बीजेपी के कैबिनेट मंत्री बलात्कार का आरोप में फसें, सीजेएम कोर्ट ने पुलिस से पूछा मुकदमा दर्ज हो गया है या नहीं

0
1197
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 98932 21036

महिला ने बेटी के इलाज में मदद के नाम पर ज्यादती और ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया पीड़िता ने सीजेएम कोर्ट में अर्जी दायर की, 7 मई को अगली सुनवाई

लोकसभा चुनाव के लिए देशभर में चल रहे मतदान के बीच उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अपने ऊपर लगे रेप के आरोपों पर कहा है कि अगर वह दोषी साबित होते हैं तो उनका मांस कुत्तों से नुचवाया जाए। उन्होंने कोर्ट को पत्र लिखकर अपने ऊपर लगे आरोपों की जांच की करवाने की मां भी की है।

उन्होंने ट्वीट कर कहा कि ‘माननीय सीजेएम, लखनऊ में मेरे खिलाफ दिए गए प्रार्थनापत्र में जो आरोप मेरे ऊपर लगाये गए हैं, वह पूर्णत: मिथ्या व बेबुनियाद हैं। इसकी जैसी चाहे जांच करा ली जाए यदि जरा भी सच्चाई निकले तो मेरा मांस चौराहे पर कुत्तों से नुचवाया जाए।’

क्या है मामला

दरअसल महिला का आरोप है कि मंत्री ने उसके साथ रेप किया है और उसे ब्लैकमेल भी किया है। महिला ने सीजेएम कोर्ट में मंत्री के खिलाफ ये सारे आरोप लगाते हुए याचिका दायर की हैं। कैबिनेट मंत्री पर महिला का आरोप है कि उन्होंने मूकबधिर बच्ची के इलाज की मदद के लिए उसके साथ गलत हरकत की गई।

महिला ने कैबिनेट मंत्री के अलावा एक अस्पताल के मालिक और मंत्री के पीआरओ को भी आरोपी ठहराया है। उसने कोर्ट से तीनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के आदेश की मांग की है। महिला की याचिका पर सुनवाई के लिए सीजेएम ने 7 मई की तारीख निर्धारित की है।

सुरेश खन्ना व उनके पीआरओ समेत चार के खिलाफ कोर्ट में अर्जी

मूक बधिर बच्ची का इलाज कराने अस्पताल गई महिला को बहकावे में लेकर फोटो बनाकर ब्लैकमेल करने व दुराचार करने के आरोपों को लेकर कैबिनेट मंत्री सुरेश खन्ना, उनके पीआरओ सुचित सेठ और हेल्थसिटी हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. वैभव खन्ना समेत चार के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने की मांग वाली अर्जी पर कोर्ट ने वजीरगंज से रिपोर्ट तलब की है।

सीजेएम आनंद प्रकाश सिंह ने मामले की सुनवाई के लिए सात मई की तारीख तय करते हुए पुलिस से पूछा है कि यह रिपोर्ट दें कि इस मामले में कोई मुकदमा दर्ज हो गया है या नहीं।

कोई जवाब दें