ब्रेकिंग न्यूज़ : उज्जैन जिले का सनसनीखेज नितेश हत्याकांड का खुलासा, देखें वीडियो

0
680
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा।  दिनांक 11 जून 2018 की सुबह सूचना करता शांतिलाल पिता अंबाराम सोलंकी जाति बागरी उम्र 29 साल निवासी ग्राम अमला वादियां थाना बिरलाग्राम अशोक निवासी गीत गाने 100 डायल कर सूचना दी कि नागदा उन्हेल बाईपास ब्रिज पर रोड के साइड के पिलर के पास जूट का बोरा जिसके मुंह मोबाइल कनेक्टर से बना हुआ है जिसमें एक व्यक्ति के पांव दिख रहे हैं.

सूचना पर थाना नागदा पुलिस मौके पर पहुंचकर बोरे को खोलकर सब बाहर निकाल कर मृत की शिनाख्त उसके जेब में मिले पर्स में रखे रेलवे के पास टिकट वा कार्ड के अनुसार नितेश चौहान पिता गोविंद चौहान उम्र 19 वर्ष निवासी 56 ब्लॉक नागदा के रूप में हुई जिस पर से थाना नागदा में अज्ञात आरोपी के विरुद्ध प्रकरण क्रमांक 360/2018 धारा 302 201 भारतीय दंड विधान का पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया.

थाना नागदा क्षेत्र में थाना नागदा क्षेत्र में सनसनी नितेश चौहान के अंधे कत्ल के खुलासे के लिए पुलिस अधीक्षक के द्वारा स्वयं मौके पर आकर उक्त अपराध की जांच के लिए तत्काल टीम गठित कर हत्याकांड के खुलासे हेतु आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए जोनल पुलिस महानिरीक्षक श्री राकेश कुमार गुप्ता एवं पुलिस उपमहानिरीक्षक श्री अनिल शर्मा द्वारा समय-समय पर प्रकरण से संबंधित दिशा-निर्देश देते रहे उक्त निर्देशों के क्रम में पुलिस टीम द्वारा लगभग 60-70 संदिग्धों से पूछताछ की गई मौके पर एफएसएल टीम उज्जैन साइबर टीम ने भी काफी प्रयास किए पुलिस अधीक्षक उज्जैन सचिन अतुलकर द्वारा लगातार नितेश हत्याकांड को ट्रेस करने के लिए समय-समय पर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए.

नितेश हत्याकांड से संबंधित संपूर्ण घटनाक्रम को पुनः बारीकी से अवलोकन करते हुए पुणे पूर्व में पूछताछ किए गए समस्त संदिग्धों से पूछताछ की गई जांच में आए 1 को ध्यान आकर्षित कर अज्ञात आरोपियों के संबंध में खोजबीन शुरू की गई मृतक नितेश के साथ आखरी बार देखे गए आस्था क्लीनिक के कर्मचारियों के बयान 9 में विरोधाभास होने से पूर्व में लिए गए सीसीटीवी फुटेज को बारीकी से बार-बार अवलोकन किया गया अवलोकन करने पर पाया गया कि एक विशेष समय अंतराल का सीसीटीवी फुटेज मिसिंग है.

आस्था क्लिनिक से मृतक नितेश के निकलने के सीसीटीवी फुटेज अनुसार क्लीनिक में दूध की थैली नहीं पाई गई एवं उक्त विशेष समय अंतराल के बाद के सीसीटीवी फुटेज देखते क्लीनिक में दूध की थैली दिखाई दी किंतु क्लीनिक की चाबियां क्लीनिक के कर्मचारी राजेश गहलोत के पास होती थी क्लीनिक खोलने की जवाबदारी राजेश गहलोत की थी

इसके पूर्व में दर्ज बयानों का पुनः अवलोकन करने पर सीसीटीवी फुटेज व बयानों में विरोधाभास होने से राजेश को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करने पर राजेश एवं उसके साथी जगदीश बैरागी के द्वारा घटना देखते क्लीनिक में दूध की थैली दिखाई दी किंतु क्लीनिक की चाबियां क्लीनिक के कर्मचारी राजेश गहलोत के पास होती थी क्लीनिक खोलने की जवाबदारी राजेश गहलोत की थी जिसके पूर्व में दर्ज बयानों का अवलोकन करने पर सीसीटीवी फुटेज व बयानों में विरोधाभास होने से राजेश को अभिरक्षा में लेकर पूछताछ करने पर राजेश एवं उसके साथी जगदीश बैरागी के द्वारा घटना करना स्वीकार किया गया

राजेश के द्वारा बताया गया कि घटना दिनांक 10 जून दो हजार अट्ठारह के चार-पांच दिन पूर्व से ही हितेश की हत्या की योजना बना ली गई थी जगदीश बैरागी जो राजेश का साथी था उसके साथ मिलकर योजना बनाई गई थी घटना के 5 दिन पूर्व भी जगदीश बैरागी के द्वारा चेतन पूरा बायपास पर स्थित राहुल पोरवाल की अनाज की दुकान से 60/- में एक टाट जूट का बोरा लेकर पहले से ही आस्था क्लिनिक के ऊपरी मंजिल पर रख दिया घटना दिनांक को योजनाबद्ध तरीके से क्लीनिक के सभी स्टाफ को क्लीनिक से चले जाने के उपरांत मृतक नितेश दूध एवं तीन सिगरेट लेकर क्लीनिक पर आया हमेशा की तरह सिगरेट पीने के लिए ऊपरी मंजिल पर रात्रि करीबन 9:00 बजे नितेश जगदीश व राजेश गए नितीश को सिगरेट के लिए बुलाने के समय क्लीनिक की बिजली का मेन स्विच बंद कर कैमरे बंद कर दिए एवं इसी दौरान नीतीश द्वारा लाएगी दूध की थैली क्लीनिक से रखी तथा ऊपर चले गए के बाद पुणे बिजली सप्लाई राजेश द्वारा की गई.

क्लीनिक के ऊपरी मंजिल पर तीनों के द्वारा सिगरेट पी गई वहीं पर नितेश के साथ मारपीट कर जगदीश व राजेश के द्वारा राजेश के ऑरेंज कलर के गमछे से गला घोट कर हत्या कर दी तत्पश्चात नितेश के शव को जूट के बोरे में रखकर नितेश के ही हेडफोन की केबल से बोरे का मुंह बांधकर नीचे लाएं फिर पुनः लाइट एवं कैमरा बंद कर सबको जगदीश की मदद क्लीनिक के पिछले दरवाजे तक ले गए वहां से जगदीश की मोटरसाइकिल होंडा शाइन क्रमांक एमपी 13 डी पी 1613 से आगरा बाईपास पर अटल गार्डन के पहले रेलवे पुल के पास सड़क किनारे फेंक दिया ।

आरोपियों के द्वारा घटना घटित करनेआरोपियों के द्वारा घटना घटित करने कारण

आरोपी राजेश पिता भेरुलाल गहलोत जाति बलाई उम्र 24 साल निवासी इंद्रा कॉलोनी नागदा के द्वारा घटना के संबंध में बताया गया कि लगभग डेढ़ साल पहले उसकी मित्रता फेसबुक पर मृतक नितेश की मौसेरी बहन से हुई थी फेसबुक पर दोस्ती होने के पश्चात मौसेरी बहन का मोबाइल नंबर नीतीश के मोबाइल से लिया गया और फिर लगातार इनकी बातचीत होने लगी इसी दौरान राजेश की मुलाकात भी हुई जिसका पता मृतक नितेश को भी चल गया था

मृतक नितेश के द्वारा राजेश को इस संबंध में चेतावनी दी गई थी कि वह उसकी मौसेरी बहन से दूर रहे राजेश के द्वारा शादी की योजना बनाई जा रही थी परंतु उससे शादी ना हो पाने के कारण वह नितेश को मनाता था इसके अतिरिक्त समय-समय पर मृतक नितेश राजेश की सार्वजनिक तौर पर अपशब्दों का प्रयोग भी करता था यह बात राजेश को नागवार गुजरी इसी कारण राजेश ने जगदीश के साथ मिलकर मृतक नितेश की हत्या की

प्रकरण में दोनों आरोपियों राजेश पिता भेरुलाल गहलोत जाति बलाई उम्र 24 साल निवासी इंद्रा कॉलोनी नागदा एवं जगदीश पिता जीवन दास बैरागी उम्र 29 साल निवासी ग्राम जूना नागदा को पूछताछ पश्चात गिरफ्तार कर लिया गया है आरोपियों के द्वारा उक्त मोटरसाइकिल प्रयुक्त की गई थी उसे भी बरामद किया गया है जिस दुकान से आरोपी जगदीश द्वारा खरीदा गया था उस दुकानदार राहुल पोरवाल से भी पूछताछ की गई जिसके द्वारा भी ₹60 में उक्त बोरा आरोपी जगदीश को बेचना बताया गया है

आरोपी गणों को घटना के संबंध में और पूछताछ हेतु न्यायालय पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जा रहा है प्रकरण के खुलासे में थाना प्रभारी नागदा श्याम चंद्र शर्मा के द्वारा पद स्थापना के पश्चात से ही प्रकरण को चुनौती मानकर लगातार पूरी टीम के साथ कार्य किया गया प्रकरण को बारीकी से देखा गया छूटे हुए पैरों पर काम किया गया थाना टीम सदस्य के रूप में जीवन डोर ए आर एस आर नीरज पटेल ईश्वर परिहार मनोहर मोहरी विनोद माली सुखदेव सोलंकी दिनेश गुर्जर की भूमिका सराहनीय रही पुलिस अधीक्षक महोदय के द्वारा संपूर्ण टीम को ₹10000 की नगद राशि से पुरस्कृत किए जाने की घोषणा की गई है

कोई जवाब दें