रोजगार दिलाने के बहाने नवयुवतियों को दूसरे राज्यों में ले जाकर शारीरिक शोषण और ऐसा घृर्णित कार्य करने वाला गिरोह पकड़ाया

0
480
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

बालाघाट // आनंद ताम्रकार 

बालाघाट. जिले में रोजगार दिलवाने के बहाने नवयुवतियों को अन्य राज्यों में ले जाने तथा उन्हें बेचने के मामले में जांच कर रही बालाघाट पुलिस ने इस मामले में पकडे 7 आरोपियों को गिरफतार किया है। 20 मई को इस तरह के मामले में इसी गिरोह से जुड़े 2 आरोपी एवं पूर्व के मामले में एक आरोपी को गिरफतार किया है। 

कोतवाली बालाघाट पुलिस ने गुमशुदा हुई एक युवती को कोटा राजस्थान बरामद किया गया है  उसने पुलिस को बताया की उसे केटरिंग में रोजगार दिलाने के बहाने उसे बेबी सिडाम वारासिनवी से गोदिया लेकर गई जहां संगीता इनवाती और प्रदीप हनवत की मदद से बेबी सिडाम के घर पर उसे बंधक बनाकर रखा गया।

इसके बाद तीनों ने मिलकर कोटा प्रेमनगर निवासी पूजा काबरा की मदद से उसे राजस्थान के जिला बारा के बजरंगगढ निवासी षंकर पांचाल को 50 हजार रूपये में बेच दिया उसे पूजा काबरा ने अपने निवास पर बंधक बनाकर रखा और जबरदस्ती शंकर पांचाल के साथ उसकी शादी करवा दी। उसके साथ शंकर ने शारीरिक संबंध बनाये । इस मामले में पुलिस ने पूर्व में आरोपी संगीता इनवाती, प्रदीप हनवत के साथ पूजा काबरा और शंकर पांचाल के खिलाफ मामला कायम किया है।

जिसमें पुलिस ने युवती के बरामद होने तथा उसकी शिकायत पर प्रदीप हनवत, संगीता इनवाती, कोटा राजस्थान से पूजा काबरा, बजरंगगड से शंकर पाचाल को पुलिस ने गिरफतार कर लिया है। इसी तरह की अन्य मामले में गोदिया महाराष्ट्र जिले के तिरोडा जुनी बस्ती निवासी प्रिया पति सुखदेव गजबे को गिरफतार कर न्यायालय में प्रस्तुत किया जहा से उसे जेल भेज दिया गया है।

पुलिस को पूछताछ में अनेक जानकारीयां मिली हुई है जिसके आधार पर और भी गिरफतारियां हो सकती है। बालाघाट जिला लिंगानुपात के आधार पर महिला बाहुल्य जिला जहां से नाबालिक युवतियों तथा महिलाओं को रोजगार दिलाने के बहाने अन्य राज्यों में ले जाकर बेच दिया जाता है। इस तरह के लडकीयों को भागकर ले जाने के कई मामले पुलिस में दर्ज है।

कोई जवाब दें