मरीज को अस्पताल ला रही 108 एंबुलेंस का चक्का खुला गंभीर घटना होने से बची

0
401
Spread the love
नरसिंहपुर/ पिपरिया कला गांव से मरीज को गाडरवारा अस्पताल ला रही शासन की 108 एंबुलेंस क्रमांक एमपी 02 एनबी 4322 का पिछला चक्का अचानक खुल गया शुक्र है कि एंबुलेंस शांतिदूत तिराहे पर काफी कम रफ्तार में थी इसलिए कोई गंभीर घटना नहीं हो पाई लेकिन यदि तेज रफ्तार रही होती तो निश्चित तौर पर गंभीर हादसा हो सकता था यह एंबुलेंस साईं खेड़ा थाने में उपलब्ध रहती है लेकिन रखरखाव उचित नहीं होने से यह घटना घटित हो गई
अस्पताल से आई दूसरी एंबुलेंस में शिफ्ट किया मरीज को
घटना की जानकारी के मुताबिक सुबह करीब 9:00 बजे सूचना पर पहुंची 108 पिपरिया कला से गंभीर मरीज सविता पिता गोपाल अहिरवार उम्र 13 वर्ष को सरकारी अस्पताल गाडरवारा ला रही थी जैसे ही नगर में प्रवेश कर रही थी उसी समय करीब 9:25 बजे शांतिदूत चौराहा के पास अचानक टायर निकल कर बाहर जा गिरा गाड़ी में सवार मरीज और परिजन घबरा गए लेकिन रफ्तार काफी कम थी इसलिए बड़ी घटना होते-होते टल गई तत्काल अस्पताल से दूसरी एंबुलेंस बुलाई और मरीज को सकुशल इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया गया
जब से गाड़ी आई नहीं हुआ मेंटेनेंस चालक
इस 108 में चालक अर्जुन यादव ईएमटी कृष्णकांत नामदेवजी  थे चालक अर्जुन यादव से घटना के बारे में पूछा तो उसका साफ कहना था की जब से गाड़ी आई है तभी से मेंटेनेंस के नाम पर कुछ भी नहीं हो रहा है कई बार चिकित्सा हेल्थ केयर भोपाल के अधिकारियों को इस संबंध में लिखित में भी दे चुके हैं लगातार 108 सड़कों पर चल रही है लेकिन मेंटेनेंस नहीं होने के कारण गाड़ियों की हालत इतनी खराब हो गई है कि आज गाड़ी का पहिया खुल कर बाहर निकल गया
 मरीजों की जान खतरे में
उल्लेखनीय है कि सरकार ने 108 एंबुलेंस की सुविधा मुहैया कराई है इस सुविधा से गंभीर मरीजों को तत्काल 108 नंबर पर कॉल करके एंबुलेंस उपलब्ध हो जाती है एंबुलेंस लगातार सड़कों पर मरीजों को लाने ले जाने के लिए  दौड़ रही हैं लेकिन चालकों के अनुसार विभागीय स्तर पर  जब से गाड़ियां आई है इनका कोई मेंटेनेंस नहीं हुआ है गाड़ियों को मेंटेनेंस नहीं होने से पुरानी हो चुकी है गाड़ियों में मरीजों की जान पर खतरा मंडराने लगा है प्रशासन को इन गाड़ियों की हालत सुधारने के लिए प्रयास करना चाहिए

कोई जवाब दें