प्रभात चौराहे से नेताजी सुभाष की प्रतिमा शिफ्टिंग पर मंत्री विश्वास सारंग व विधायक पीसी शर्मा हुए आमने-सामने

0
193
Spread the love

TOC NEWS @ www.tocnews.org

खबरों और जिले, तहसील की एजेंसी के लिये सम्पर्क करें : 9893221036

राजधानी भोपाल में प्रभात चौराहे पर लगी नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा को दूसरे स्थान पर शिफ्ट किए जाने को लेकर मंगलवार शाम को शिक्षा चिकित्सा मंत्री विश्वास सारंग और पूर्व मंत्री व विधायक पीसी शर्मा आमने-सामने आ गए। दोनों के बीच इस मुद्दे को लेकर बहस हुई। इस बीच दोनों नेताओं के समर्थकों ने एक-दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की। मामला इतना गरमा गया कि मंत्री सारंग प्रतिमा शिफ्ट कराने के बाद ही मौके से निकले।

बीते सोमवार को मंत्री सारंग ने नेताजी सुभाषचंद्र बोस थीम पार्क स्थल के निरीक्षण के दौरान नवनिर्मित सुभाष नगर रेलवे ओवर ब्रिज (आरओबी) के यातायात निकासी में बाधा बनी प्रभात चौराहे रोटरी हटाने का निर्देश दिया था। लिहाजा रोटरी के अंदर लगी नेताजी सुभाषचंद्र बोस की लगी प्रतिमा हटाने का काम मंगलवार दोपहर तीन बजे से शुरू किया गया। शाम करीब साढ़े पांच बजे विधायक पीसी शर्मा मौके पर पहुंच गए। शर्मा के साथ कांग्रेस नेता महेंद्र सिंह चौहान भी मौजूद थे। पीसी शर्मा ने प्रतिमा शिफ्टिंग करने का विरोध किया। मौके पर भाजपा नेता व कार्यकर्ता भी मौजूद थे। देखते ही देखते मामला तूल पकड़ गया और दोनों ही राजनीतिक दलों के कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी शुरू कर दी।

जब सीनियर से बात कर रहे, तो आप चुप रहें

मंत्री सारंग से पीसी शर्मा ने कहा कि यहां से प्रतिमा शिफ्टिंग नहीं की जानी चाहिए। रोटरी को हटाने से दिक्कत नहीं है। इस पर मंत्री सारंग ने कहा कि चौराहे को खूबसूरत बनाने के लिए शिफ्टिंग जरूरी है। विवाद के बीच मंत्री सारंग ने विधायक पीसी शर्मा से कहा कि आपने स्वतंत्रता सेनानी चंद्रशेखर आजाद की मूर्ति हटाकर स्वर्गीय अर्जुन सिंह की प्रतिमा लगाने की कोशिश की। हम मूर्ति पूरे सम्मान के साथ शिफ्ट कर रहे हैं। अब ऐसा नहीं चलेगा। विकास कार्य में राजनीति सही नहीं है। इसी बीच कांग्रेस नेता महेंद्र सिंह चौहान ने तेज आवाज में शिफ्टिंग का जैसे ही विरोध शुरू किया तो मंत्री सारंग ने भी तेज आवाज में कहा कि जब सीनियर से बात कर रहे हैं तो आप चुप रहें। मौके पर मौजूद प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सचिव मनोज शुक्ला ने इसका विरोध किया। साथ ही मंत्री सारंग से कहा कि मंत्री बन गए तो क्‍या बोलने भी नहीं देंगे। इसके बाद नारेबाजी शुरू हो गई।

इसलिए हटाई जा रही रोटरी व प्रतिमा

नवनिर्मित सुभाष नगर आरओबी से यातायात में प्रभात चौराहा की रोटरी बाधा बनी हुई है। बिना रोटरी हटाए ब्रिज से यातायात शुरू होने पर जहां जाम की स्थिति बनेगी। सात ही शहर का नया एक्सीडेंटल जोन भी बन जाएगा। प्रतिमा को शिफ्ट कर रंगरोगन का काम, चौराहे का सौंदर्यीकरण, ट्रैफिक सिग्‍नल व सीसीटीवी लगाए जाने हैं। ये काम प्रतिमा शिफ्टिंग के बाद प्रस्तावित हैं।

क्‍या कहा नेताओं ने

शहर में कई स्थानों पर बिना प्रतिमा हटाए रोटरी संबंधित कार्य किए गए हैं। फिर यहां क्यों प्रतिमा हटाई जा रही? बिना हटाए काम किया जा सकता है। -पीसी शर्मा, पूर्व मंत्री व विधायक।

विकास कार्यों में राजनीति नहीं करनी चाहिए। कांग्रेस शासनकाल में ही सुभाष नगर आरओबी का निर्माण कार्य रोका गया था। चौराहे को व्यवस्थित करने के. लिए यह जरूरी है।

 

कोई जवाब दें