भारत और चीन के सैनिकों के बीच झड़प, 20 भारतीय जवान शहीद

0
613
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

 

लद्दाख की गलवान घाटी में भारत और चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए हैं। भारतीय सेना ने इसकी पुष्टि की है। इनमें एक आर्मी अफ़सर भी शामिल हैं। यह झड़प सोमवार (15 जून) को हुई थी। बताया गया है कि झड़प के दौरान पत्थरों, धातु के टुकड़ों का इस्तेमाल दोनों ओर से किया गया लेकिन गोली नहीं चली है। 
घटना के सामने आने के बाद दोनों ओर के सैन्य अधिकारियों ने हालात को सामान्य करने के लिए बातचीत की। चीनी विदेश मंत्रालय की ओर से कहा गया कि भारत एकतरफा कार्रवाई न करे और कोई परेशानी नहीं बढ़ाए। घटना सामने आते ही रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री जयशंकर ने हालात पर चर्चा की। इस दौरान चीफ़ ऑफ़ डिफ़ेंस स्टाफ़ जनरल बिपिन रावत, आर्मी प्रमुख, एयर फ़ोर्स और नेवी के प्रमुख भी मौजूद थे।

ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक़, चीन के विदेश मंत्री ने कहा है, ‘भारतीय जवानों ने सोमवार को दो बार अवैध रूप से सीमा को पार किया और चीनी जवानों पर हमला किया, इसके बाद दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़पें हुईं।’ विदेश मंत्री ने यह भी कहा कि चीन और भारत बातचीत के जरिये द्विपक्षीय मुद्दों को हल करने पर सहमत हैं और सीमा के इलाक़ों में शांति बनाए रखना चाहते हैं। भारतीय सेना ने कहा है कि गलवान घाटी में दोनों ओर के जवान हताहत हुए हैं।

यह घटना तब हुई है, जब हाल ही में आर्मी प्रमुख जनरल एम.एम.नरवणे ने कहा था कि चीन के साथ लगने वाली भारतीय सीमाओं पर हालात नियंत्रण में हैं। उन्होंने कहा था कि दोनों ओर की सेनाओं के वरिष्ठ अधिकारियों के बीच कई दौर की बातचीत हुई है और ऐसी उम्मीद है कि लगातार बातचीत के जरिये हम सभी मतभेदों को सुलझा लेंगे।

बीते दो महीने से भारत और चीन के बीच पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग झील इलाक़े में तनाव चल रहा है।इसके अलावा उत्तरी सिक्किम के नाकू ला सेक्टर में दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़पें हो चुकी हैं। पिछले महीने आई सैटेलाइट तसवीरों से पता चला था कि पैंगोंग झील से लगभग 200 किमी दूर स्थित एक हवाई अड्डे पर चीनी वायु सेना के चार लड़ाकू विमान मौजूद थे।

भारत और चीन के बीच 6 जून को वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास चीन के माल्डो इलाक़े में बातचीत हुई थी। इसके अलावा बीते शुक्रवार को गलवान घाटी में भी दोनों देशों की सेनाओं के बीच मेजर जनरल लेवल की बातचीत हुई थी। इससे पहले ऐसी ही बातचीत बुधवार को भी हुई थी।

कोई जवाब दें