बेटे की चाहत ने 83 साल का बुजुर्ग फिर बना दूल्हा, 30 साल की महिला से की शादी

0
161
Spread the love

जयपुर। भले ही आज के समाज में लड़कों और लड़कियों को बराबर का दर्जा दिया जाता है लेकिन आज भी देश के कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां लड़कियों की तुलना में लड़कों को ज्यादा तवज्जो दी जाती है। भ्रूण हत्या जैसी घटनाएं इसी सोच की बानगी है। ऐसी ही एक घटना राजस्थान के एक गांव से सामने आई है जहां बेटे की चाहत में 83 साल के बुजुर्ग ने खुद से 53 साल छोटी महिला की साथ शादी रचाई। केवल इतना ही नहीं, इस बुजुर्ग की शादी में उसकी बेटी और दामाद भी शामिल हुए और जमकर डांस भी किया।

मिली जानकारी के अनुसार, राजस्थान के करौली जिले में स्थित सैमर्दा गांव में रहने वाले सुखराम बैरवा ने बेटे की चाहत में 30 साल की एक महिला से शादी की। बताया जा रहा है कि यह शादी बुजुर्ग सुखराम अपनी पहली पत्‍नी से रजामंदी लेने के बाद रचाई। शादी में पहली पत्‍नी के साथ बेटी-दामाद भी मौजूद रहे और सभी जमकर नाचे भी।

बताया जा रहा है कि सुखराम की पहली पत्नी से दो बेटी और एक बेटा कान्हू था। मगर 30 साल की उम्र में किसी बीमारी के कारण उसकी मौत हो गई थी। इस कारण वंशवृद्धि का संकट पैदा हो गया। ऐसे में बुजुर्ग ने नजदीक के राहिर गांव में रहने वाली 30 वर्षीय रमेशी के साथ शादी रचाने का फैसला किया। बताया जा रहा है कि सुखराम के पास दिल्ली में एक प्लाट और गांव में सात बीघा जमीन है।

बेटे की मौत के बाद से मानसिक रूप से बीमार चल रहे सुखराम काफी समय पहले अपने परिजनों के समक्ष बेटे की चाह में एक और शादी करने की इच्छा जताई थी। बेटे की चाहत में सुखराम बैरवा ने 30 साल की रमेशी के साथ शनिवार रात विवाह किया और रविवार को आसपास के 12 गांवों के एक हजार लोगों को दावत दी। फिलहाल उनकी पहली पत्‍नी उनके साथ ही रह रही है। बेटी, दामाद और उनके पांच बच्‍चे भी साथ रह रहे हैं।

कोई जवाब दें