मदन महल पहाड़ी के शेष पात्र विस्थापितों को भी शीघ्र पट्टे दिये जायें पुनर्वास स्थल पर चल रहे विकास कार्यो की समीक्षा बैठक में कलेक्टर के निर्देश

0
138
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ जबलपुर // प्रशांत वैश्य : 79990 57770

जबलपुर, कलेक्टर श्री भरत यादव ने तिलहरी स्थित मदन महल पहाड़ी के विस्थापितों की बस्ती में चल रहे अधोसंरचना निर्माण के कार्यों की आज शाम आयोजित बैठक में समीक्षा करते हुए शेष पात्र विस्थापितों को भी शीघ्र पट्टे प्रदान करने तथा उन्हें प्रधानमंत्री आवास योजना की पहली किश्त जारी करने के निर्देश दिये ।

कलेक्टर ने बरसात के दौरान होने वाली रोगों की रोकथाम के लिए पुनर्वास स्थल पर स्वास्थ्य शिविर के निरंतर आयोजन करने तथा पेयजल आपूर्ति के सभी स्त्रोतों की नियमित रूप से जांच करने के निर्देश के अधिकारियों को दिये । श्री यादव ने पुनर्वास स्थल पर शाला भवन, उप स्वास्थ्य केन्द्र और आंगनबाड़ी केन्द्र के भवन निर्माण की दिशा में अभी तक की हुई कार्यवाही की जानकारी भी बैठक में ली । बैठक में बताया गया कि मदन महल पहाड़ी के 933 विस्थापितों को तिलहरी में पट्टे प्रदान कर दिये गये हैं तथा 843 विस्थापितों को प्रधानमंत्री आवास योजना की पहली किश्त जारी कर दी गई है । इनमें से अभी तक केवल 286 विस्थापितों ने ही आवास का निर्माण प्रारंभ किया है ।

इसे भी पढ़ें :- एसपी और कोतवाली टीआई के खिलाफ मामला दर्ज कराने को लेकर अधिवक्ताओं ने सीजीएम को सौंपा ज्ञापन

बैठक में दी गई जानकारी के मुताबिक तिलहरी स्थित पुनर्वास स्थल पर विस्थापितों के लिए पेयजल आपूर्ति के समुचित इंतजाम किये जा चुके हैं । इसके साथ ही वहां स्ट्रीट लाईट की व्यवस्था भी की जा चुकी हैं । विस्थापित की बस्ती तक पहुंच मार्ग का निर्माण किया जा चुका है । पुनर्वास स्थल पर चार सामूहिक शौचालयों का निर्माण किया गया है । कलेक्टर ने बैठक में मदन महल की पहाड़ी से अतिक्रमणों को हटाये जाने की जा रही कार्यवाही की समीक्षा भी की । उन्होंने पहाड़ी से विस्थापित किये जा रहे परिवारों के लिए अस्थाई आश्रय स्थल चिन्हित करने और वहां समुचित व्यवस्थायें सुनिश्चित करने के निर्देश निगम अधिकारियों को दिये । श्री यादव ने मदन महल पहाड़ियों के अलावा शहर की अन्य पहाड़ियों पर हुए अतिक्रमणों के सर्वे के लिए राजस्व विभाग एवं नगर निगम के कर्मचारियों का दल गठित करने की बात भी कही ।

इसे भी पढ़ें :- भाजपा नेता प्रदीप जोशी लड़कों से अप्राकृतिक यौन संबंध बनाते थे : वीडियो वायरल

उन्होंने मदन महल पहाड़ी से हटाये गये धार्मिक निर्माणों का ब्यौरा भी बैठक में लिया तथा इस बारे में एक बार पुन: संबंधित धार्मिक संगठनों की बैठक बुलाने को कहा । कलेक्टर ने ग्रीन बेल्ट में आ रहे सैनिक सोसायटी के निर्माणों को हटाने की कार्यवाही प्रारंभ करने तथा महाकौशल सोसायटी के बारे में टाउंड एण्ड कंट्री प्लानिंग विभाग से प्रतिवेदन प्राप्त करने के निर्देश दिये । कलेक्टर ने मदन महल पहाड़ी के संरक्षण की बनाई गई कार्ययोजना पर भी बैठक में विस्तार से विचार-विमर्श किया । उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को पहाड़ियों पर ट्रेकिंग, रॉक क्लाइम्विंग, केम्पिंग जैसे साहसिक गतिविधियों के आयोजन के निर्देश दिये ।

इसे भी पढ़ें :- भ्रष्टाचार भेंट चढ़ा 4 माह पहले बना करोड़ो का तालाब फुटा, इंजीनियर और ठेकेदार ने की भारी हेराफेरी

पर्यटन की दृष्टि से मदन महल पहाड़ी से संग्राम सागर तक रोप-वे का निर्माण, नेचुरल ट्रेल, कैफेटेरिया, संग्राम सागर में म्यूजिकल फाउंटेन, योगा सेंटर आदि के निर्माण की दिशा में अभी तक हुई कार्यवाही की समीक्षा भी बैठक में की गई । श्री यादव ने इस मौके पर स्मार्ट सिटी परियोजना में निवेश के लिए आयोजित की जाने वाली इन्वेस्टर्स मीट में मदन महल पहाड़ी के संरक्षण के लिए बनाई गई कार्ययोजना को भी शामिल करने का सुझाव दिया । उन्होंने कहा कि इन्वेस्टर्स मीट में आने वाले पर्यटकों को मदन महल पहाड़ी का प्राकृतिक सौंदर्य भी दिखाया जाये । बैठक में अपर कलेक्टर शहर हर्ष दीक्षित, अपर कलेक्टर डॉ. सलोनी सिडाना, नगर निगम के अपर आयुक्त जी.एस. नागेश, एसडीएम गोरखपुर मनीषा वास्कले, सीएमएचओ डॉ. मुरली अग्रवाल तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी भी मौजूद थे ।

कोई जवाब दें