मंत्री कमल पटेल ने स्वीकारा कि अब तक किसान कर्जमाफी के 20 लाख 23 हजार 136 प्रकरणों में 7108 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया

0
44
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला प्रतिनिधि भोपाल // विक्टर दास : 8720053434

मंत्री के कबूलनामे पर कांग्रेस ने हमला किया है। कांग्रेस ने कहा है कि विधानसभा में कृषि मंत्री ने माना कि कमलनाथ सरकार में कर्जमाफी हुई है। विधानसभा में कांग्रेस विधायक जयवर्धन सिंह के एक सवाल पर कृषि मंत्री कमल पटेल ने जवाब दिया है कि प्रदेश में सभी 51 जिलों में किसान कर्जमाफी हुई है। शिवराज जी, आप तो बेनकाब हो गए।

एमपी किसान कर्जमाफी एक बड़ा मुद्दा है। 2018 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस किसान कर्जमाफी के जरिए ही सत्ता में आई थी। सत्ता में आने के बाद प्रदेश में कुछ किसानों का कर्जा माफ हुआ। लोकसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने एमपी में किसान कर्जमाफी को भुनाने की कोशिश की लेकिन कामयाबी हाथ नहीं लगी। वहीं, उपचुनाव से पहले बीजेपी यह आरोप लगा रही है कि किसान कर्जमाफी के नाम पर लोगों के साथ धोखा हुआ है।

अब शिवराज सरकार ने विधानसभा में स्वीकारा है कि कमलनाथ की सरकार में किसान कर्जमाफी हुई है। वहीं, शिवराज सरकार ने इस बार किसान कर्जमाफी के लिए बजट में 2 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान रखा है। लेकिन कृषि बजट को घटा दिया गया है। सरकार ने विधानसभा में लिखित उत्तर में स्वीकार किया है कि अब तक किसान कर्जमाफी के 20 लाख 23 हजार 136 प्रकरणों में 7108 करोड़ रुपये का कर्ज माफ किया है।

सरकार ने कहा है कि इस योजना के लाभ के लिए कुल 51 लाख 53 हजार 534 किसानों के आवेदन आए थे। वहीं, इस बार 2020-21 के लिए कृषि बजट 26264 करोड़ रुपये का रखा गया है, जो कि पिछले साल की तुलना में 43.58 फीसदी कम है। इसी में किसानों का कर्जा माफ करने के लिए भी 2 हजार करोड़ का प्रावधान किया गया है। सरकार ने यह माना है कि प्रदेश में 1 लाख रुपये तक के किसानों का कर्जा माफ हुआ है।

कोई जवाब दें