महिला संबंधी अपराधों पर जिला स्तरीय एक दिवसीय कार्यशाला सम्पन्न, सभी थाना एवं चौकी प्रभारी सहित विवेचकगण ने लिया लाभ

0
256
Spread the love

 

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

पॉलिटेक्निक कॉलेज के ऑडिटोरियम में आयोजित कार्यशाला का सभी थाना / चौकी प्रभारी सहित विवेचकगण ने लिया लाभ

रायगढ़. जिला पुलिस रायगढ़ द्वारा आज दिनांक 08.06.2019 को किरोड़ीमल शासकीय पॉलिटेक्निक कॉलेज के ऑडिटोरियम में पुलिस अधिकारियों के लिए महिला संबंधी अपराधों की विवेचना विषय पर एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया था । कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय श्री आर.एस.प्रसाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश रायगढ़ थे तथा अतिथि वक्ताओं के रूप में श्री अनिल श्रीवास्तव अपर लोक अभियोजक जिला न्यायालय रायगढ़, श्री शांतनु देशलहरे, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जिला रायगढ़, श्री आर.के. पैंकरा वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी एवं प्रभारी एफ.एस.एल. यूनिट रायगढ़, श्री वेद प्रकाश पटेल जिला लोक अभियोजन अधिकारी रायगढ़, श्री दुर्गेश सिंह प्रधान आरक्षक जिला साइबर सेल रायगढ़ आमंत्रित थे । कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में पुलिस अधीक्षक रायगढ़ श्री राजेश कुमार अग्रवाल मंचासीन थे । कार्यक्रम के आयोजन की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी पुलिस अधीक्षक रायगढ़ द्वारा श्री राजेंद्र प्रसाद भैया अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (IUCAW) रायगढ़ को दिया गया था ।

कार्यक्रम की रूपरेखा एवं अतिथि वक्ताओं के विषय वस्तु का चयन ए.एस.पी. श्री आर.पी भैया द्वारा किया गया था । कार्यक्रम का लाभ लेने के लिए जिले के पुलिस राजपत्रित अधिकारीगण, सभी थाना/चौकी के प्रभारी अपने थाना/चौकी के विवेचकगण के साथ उपस्थित हुये । कार्यकम में सहयोग समूह की सदस्य श्रीमती मंजु अग्रवाल, पूनम त्रिपाठी, छिप्रा शर्मा, बीना मेहता एवं वरिष्ठ पत्रकार श्री नरेश शर्मा एवं प्रिंट एवं इलेक्ट्रानिक मीडिया के साथीगण भी सम्मिलित हुए ।

ऑडिटोरियम हॉल में प्रात: करीब 10:30 बजे मां सरस्वती के छायाचित्र के समीप अतिथियों द्वारा दीप प्रज्वलन कर कार्यक्रम का विधिवत शुभारंभ किया गया । कार्यक्रम में अतिथियों के स्वागत पश्चात पुलिस अधीक्षक श्री अग्रवाल द्वारा स्वागत भाषण में मुख्य अतिथि डिस्ट्रक जच श्री प्रसाद का आभार व्यक्त करते हुए बोले कि कार्यशाला में अतिथि वक्ताओं के व्याखान से महत्वपूर्ण मार्गदर्शन प्राप्त होगा इसलिए विवेचनाधिकारी कार्यशाला का भरपूर लाभ लेंवे । श्री अग्रवाल कार्यशाला में उपस्थित पुलिस अधिकारियों को बोले कि पुलिस का काम केवल आरोपियों को पकड़ मात्र ही नहीं बल्कि आरोपियों को सजा दिलाना है जो विवेचना अधिकारी के अच्छी विवेचना पर निर्भर करता है इसलिए विवेचना संबंधी अपनी शंकाओं का निराकरण भी इस कार्यशाला में करें ।

स्वागत भाषण पश्चात मंच से माननीय श्री आर.एस. प्रसाद जिला एवं सत्र न्यायाधीश रायगढ़ द्वारा पुलिस अधिकारियों को संबोधित किया गया । वे बताए कि पीड़िता को न्याय दिलाना एवं आरोपी को सजा दिलाने में पुलिस अधिकारी की विवेचना का काफी महत्व है और विवेचना का अधिकार केवल पुलिस को प्राप्त है । श्री प्रसाद ने कहा कि थाने में आयी किसी महिला की रिपोर्ट/शिकायत को गंभीरता से लें । महिलाओं संबंधी अपराधों की विवेचना में पुलिस का सकारात्मक रवैया बेहद जरूरी है । उन्होंने कहा कि आरोपियों के लिए महिलाएं साफ्ट टारगेट होती है इसलिए हमारा काम महिलाओं को सशक्त, शिक्षित एवं जागरूक करना भी है ।

अतिथि वक्ता श्री शांतनु देशलहरे, सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण रायगढ़ ने पीडित महिलाओं को प्राप्त होने वाले नि:शुल्क विधिक सहायता की जानकारी देते हुए उपस्थित थाना प्रभारी चौकी प्रभारियों को बताएं कि थाना में घटित होने वाली महिला संबंधी अपराधों में महिलाओं को यह जानकारी नहीं होती कि उन्हें किस-किस प्रकार की सहायता प्राप्त हो सकती है इसलिए पुलिस अधिकारी का कर्तव्य है कि उन्हें विधिक सहायता, क्षतिपूर्ति योजना की जानकारी दें साथ ही पीड़ित को क्षतिपूर्ति राशि दिलाने में मदद करें ।

अपर लोक अभियोजक श्री अनिल श्रीवास्तव ने अपने वक्तव्य में पास्को एक्ट एवं एनडीपीएस एक्ट में विवेचनाधिकारी द्वारा बरती जाने वाली सावधानियां को काफी विस्तार से समझा गया । इसी बीच मंच पर आमंत्रित किए गए थाना प्रभारी बरमकेला निरीक्षक श्री डी.के. मारकंडे एवं जूटमिल चौकी प्रभारी निरीक्षक अंजना केरकेट्टा द्वारा महिलाओं से संबंधित अपराधों में पुलिस को आने समस्याओं से उपस्थित वक्ताओं का ध्यान आकृष्ट किए। कार्यक्रम में भोजन पश्चात श्री आर.के. पैंकरा वरिष्ठ वैज्ञानिक अधिकारी रायगढ़ द्वारा विवेचना में साक्ष्य के महत्वत पर प्रकाश डाला गया।

जिला लोक अभियोजन अधिकारी श्री वेद प्रकाश पटेल द्वारा न्यायालय में महिलाओं के विरुद्ध विचारणीय अपराधों के संबंध में अपना व्याख्यान दिए । वहीं साइबर सेल के प्रधान आरक्षक दुर्गेश सिंह द्वारा सीडीआर एनालिसिस एवं सीडीआर का साक्ष्य में महत्व पर व्याख्यान दिया गया । कार्यक्रम के अंत में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री राजेंद्र प्रसाद भैया द्वारा अतिथियों का आभार प्रदर्शन किया गया एवं पुलिस अधीक्षक रायगढ़ श्री अग्रवाल द्वारा अतिथियों को प्रतीक चिन्ह भेंट किया गया है । मंच का संचालन श्रीमती तृप्ति अग्रवाल एवं एएसपी श्री भैया द्वारा संयुक्त रूप से किया गया । कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिये रक्षित निरीक्षक श्री अमरजीत खूंटे का भी विशेष योगदान रहा ।

कोई जवाब दें