बंधन बैंक के वसूलीबाजों परेशान महिला ने खाया जहर, आधी रात को करते थे परेशान, देते थे धमकियां

0
862
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

ब्यूरो चीफ नागदा, जिला उज्जैन // विष्णु शर्मा 8305895567

नागदा । आज सूरज की पहली किरण के साथ बैंक अधिकारियों ने समूह लोंन की क़िस्त के लिए महिला को इतना मजबूर किया की महिला ने जहरीला पदार्थ खा लिया। शहर में बंधन बैंक जैसी कई प्रायवेट बैंके समूह लोन बाटने का काम कर रही है। 

हजारो परिवार की महिलाओं को समूह लोंन का प्रलोभन देकर लोन दिया जाता है और यदी किसी महिला द्वारा लोन की किस्त नही देने पर बाकी अन्य महिलाओ को अधिकारीयो द्वारा परेशान किया जाता है की उस महिला के लोन की बकाया किस्त बाकी अन्य महिलाओ को भरना पडेगा। समूह लोन 10 महिलाओं का ग्रूप बनाकर दिया जाता है। पति को इस बात की कोई भी खबर तक नही होती है। महिलाओ को हजारों लाखों रुपय दे देते है।

वीडियो : इनका कहना है – किरण पंवार ( महिला ने खाया जहर )

 इसी तरह से समूह लोन बंधन बैंक द्वारा आजाद पुरा नागदा मे रहने वाली किरण पति राजकुमार पवार 32 वर्षीय महिला को दिया गया। जिसकी किस्त महिला नही भर पा रही थी। बंधन बैंक के द्वारा जो समूह लोन दिया जाता है के वसूली करने वाले अधिकारी देर रात तक महिला के घर पर रहते है ओर किस्त के लिए दबाव बनाते है यह बात पीड़िता महिला ने ANI News india से बात करने के दौरान बताई। अधिकारी परेशान करते है और गलत तरीके से बातें करते है।

मजबूर महिला ने जहरील पदार्थ खा कर अपनी जान देने की कोशिश की। इस लोन की आड़ में यह अधिकारी महिलाओं का अवैध रूप से शोषण भी करते है ऐसी भी जानकारी मिली है। महिला किरण पवार ने भी बंधन बैंक के अधिकारियों पर सीधे आरोप लगाते हुवे कहा की ये अधिकारी आधी आधी रात को घर आकर या उनके ऑफिस में देर रात्रि तक बिठाकर रखते थे और किस्त के पैसो  के नाम पर परेशान कर रखा था। इस लिए मैने जहर खाया ।

वीडियो : इनका कहना है – करण सिंह चौहान (एस आई ) बिरला ग्राम थाना

बेटी ने यह सब देखा तो अपनी मां की जान बचाने के लिए जनसेवा हॉस्पिटल ऑटो में लेकर आई और अभी महिला का आईसीयू में इलाज चल रहा है।

जब बंधन बैंक प्रबंधक से इस विषय के बारे मे जानकारी लेनी चाही तो उन्होने समूह लोन को लेकर जो घटना हुई ओर जिसकी वजह से यह पूरी घटना हुई उसे बुला कर बंधन बैंक के मेनेजर ने बात की ओर उसके बाद मिडिया से इस खबर को नही लगाने के लिए मिडिया के सवाददाता को कहा ओर यह भी कहा की आप बैंक टाईम मे बाद मिलो क्यो की मेरे बहुत से मिडिया वाले मित्र है।

वीडियो : इनका कहना है – पीड़िता का पति और बेटी का बयान 

वही इस घटना की जानकारी जब बिरला ग्राम थाने के इन्चार्ज से पुछा तो उन्होने कहा की यह घटना शाम के लगभग 4.30बजे की है जो की यह घटना लगभग 1.30 बजे की है जब की थाने के ही हेड ने जनसेवा हॉस्पिटल जा कर पीड़िता महिला के बयांन लगभग 3 बजे ले कर बिरला ग्राम थाने मे दिया था।यदि थाना प्रभारी को घटना के बारे मे जानकारी ही नही रहती है तो प्रभारी इस तरह थाना चला रहे है यह तो वही जानते है  या उनका भगवान ।

कोई जवाब दें