यहाँ खाया जा रहा है इंसानी बच्चों का मांस… आप होंगे हैरान देखे

0
300
Spread the love
चीन। चीन द्वारा इंसानी मांस की सप्लाई के मुद्दे पर जाम्बिया के न्यूजपेपर ने माफी मांग ली है। न्यूजपेपर ने चीन से अफ्रीका में इंसानी मांस की सप्लाई की गलत रिपोर्ट छापी थी, जिसे लेकर लोगों में काफी गुस्सा है। हालांकि, चीन में अब भी इंसानी मांस और बेबी फीटस खाए जाने के मुद्दे को लेकर कॉन्ट्रोवर्सी बरकरार है। करीब 15 साल पहले भी चीन में इंसानी मांस खाए जाने की अफवाहें उड़ी थीं। इसके साथ ही चीनी शख्स की बच्चे का मांस खाते हुए फोटोज भी वायरल हुई थी। हालांकि सच कुछ और ही निकला।
इंसानी मांस खाने की रिपोर्ट्स…
2001 में चीन में इंसानी मांस खाए जाने का मुद्दा गरमाया था। एक चीनी शख्स की अबॉर्टेड बेबी का मांस खाते हुए फोटो ऑनलाइन वायरल भी हुई थी। इसके साथ ही एक मैसेज की शेयर किया जा रहा था, ”यहां आप एक सच्चाई से वाकिफ होने जा रहे हैं, उससे डरना नहीं। ये चीन/ताइवान का हॉटेस्ट फूड है। यहां डेड बेबीज और फीटस (भ्रूण) 50 से 70 डॉलर में हॉस्पिटल से खरीदे जाते हैं, ताकि ग्रिल्ड बेबी की डिमांड पूरी की जा सकेगी। ये बेहद तकलीफदेह है।”
ऐसे बन गई ये इंटरनेशनल कॉन्ट्रोवर्सी
इसी साल मार्च में मलेशियन टैबलॉयड में इसे लेकर एक रिपोर्ट छपी। रिपोर्ट में लिखा था कि ताइवान के रेस्टोरेंट पका हुआ इंसानी मांस और ह्यूमन फीटस (भ्रूण) सर्व कर रहे हैं। इसमें यह भी लिखा था कि सेक्स पावर बढ़ाने के लिए बच्चों का मांस खाया जा रहा है। इस रिपोर्ट ने इस मुद्दे को इंटरनेशनल कॉन्ट्रोवर्सी का रूप दे दिया। इस मुद्दे ने दुनियाभर की इन्वेस्टिगेशन एजेंसी का ध्यान खींचा, जिसके बाद एफबीआई, सीआईए और स्कॉटलैंड यार्ड ने इसकी जांच की। एजेंसीज ने इस शख्स और इन फोटोज के बारे में जानने की कोशिश की, तो सच सामने आ गया।
सामने आया फोटो का सच
ये फोटोज ”ईटिंग पीपुल” नाम के एक आर्ट प्रोजेक्ट का हिस्सा थी, जिसमें आर्टिस्ट झू यू ने ये दिखाने की कोशिश की थी कि इंसानी मां खाया जा सकता है। ये आर्टपीस साल 2000 में शंघाई आर्ट फेस्टिवल का हिस्सा था। झू यू ने इस आर्ट प्रोजेक्ट को लेकर कहा था, ”इसे लेकर मेरा इरादा और मकसद इंसान के उस मोरल आइडिया का विरोध जताना था कि इंसान ह्यूमन मांस नहीं खा सकता।”
मेडिकल स्कूल से चोरी किया था अबॉर्टेड फीटस
एक इंटरव्यू में झू ने ये भी दावा किया था कि उन्होंने इस आर्ट प्रोजेक्ट में मेडिकल स्कूल से चोरी किए हुए अबॉर्टेड फीटस (भ्रूण) का इस्तेमाल किया था। इसे असल में पकाया गया था और झू ने इसे खाया था। उन्होंने ये भी माना था कि इसका टेस्ट बहुत ही खराब था और इसे खाने के बाद उन्हें कई बार उल्टियां भी हुईं थीं।
इसे भी पढ़ें – कपिल की बीवी का ऐसा हॉट अवतार आपने पहले नहीं देखा होगा
इसे भी पढ़ें – कामशक्ति को बढ़ाने वाले उपाय, असरदार बेहतरीन नुक्से
चाइनीज फीटस सूप की फेक फोटो
इसी तरह एक बार चाइनीज बेबी सूप को लेकर भी अफवाहें तेज हुई थीं। द सिओल टाइम्स में इसे लेकर रिपोर्ट्स भी छपी थीं। इसे लेकर जो फोटो ऑनलाइन वायरल हो रही थी, उसमें सूप के बोल में अबॉर्टेड फीटस नजर आ रहा है। ये फोटो भी एक आर्ट वर्क का हिस्सा निकली, जिसका इस्तेमाल इंसानी मांस खाए जाने के का विरोध जताने के लिए किया गया था।

कोई जवाब दें