रेलवे में नई भर्ती में लगेगा लंबा वक्त, 90 हजार पदों के लिए ढाई करोड़़ आवेदन से बढ़ी रेल्वे की परेशानी

0
249
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जबलपुर। कुछ माह पहले रेल मंत्रालय ने रेलवे में विभिन्न पदों के लिए 90 हजार पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मंगाए थे, उस भर्ती प्रक्रिया में अभी और कई माह लग सकते हैं, क्योंकि इन 90 हजार पदों के लिए करोड़ों आवेदन आये हैं, जिन्हें देखकर रेलवे बोर्ड के पसीने छूट रहे हैं.

माना जा रहा है कि भर्ती परीक्षाएं इस माह के अंत तक ही संभव हो पाएंगे. देश में बढ़ती बेरोजगारी का आलम यह है कि 90 हजार पदों के लिये बीएससी, बीए, एमएससी, बीटेक, एमटेक और पीएचडी डिग्री धारियों समेत ढाई करोड़ से ज्यादा आवेदकों ने आवेदन किया है, जबकि इन पदों के लिये निर्धारित योग्यता हाईस्कूल और आईटीआई है.

भारतीय रेलवे में भर्ती अभियान के लिये आए आवेदनों को देखकर रेलवे के क्षेत्रीय भर्ती बोर्डों के पसीने छूट रहे हैं. देश भर में 21 रेलवे भर्ती बोर्ड्स द्वारा 90 हजार पदों के लिये निकाली गई भर्ती के लिए देश के ढाई करोड़ से ज्यादा बेरोजगारों ने आवेदन किया है. इतनी बड़ी संख्या में आए आवेदनों को देखकर रेलवे बोर्डों के पसीने छूट गए हैं. बोर्ड को इन भर्तियों के लिये परीक्षा के आयोजन से पहले अभी इतनी अधिक संख्या में आए आवेदनों की छंटनी की चिंता सता रही है. इन पदों के लिए परीक्षाओं का आयोजन कब, कहां और कैसे होगा, इस पर रेलवे बोर्ड बाद में फैसला करेंगे. अभी उससे पहले की तैयारियों के लिए उन्होंने और समय मांगा है.

इन पदों पर होना है भर्ती

ग्रुप सी लेवल-1 अर्थात ग्रुप-डी में ट्रैक मेंटेनर, प्वाइंट्समैन, हेल्पर, गेटमैन, पोर्टर जैसे पद आते हैं. इनमें 62907 पदों पर भर्ती के लिए 10 फरवरी 18 को विज्ञापन निकाला गया था. वहीं ग्रुप सी लेवल-2 में असिस्टेंट लोको पायलट, क्रेन ड्राइवर, फिटर और ब्लैकस्मिथ के पद आते हैं. इस ग्रुप के 26502 पदों पर भर्ती के लिए 3 फरवरी 18 को आवेदन मांगे गए थे. दोनों ग्रुप में कुल मिलाकर 89409 रिक्त पदों के आवेदन मंगाए गये थे. ग्रुप सी लेवल-1 के लिए आवेदन की अंतिम तिथि 12 मार्च 18 रखी गई थी, जबकि ग्रुप सी लेवल-2 के लिए अंतिम तिथि 5 मार्च थी, लेकिन रेलवे यूनियनों की मांग के मद्देनजर आवेदकों की आयु और शैक्षिक योग्यता में ढील देते हुये आवेदन की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 31 मार्च कर दिया गया था.

यह होगी भर्ती प्रक्रिया 

भारतीय रेलवे के ग्रुप सी और डी के पदों पर भर्ती 21 क्षेत्रीय भर्ती बोर्ड्स के माध्यम से होती है. ग्रुप डी के पदों के लिये पहले आवेदनों का मूल्यांकन किया जाता है और उपयुक्त पाए गए आवेदकों का दो चरणों में परीक्षा लिया जाता है. पहला चरण लिखित परीक्षा का होता है और दूसरा चरण में शारीरिक परीक्षा का होता है, लेकिन इस बार बड़े पैमाने पर आए आवेदनों की वजह से रेलवे भर्ती बोर्डों की हालत मूल्यांकन में ही खराब हो गयी है. इन पदों के लिये परीक्षाएं कब और कैसे आयोजित होंगी, अभी यह तय नहीं किया गया है. उल्लेखनीय है कि पहले मई 2018 तक परीक्षाओं के आयोजन की योजना थी और इनके परिणाम जुलाई में आने थे, लेकिन आवेदकों की ज्यादा संख्या को देखते हुए यह परीक्षा कई माह और टल गई है.

कोई जवाब दें