

बैतूल। लिटिल चैम्प पब्लिक स्कूल मानस नगर में इस शिक्षा सत्र में परीक्षा परिणाम एतिहासिक रहा। यहां हाइस्कूल रिजल्ट शत्-प्रतिशत् रहा है और सभी छात्र प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण हुए, जिसमें से 9 छात्रों ने मैरिट में अपनी जगह बनाई है। वहीं एक छात्रा ने 94.6 प्रतिशत के साथ शाला में टॉप किया है।
स्कूल के प्राचार्य भरत सूर्यवंशी ने बताया कि हाइस्कूल परीक्षा में जिस तरह का परीक्षा परिणाम आया है, यह अपने आप में एक उल्लेखनीय रिजल्ट है और जिले के अशासकीय स्कूलों में यह रिजल्ट एक मिशाल है। उन्होंने बताया कि उनके यहां हाइस्कूल में 19 छात्र थे, जिसमें से 9 ने मैरिट लिस्ट में स्थान बनाया है और इसमें भी पारूल डढोरे ने 94.6 प्रतिशत हासिल कर शाला नाम जिले में रोशन किया है। उनका कहना है कि हमारे स्कूल की शैक्षणिक गुणवत्ता और अनुशासन का ही परिणाम है कि हमारे यहां रिजल्ट शत्-प्रतिशत् है। उन्होंने स्कूल संचालकों के कुशल मार्गदर्शन को भी सफलता का एक बड़ा कारण बताया है।
Parul Dadhore
Parul Dadhore

आईएएस बनना चाहती है पारूल

छात्रा पारूल डढोरे ने 500 में से 473 अंक हासिल किए। इस तरह से उनका 94.6 फीसदी रहा। उनका कहना है कि शिक्षकों के मार्ग दर्शन और अभिभावकों के प्रोत्साहन से वे बेहतर रिजल्ट ला पाई। उनका कहना है कि वे भविष्य में आईएएस बनना चाहती है और आगे का एजुकेशन मैथ्स, साइंस से पूरा करेगी।
Subhangi Koushik
Subhangi Koushik

शुभांगी को बनना है डॉक्टर

शुभांगी कौशिक जिन्होंने कक्षा 10वीं में 500 से 452 अंक हासिल किए है और उनका रिजल्ट 90.4 फीसदी रहा। वे भी अब बायो साइंस से आगे पढ़ाई करेगी और उनका प्रयास है कि वे डॉक्टर बनकर लोगों की सेवा करे। उन्होंने अपनी सफलता के लिए माता-पिता और स्कूल के शिक्षकों को श्रेय दिया है।
Ditik Pawar
Ditik Pawar

आईपीएस बनना चाहता है दितिक

लिटिल चैम्प स्कूल के छात्र दितिक पंवार ने 500 में से 441 अंक हासिल किए है, जो करीब 90 फीसदी है।
दितिक का कहना है कि उनकी सफलता का श्रेय शिक्षकों और अभिभावकों को है।
वे भविष्य में आईपीएस बनना चाहते है।

कोई जवाब दें