पलक ने बनवाया भय्यूजी महाराज संग अश्लील वीडियो, ब्लैकमेलिंग से तंग होकर की थी महाराज ने खुदकुशी

0
179
Spread the love

मध्यप्रेदश के इंदौर शहर में बहुचर्चित भय्यू महाराज खुदकुशी मामले में सोमवार को पुलिस ने कोर्ट में चालान पेश कर दिया है। इसमें बताया गया है कि भय्यू महाराज ने सेवादार विनायक दुधाले, शरद देशमुख और पलक पुराणिक की ब्लैकमेलिंग से तंग आकर खुदकुशी की। इन तीनों पर आत्महत्या के लिए उकसाने, जबरन वसूली और संपत्ति हथियाने के लिए साजिश रचने का आरोप है।

आजाद नगर सीएसपी सुरेंद्र सिंह तोमर ने कोर्ट में 366 पन्ने का चालान पेश किया। सूत्रों के मुताबिक पुलिस ने इस केस की तफ्तीश के दौरान करीब 125 लोगों से पूछताछ की, 28 लोगों के बयान दर्ज किए। 12 चश्मदीदों के दो से ज्यादा बार बयान के परीक्षण कराए गए।

पुलिस ने भय्यू महाराज की नजदीकी बन चुकी पलक के बीच मोबाइल में हुई चैटिंग और सेवादार विनायक, शरद और पलक के बीच चैटिंग की जांच के बाद पाया कि ये तीनों महाराज की संपत्ति हथियाने के लिए दो साल से उनके आस-पास रहते हुए एक बड़ी साजिश रच रहे थे।

पलक, विनायक व शरद महाराज को डिप्रेशन की बीमारी होने पर डाॅक्टरों की दवाओं के बदले हाईडोज दवाएं देते थे। फिर उनसे अश्लील चैटिंग कर तीनों ने षड्यंत्रपूर्वक महाराज को अपने जाल में फंसा लिया था। इसी के तनाव में वह और डिप्रेशन में चले गए।

दवा के नशे में लिखवाया था सुसाइड नाेट : पुलिस ने चालान रिपोर्ट में यह भी उल्लेख किया है कि जो सुसाइड नोट महाराज ने सेवादार विनायक के नाम लिखा था। वह भी डिप्रेशन की दवा के नशे में सेवादारों ने षड्यंत्र के तहत आत्महत्या के पहले लिखवाया था। पलक दो साल से ज्यादा वक्त से उनके संपर्क में थी। वह महाराज से शादी करना चाहती थी, लेकिन महाराज की डॉ. आयुषी से शादी हो गई। शादी वाले दिन भी पलक ने हंगामा किया था और 16 जून तक उन्हें शादी करने का वक्त दिया था। इसके वीडियो में भी विनायक, शरद उसके साथ नजर आ रहे हैं। महाराज के परिवार के लोगों ने उसे समझाया, लेकिन वे अड़े हुए थे।

विनायक-पलक वसूलते थे डेढ़ लाख रु. महीना : यही नहीं, दूसरी शादी के बाद भी इनकी प्रताड़ना जारी रही। विनायक और पलक शादी के बाद महाराज से डेढ़ लाख रुपए महीना वसूलते थे। तीनों महाराज से एक करोड़ से ज्यादा की राशि हड़प चुके थे। तीनों ने पूरे आश्रम की संपत्ति को हथियाने के लिए महाराज की तिजाेरी व दान में आने वाली सामग्री का लेखा-जोखा भी कब्जे में कर रखा था। बता दें कि भय्यू महाराज ने 12 जून 2018 को सिल्वर स्प्रिंग स्थित घर में बेटी कुहू के कमरे में जाकर अपनी लाइसेंसी रिवाॅल्वर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी।

कोई जवाब दें