मुख्यमंत्री के निर्देश पर 3 नेत्र रोगी इलाज के लिये भेजे जा रहे शंकर नेत्रालय, लापरवाह डाक्टर्स के विरूद्ध कार्यवाही

0
454
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

 

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

भोपाल : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देश पर इंदौर आई हॉस्पिटल में ऑपरेशन की घटना से प्रभावित 03 नेत्र रोगियों को शंकर नेत्रालय, चैन्नई में बेहतर उपचार के लिये सोमवार को सुबह वायुयान से भेजा जा रहा है। रोगियों के साथ उनका एक-एक अटेन्डेट और एक चिकित्सक भी भेजा जा रहा है। लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट आज नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ. राजीव रमन के साथ प्रभावित नेत्र रोगियों को देखने चौइथराम हॉस्पिटल पहुँचे। श्री सिलावट हॉस्पिटल में 5 घंटे से अधिक समय रहे और सभी प्रभावित नेत्र रोगियों और उनके परिजनों से मिलकर उपचार की व्यवस्थाओं पर चर्चा की।

मंत्री श्री सिलावट ने इंदौर मेडीकल कॉलेज की डीन डॉ. ज्योति बिन्दल को निर्देश दिये कि हॉस्पिटल में मौजूद रहकर अपनी देख-रेख में प्रभावित नेत्र रोगियों का उपचार सुनिश्चित करायें। श्री सिलावट ने प्रभावित नेत्र रोगियों को आश्वस्त किया कि डॉ. रमन द्वारा प्रभावित मरीजों की आँखों का उपचार शुरू कर दिया गया है। डॉ. रमन चार प्रभावित मरीजों का ऑपरेशन कर रहे हैं।

लापरवाह डाक्टर्स के विरूद्ध कार्यवाही

मंत्री श्री सिलावट ने इंदौर कमिश्नर और कलेक्टर के साथ इस घटना की जाँच के लिये गठित समिति के सदस्यों की बैठक ली। बैठक में बताया गया कि प्रथम दृष्टया लापरवाही प्रतीत होने पर जिला कार्यक्रम प्रबंधक अन्धत्व निवारण श्री टी.एस. होरा को निलंबित कर दिया गया है। धार सीएमएचओ डॉ. एस. के. सरल, इंदौर सीएमएचओ डॉ. प्रवीण जडिया और राज्य प्रबंधक अन्धत्व निवारण डॉ. हेमन्त सिन्हा को कारण बताओ नोटिस जारी किये गये हैं।

कोई जवाब दें