पथरी का ऑपरेशन बोलकर डॉक्टर ने किडनी निकल ली, परिजन की शिकायत से मची हड़कंप

0
1060
Spread the love

 

TOC NEWS @ www.tocnews.org

जिला ब्यूरो चीफ रायगढ़  // उत्सव वैश्य : 9827482822 

रायगढ़, छत्तीसगढ़ के रायगढ़ जिले  के खरसिया तहसील में एक महिला के परिजनों ने आरोप लगाया है कि  वनांचल अस्पताल के डॉक्टरों ने पथरी का ईलाज करने के दौरान चिकित्सकों ने उसकी किडनी निकाली ली। जिला प्रशासन ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

अधिकारियों ने बताया कि महिला के परिजनों ने इस मामले में चिकित्सकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की मांग को लेकर एसडीएम और एसडीओपी से शिकायत की है। उन्होंने बताया कि शिकायत के बाद रायगढ़ के जिलाधकारी यशवंत कुमार ने आज खरसिया के एसडीएम गिरीश रामटेके के नेतृत्व में तीन वरिष्ठ चिकित्सक समेत पांच सदस्यीय प्रशासनिक जांच समिति गठित की है। इस समिति की जांच रिपोर्ट दिनों के भीतर अनिवार्य रुप से प्रस्तुत करने के लिए कहा गया है।

बताया  जा रहा है कि जांजगीर चांपा जिले के मरकाम गोड़ी गांव निवासी सुमित्रा पटेल ( 62 वर्ष ) के परिजनों ने शिकायत की है कि उनका पथरी का आपरेशन 30 मई को खरसिया के निजी अस्पताल “वनांचल केयर” में हुआ था। इस दौरान चिकित्सकों ने महिला की बाएं किडनी निकाल ली। महिला के परिजनों ने बताया कि ऑपरेशन के पहले महिला के बड़े बेटे से डॉक्टरों ने कोरे कागज पर हस्ताक्षर करवा लिया था जो कि गैरकानूनी है, किसी भी इन्सान से कोरे कागज पर हस्ताक्षर लेना गैरकानूनी है,

परिजनों की शिकायत है कि चिकित्सकों ने आपरेशन के बाद पथरी तो दिखाई लेकिन किडनी नहीं दिखाई। और न ही किडनी निकाले जाने के बारे में बताया। उन्होंने बताया कि पीड़ित महिला के पुत्र एश्वर्य प्रसाद पटेल ने शिकायत कर चिकित्सक वी.एस.राठिया, आर.के.सिंह और सजन अग्रवाल के खिलाफ मामला दर्ज करने की मांग की है।

इधर चिकित्सकों का कहना है कि इंफेक्शन होने के कारण महिला की जान बचाने के उद्देश्य से परिजनों की सहमति से उसकी किडनी निकाली गई है।

कोई जवाब दें